राजनीतिक गलियारों में चर्चा, मंत्री पद गया, विज और कटारिया की गजब है केमिस्ट्री

अंबाला के राजनीतिक गलियारों में दो राजनेताओं की केमेस्‍ट्री चर्चा में है। भले ही दोनों एक दूसरे पर कटाक्ष करने से पीछे नहीं रहते हैं लेकिन इन दिनों दोनों चर्चा में छाए हैं। राजनीतिक हलचल के लिए पढ़े कालम शहर दरबार।

Anurag ShuklaMon, 22 Nov 2021 05:38 PM (IST)
शादी समारोह में गले मिलते सांसद एवं पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया व प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज।

अंबाला, [दीपक बहल]। कभी अनिल विज और रतनलाल कटारिया के बीच जुबानी जग जाहिर रही, लेकिन इन दिनों दोनों में खूब पट रही है। मौका कहीं का भी हो, कैमरे के सामने तो एक दूसरे से गले मिल रहे हैं। एक समय था जब कटारिया कहा करते थे क्या मेरी प्रेस कांफ्रेस विज का नाम लिए बिना नहीं होगी। लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया, जब विज ने कटारिया का लोकसभा चुनाव में साथ दिया और सांसद चुने गए। केंद्रीय राज्य मंत्री पद मिला तो इसका क्रेडिट भी कटारिया ने विज को ही दिया। खैर लंबे समय तक मंत्री पद संभाला और जुलाई में ऐसा समय भी आया कि कटारिया से मंत्री पद छिन गया। लेकिन गत दिवस भाजपा नेता के परिवार में एक शादी समारोह में विज और कटारिया शामिल हुए और आमने सामने भी आए। तब सभी लोग यह देखकर चौक गए कि दोनों दिग्गज हंसकर एक दूसरे के गले मिले।

चेक पोस्ट में कुछ और ही हो गया

इन दिनों एक अधिकारी की कोठी चर्चाओं में है, जहां बनी चेक पोस्ट पर कुछ ऐसा हो गया कि बड़े साहब नाराज हो गए। मामले को रफा दफा भी नहीं कर सकते थे और मामले की जांच भी नहीं बिठा सकते थे, क्योंकि मामला खुलकर सामने आ गया था। ऐसे में वो रास्ता निकाला गया, जिससे सांप भी मर गया और लाठी भी नहीं टूटी। जी हां, यह बात रेलवे के एक अधिकारी की हो रही है। कोठी पर सुरक्षा के लिए कर्मी तैनात था, जिसे किसी के साथ ऐसी हालत में देख लिया कि आपत्ति तो उठनी थी। चर्चाएं तो यहां तक की हैं देखने वाले बड़े साहब के चालक ने वीडियो तक बना ली और सुबूत के तौर पर रिटायर्ड आइएएस अधिकारी को दिखा दी। मामला साहब तक पहुंचा तो कर्मचारी को कार्यालय बुलाया और दूसरे मामले में विभागीय सजा के तौर पर दूर अटैच कर दिया।

थानेदार साहब ने अपनों को दे दी चेतावनी

अब साहब बेशक अंबाला से अनजान नहीं हैं और इन दिनों कैंट की कमान संभाल रहे हैं। बदलाव भी देखा और अब अपने थाने के अधीन आने वाली चौकियों पर सख्ती कर दी है। साहब ने इन चौकियों में पत्र लिखा है, जिसमें चेतावनी दी है। इस लेटर में लिखा है कि जुआ, सट्टा, अवैध शराब तस्करी हो रही है। ऐसी सूचनाएं हैं। अब ऐसे मामलों में तुरंत और सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। इस में चेतावनी भी दी है। साहब ने साफ कहा कि ऐसे मामलों में लापरवाही नहीं बरती जाए। इन मामलों में कार्रवाई की जाए। यदि इस में कोई लापरवाही बरती गई, तो चौकी कर्मी कार्रवाई के लिए तैयार रहें। कैंट थाना क्षेत्र के ये नरेश हैं और इन दिनों एक के बाद सट्टेबाजों और शराब तस्करों पर नजर है। इसका परिणाम भी देखने को मिल रहा है, जबकि इन चौकियों पर साहब की पूरी नजर है।

कप्तान साहब भगौड़ों पर सख्त

इन दिनों नए साहब भगौड़ों को लेकर सख्त है। थाना चौकियों के प्रभारियों को इन पर कार्रवाई के निर्देश दे चुके हैं। साहब ने साफ कहा है कि इन पर सख्ती बरती जाए और गिरफ्तार कर जेल भेजे जाएं। अब साहब इसका सभी थानों और चौकियों का रिपोर्ट कार्ड तैयार कर रहे हैं। ऐसे में उन सभी की फाइलें खुलने लगी हैं, जो पुलिस के कागजों में भगौड़े घोषित हैं। इसी को लेकर बीते दिनों ने साहब ने इन अधिकारियों को अपने कार्यालय में बुलाया था, लेकिन किसी कारण से इसे टाल दिया है। अब सोमवार को साहब ने इन सभी को अपनी रिपोर्ट साथ लेकर परेड में आने को कहा है। सभी थाना और चौकियां अपनी रिपोर्ट तैयार करने में जुटे हैं कि उन्होंने कितने भगौड़ों को पकड़ा है। यह रिपोर्ट साहब के सामने रखी जाएगी। अब साहब किसकी रिपोर्ट पर क्या रुख अपनाएंगे यह जल्द पता लगेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.