नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का पर्दाफाश, सप्लायर खुशनसीब पंचकूला से गिरफ्तार

पानीपत पुलिस 12 आरोपितों की गिरफ्तार कर चुकी है।

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का पर्दाफाश हुआ है। नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन के सप्लायर उत्तराखंड के जिला हरिद्वार के लाठर देवासेक गांव के खुशनसीब को पंचकूला से क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-वन) ने गिरफ्तार किया। पुलिस 12 आरोपितों की गिरफ्तार कर चुकी है।

Anurag ShuklaWed, 05 May 2021 08:42 PM (IST)

पानीपत, जेएनएन। नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन के सप्लायर उत्तराखंड के जिला हरिद्वार के लाठर देवासेक गांव के खुशनसीब को मंगलवार देर रात पंचकूला से क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-वन) ने गिरफ्तार किया। आरोपित खुशनसीब को अदालत में पेश कर सात दिन की रिमांड पर लिया गया है।

सीआइए-वन प्रभारी इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में आरोपित खुशनसीब ने बताया कि उसका भांजे की खुशनसीब ने बताया की उसके भांजे की चंडीगढ में दवा की फर्म है। वह भांजे के साथ मिलकर दवा की सप्लाई का काम करता है। दोनों अक्सर दवा देने के लिए हैदराबादी अस्पताल स्थित मेडिकल स्टोर पर प्रदीप के पास आते थे।

दोनों ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी शुरू कर दी। वे 12 हजार रुपये प्रति इंजेक्शन के हिसाब से प्रदीप को 80 इंजेक्शन बेच चुके थे। सीआइए-वन खुशनसीब के भांजे की तलाश में चंडीगढ़ सहित कई संभावित ठिकानों पर छापामारी कर रही है। भांजा ही मुख्य इंजेक्शन का सप्लायर है। इस मामले में अभी तक 12 आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। कई और आरोपितों की पुलिस को तलाश है।

ऐसी जुड़ती चली गई कड़ियां

27 अप्रैल को सीआइए-वन ने सेक्टर-18 में राजकीय कालेज के पास कार सहित चार युवकों को काबू किया। आरोपितों की पहचान कलंदर चौक के केशव उर्फ कन्नू, जलालपुर के सुनील, गुरुनानकपुरा के सुमित के रुप में हुई। आरोपितों से 19 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद किए गए। आरोपितों ने बताया कि वे इंजेक्शन सेक्टर 13-17 के प्रदीप से खरीद कर लाए थे। प्रदीप ने 100 इंजेक्शन भांजे सुमित,150 सक्षम और 40 इंजेक्शन केशव को बेचे थे। इसी तरह से प्रदीप से इंजेक्शन खरीदने के आरोपित रवींद्रा अस्पताल स्थित सैनी मेडिकल स्टोर संचालक माडल टाउन का मनोज, लाल पैथ लैब का एरिया मैनेजर इमरान, शिवनगर का हिमांशु और उसका जीजा सेक्टर 13-17 का आशीष, सेक्टर 13-17 का गौरव जैन, डा. योगेश व सेक्टर-6 का दिलबाग को काबू किया गया।

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने के आरोपित डाक्टर को जेल भेजा, होल सेलर दो दिन की रिमांड पर

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के आरोपित उत्तर प्रदेश के जिला शामली के हसनपुर डा. योगेश को क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-थ्री) पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। वहीं आरोपित दवा के होलसेलर सेक्टर छह के दिलबाग को अदालत में पेश कर दो दिन की रिमांड पर लिया गया है।

सप्लायर का नाम खुशनसीब, औरों की नसीब को कर रहा था खराब

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई करने के आरोपित का नाम है खुशनसीब। वह रुपयों की खनक के सामने अपने इमान बेच चुका था। नकली इंजेक्शन से बीमारों के नसीब को खराब कर रहा था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.