दीवाना गांव में सड़कों पर गंदा पानी भरने से बीमारियां फैलने का डर

सीवर ब्लाक हैं। इसकी सफाई कराने के लिए कोई तैयार नहीं है। सीएम से लेकर पीएम तक उन्होंने ट्वीट किया है। दो दिन पहले कुछ अधिकारी आए थे लेकिन समाधान नहीं करके गए।

JagranFri, 23 Apr 2021 07:44 AM (IST)
दीवाना गांव में सड़कों पर गंदा पानी भरने से बीमारियां फैलने का डर

जागरण संवाददाता, पानीपत : दीवाना गांव की मुख्य सड़क किसी तालाब से कम नहीं है। यहां के लोगों का कहना है कि कोरोना महामारी से तो किसी तरह बच जाएंगे, लेकिन गांव में जो हालात हैं, उससे कैसे बचेंगे। दूषित पानी सड़क पर भरा है। बीमारियां फैलने का खतरा है। शिकायत के बावजूद समाधान नहीं होता।

यहां रहने वाले रामदास ने बताया कि वैसे तो स्थायी तौर पर यह परेशानी बनी हुई है, लेकिन पिछले छह महीने से पानी यहां से उतर ही नहीं रहा। दरअसल, सीवर ब्लाक हैं। इसकी सफाई कराने के लिए कोई तैयार नहीं है। सीएम से लेकर पीएम तक उन्होंने ट्वीट किया है। दो दिन पहले कुछ अधिकारी आए थे लेकिन समाधान नहीं करके गए। नवीन, मंगल सिंह, गुलाब सिंह, राज सिंह, राम अवतार, रामभजन फौजी ने बताया कि बच्चों और बुजुर्गों को भी इसी पानी से गुजरना पड़ता है। महिलाओं ने यहां से निकलना छोड़ दिया है। कई बाइक सवार यहां पर गिरकर चोटिल हो चुके हैं।

दाह संस्कार खेत में किया

रामदास ने बताया कि कुछ दिन पहले एक मौत हो गई थी। श्मशान घाट में जाने के लिए रास्ता नहीं है। इस वजह से मृतक के स्वजनों ने खेत में ही संस्कार किया। ऐसे विकट हालात के बावजूद कोई उनकी समस्या का समाधान नहीं कर रहा।

एसडीएम से अनाज मंडी का रास्ता खुलवाने की फरियाद

जासं, समालखा : उद्योगपति संदीप गुप्ता, सचिन मित्तल, विजय मित्तल, अश्वनी कुमार, पवन, शिव कुमार, शिवम आदि ने एसडीएम को आवेदन देकर रास्ता खुलवाने की फरियाद की है। उन्होंने कहा कि जीटी रोड पर अंडरपास और विस्तारीकरण का कार्य चल रहा है। सर्विस लेन से ट्रैफिक को डायवर्ट कर दिया गया है। औद्योगिक एरिया के आसपास जीटी रोड पर कट भी नहीं है। पुराना बस अड्डा भी सील है। औद्योगिक क्षेत्र से अनाज मंडी होकर शहर आने का इकलौता रास्ता मार्केट कमेटी गोदाम के पास था। उक्त रास्ते को आढ़तियों के कहने पर मार्केट कमेटी ने बुधवार को बंद करवा दिया है। उन्होंने कहा कि सर्विस लेन पर भारी ट्रैफिक के बीच से गलत साइड से बाइक लेकर बाजार आने जाने में औद्योगिक एरिया में रह रहे मजदूरों और कर्मचारियों को दिक्क्त होती है। हादसे का डर रहता है। एसडीएम ने लोगों को समस्या के समाधान का भरोसा दिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.