पानीपत में दिव्यांग किशोर से कुकर्म के आरोपित बुजुर्ग ने की आत्‍महत्‍या, बदनामी होने पर दी जान

पानीपत में मानसिक दिव्‍यांग से कुकर्म के आरोपित बुजुर्ग ने आत्‍महत्‍या कर ली। मृतक के स्वजनों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने मामला रफादफा करने की एवज में दो लाख रुपये मांगे प्रताडऩा से आहत जहर खाकर जान दे दी।

Anurag ShuklaThu, 25 Nov 2021 10:54 AM (IST)
पानीपत में बुजुर्ग ने आत्‍महत्‍या कर ली।

पानीपत, जागरण संवाददाता। पानीपत के थाना चांदनी क्षेत्र के एक गांव में 70 वर्षीय बुजुर्ग पर 12 साल के किशोर के साथ कुकर्म करने का आरोप लगा तो पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। आरोपित से पूछताछ की। आरोपित ने घर लौटकर जहर खा लिया। बुजुर्ग की पीजीआइ रोहतक में मौत हो गई। स्वजनों ने आरोप लगाया कि झूठे केस में फंसाया गया। पुलिस ने मामला रफादफा करने के लिए दो लाख रुपये मांगे। पुलिस की प्रताडऩा से जहर खाकर जान दे दी। पुलिस का कहना है कि आरोप बेबुनियाद हैं।

मृतक के बेटे ने बताया कि उनके परिवार मेें 70 वर्षीय पिता के अलावा वह, उसका भाई व दो बहनें विवाहित हैं। उनके पड़ोस में 12 वर्ष का किशोर रहता है, जो जन्म से ही मानसिक दिव्यांग है। बच्चे के स्वजनों ने सोमवार को पिता पर कुकर्म करने का आरोप लगाया था। बच्चे के स्वजनों ने थाना चांदनीबाग में शिकायत दी थी। सोमवार दोपहर को दो पुलिसकर्मी पिता को घर से उठाकर थाने ले गए। टार्चर कर जुर्म कुबूलवाने का प्रयास किया। मामला रफादफा करने की एवज में दो लाख रुपये मांगे।

उन्होंने बताया कि पहले पुलिस ने स्वजनों को उनसे मिलने नहीं दिया। बाद में सरपंच को साथ लेकर थाने पहुंचकर तबियत खराब होने व उम्र का हवाला देकर पिता को घर ले आए। घर आने पर पिता ने किसी के साथ बातचीत नहीं की। मंगलवार करीब 12 बजे को कमरे में जाकर जहर खा लिया। मुंह से झाग निकल रहे थे। वह तुरंत उन्हें लेकर सामान्य अस्पताल पहुंचे, जहां पर मौत हो गई।

मेडिकल नहीं कराया, बदनामी होने पर जान दे दी

मृतक की बेटी ने आरोप लगाया कि उनके पिता को झूठे केस में फंसाया गया। पुलिस ने पिता का मेडिकल नहीं कराया। पिता बार-बार हाथ जोड़कर कहते रहे कि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है। बदनामी सहन नहीं कर पाऊंगा। पिता का वीडियो भी बना रखी है। पिता ने जान दे दी। आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

पुलिस पर लगाए आरोप गलत

थाना चांदनी बाग प्रभारी मंजीत ने बताया कि शिकायत मिली कि सोमवार को 12 वर्षीय किशोर गली में खेल रहा था। इसके बाद से किशोर लापता था। पिता ढूंढते हुए पहुंचे तो किशोर, आरोपित बुजुर्ग के गेट से निकला। कपड़े सने हुए थे। आरोपित अंदर कमरे में मिला। केस दर्ज करके किशोर का मेडिकल कराया गया है। आरोपित को न प्रताडि़त किया है और न ही पुलिसकर्मियों ने रुपये मांगे हैं। आरोप बेबुनियाद हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.