Double Murder in Kaithal: पुलिसकर्मियों के हाथों में लाठियां देख भड़के लोग, बोले- हत्यारे नहीं पकड़े तो करेंगे प्रदर्शन

कैथल में दोहरे हत्याकांड से आसपास के लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है। पुलिस की अलग-अलग टीमें घटनास्थल पर जांच में जुटी हुई थी। वहीं लोगों ने पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। इस दौरान आरोपितों को नहीं पकड़ा गया तो शहर में प्रदर्शन किया जाएगा।

Naveen DalalFri, 24 Sep 2021 07:00 PM (IST)
कैथल दोहरे हत्याकांड का मामले में पुलिस और क्षेत्रवासी आमने सामने।

कैथल, जागरण संवाददाता। कैथल के माडल टाउन में घर में घुसकर दिनदहाड़े किए गए दोहरे हत्याकांड से आसपास के लोगों में दहशत का माहौल बना रहा। जैसे-जैसे लोगों को सूचना मिलती गई, घटनास्थल पर भीड़ जमा होने लगी। अनाज मंडी के आढ़ती भी पहुंच गए थे। पुलिस की अलग-अलग टीमें घटनास्थल पर जांच में जुटी हुई थी। दोहरे हत्याकांड के कारण लोगों में गहरा रोष था। लोगों ने पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। अगर इस दौरान आरोपितों को नहीं पकड़ा गया तो शहर में प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद ही अनाज मंडी में भी हड़ताल कर दी जाएगी। लोगों की भीड़ ज्यादा होने लगी तो मौके पर पुलिस बल को बुला लिया गया था, लेकिन लोगों ने वहां पुलिस का विरोध करना शुरू कर दिया। उनका कहना था कि घर में घुस कर हत्या की गई है और पुलिस उन्हें डराने के लिए लाठियां लेकर आ गई है। मामला बढ़ने लगा तो पुलिस की टीम को घटनास्थल से पीछे हटा दिया गया।

सीसीटीवी कैमरों की हो रही जांच

जिस घर में वारदात हुई है उसके आसपास के घरों में कोई सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ नहीं मिला। वहां से करीब 20 घर छोड़ कर एक कैमरा लगा था, जिसका रिकार्ड पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। घर के सामने वाली गली में भी एक कैमरे का डीवीआर पुलिस ने कब्जे में लिया है। मृतक सत्यवान और कैलाशो देवी का फोन पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। शुक्रवार को किन लोगों ने दोनों को फोन किया था, उनसे पूछताछ की जाएगी। मौके पर पुलिस ने पड़ोस के लोगों से जानकारी लेनी चाही, लेकिन कोई पुख्ता जानकारी पुलिस को नहीं मिल पाई। बता दें कि सत्यवान का बेटा पुनीत पांच सालों से घर से बाहर रहता था। वह अपने घर माता-पिता को मिलने घर आता रहता था। उनकी दो बेटियां हैं। एक की शादी पूंडरी और दूसरी की दिल्ली की हुई है।

कानून व्यवस्था फेल

घटना स्थल पर पहुंचे आढ़ती श्याम लाल, अश्वनी शोरेवाला, वीरभान जैन, रामनिवास मित्तल ने बताया कि शहर में कानून व्यवस्था फेल हो चुकी है। कोई आढ़ती या आम आदमी अपने घर में भी सुरक्षित नहीं है। सत्यवान करीब 25 सालों से आढ़त का काम कर रहा था। वह बहुत ही मिलनसार व्यक्ति था। पुलिस से मांग है कि जितना जल्दी हो सके आरोपित को पकड़ लिया जाए। अगर ऐसे घटनाएं होती रही तो उनका घरों में रहना भी मुश्किल हो जाएगा।

यह हत्याएं भी अनसुलझी

18 मई 2015 को गोली मारकर आढ़ती मुनीष मित्तल की हत्या कर दी गई थी। आज तक भी पुलिस हत्यारों को पकड़ नहीं पाई है।

जिले के गांव करोड़ा में 23 जनवरी 2017 की रात को विकास की गांव में हत्या कर दी थी।

अक्टूबर 2019 में गांव तितरम के पास ईंट भट्ठे पर काम करने वाले मजदूर की तीन साल की बच्ची के हाथ-पांव काट दिए गए थे।

गांव क्योड़क में हांसी बुटाना नहर किनारे पांच मार्च 2021 की सुबह वारदात को अंजाम दिया गया था।

15 सितंबर 2021 को गांव डुलियाणी के पिकअप चालक सुरेश कुमार को गोली मार दी, जिसकी पीजीआइ में मौत हाे गई।

सात साल में बढ़ा अपराध-सुरजेवाला

दोहरे हत्याकांड पर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कैथल में पिछले सात सालों में अपराध बढ़ गया है। दिनदहाड़े घरों में घुस कर हत्याएं की जा रही हैं। आज भी कई ऐसे मामले हैं, जिनमें पुलिस के हाथ खाली हैं। भाजपा सरकार में कानून व्यवस्था बदहाल हो चुकी है। अगर पुलिस ने 24 घंटे में आरोपितों को नहीं पकड़ा तो जिला सचिवालय में प्रदर्शन किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.