करनाल बस स्टैंड पहुंचे परिवहन महानिदेशक, रिकार्ड में खामी देख भड़के, टेबल पर हाथ मार बोले-कहां हैं एंट्री

परिवहन विभाग के महानिदेशक अचानक करनाल बस स्टैंड पहुंचे। महानिदेशक सबसे पहले जीएम कार्यालय में पहुंचे। वहां से बस स्टैंड के मुख्य हाल पहुंचे ओर निरीक्षण किया। इसके कुछ देर बाद फिर पहली मंजिल पर जीएम कार्यालय में पहुंचे और अधिकारियों को तलब किया।

Rajesh KumarWed, 24 Nov 2021 09:43 PM (IST)
करनाल के पुराने बस स्टैंड पहुंचे परिवहन महानिदेशक वीरेंद्र कुमार दहिया।

जागरण संवाददाता, करनाल। परिवहन विभाग के महानिदेशक वीरेंद्र कुमार दहिया बुधवार को अचानक बस स्टैंड पहुंच गए। उनके पहुंचते ही बस स्टैंड पर हड़कंप मच गया। जो स्टाफ नदारद था उनको स्टाफ के अन्य कर्मचारियों ने फोन कर इसकी जानकारी दी तो वह कार्यालय पहुंचे। इस दौरान उन्होंने रिकार्ड में खामी देख टेबल पर हाथ मारा और दो टूक पूछा कि इसमें एंट्री कहां है? उनके सख्त तेवर देकर कार्यालय में मौजूद अधिकारी व कर्मचारी सहम गए।

महानिदेशक सबसे पहले जीएम कार्यालय में पहुंचे। वहां से बस स्टैंड के मुख्य हाल पहुंचे ओर निरीक्षण किया। इसके कुछ देर बाद फिर पहली मंजिल पर जीएम कार्यालय में पहुंचे और अधिकारियों को तलब किया। रोडवेज बसों की आवाजाही व उससे संबंधित सारे रिकार्ड का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने पाया कि ड्यूटी इंस्पेक्टर गोपाल कृष्ण रोडवेज चालकों से बिना रेस्ट दिए लगातार ड्यूटी करवा रहे हैं। रिकार्ड देख डीजी भड़क गए और कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने तुरंत प्रभाव से डीआई को चार्जशाीट करने का आदेश दिया। उनके साथ प्लानिंग एंड डवलपमेंट ब्रांच हरियाणा के इंचार्ज सरबजीत सिंह मान भी मौजूद थे।

शर्म आनी चाहिए...एक काम के लिए बुजुर्ग धक्के खा रहा है

परिवहन विभाग के महानिदेशक वीरेंद्र दहिया औचक निरीक्षण के दौरान जीएम कार्यालय से जब वापसी के लिए सीढ़ियां उतर रहे थे तो रास्ते में एक बुजुर्ग रिटायर्ड रोडवेज चालक मिला। उसका हाल देखकर उनका परिचय पूछा। बुजुर्ग ने अपना नाम रामकुमार बताया और रोडवेज से रिटायर्ड बताया। वह मेडिकल बिल को लेकर कार्यालय में आया था। बुजुर्ग ने बताया कि वह मेडिकल बिल लेकर आया था लेकिन कोई रास्ता नहीं मिला। जिस पर महानिदेशक वीरेंद्र दहिया ने कहा कि शर्म आनी चाहिए...। बुजुर्ग आदमी के भी काम के लिए चक्कर लगवाए जा रहे हैं। ऐसा क्यों हो रहा है। उन्होंने मौके पर मौजूद जीएम कुलदीप सिंह को निर्देश दिए कि उनका मेडिकल बिल से संबंधित जो भी कार्य है उसे तुरंत प्रभाव से पूरा किया जाए।

बाजू मरोड़ भ्रष्टाचार नहीं चलेगा

महानिदेशक के निर्देश के बाद प्लानिंग एंड डवलपमेंट ब्रांच हरियाणा के इंचार्ज सरबजीत सिंह मान ने बुजुर्ग की समस्या हल कराने के लिए यह कार्य फालो किया। उन्होंने बुजुर्ग चालक रामकुमार के मेडिकल बिल से संबंधित दस्तावेज मंगाए, लेकिन अधिकारी संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने पूरे रिकार्ड को मौके पर मंगवाया। पूरा रिकार्ड खंगाला तो भी संतुष्ट नहीं हुए। मान ने कहा कि बाजू मरोड़ भ्रष्टाचार नहीं चलेगा। जिसकी फाइल है उससे कुछ आ गया तो फाइल निकाल दी, नहीं तो रोक दी। ऐसा नहीं होना चाहिए। अच्छी तरह जानता हूं। इस प्रकार का मामला सामने आया तो कर्मचारी स्वयं जिम्मेदार होंगे। उन्होंने मेडिकल बिलों की अदायगी में देरी को लेकर कड़ी फटकार लगाई।

शाम तक दोबारा आने की चली चर्चा

पुराने बस स्टैंड का निरीक्षण करने करके करीब आधे घंटे के बाद महानिदेशक वीरेंद्र दहिया चले गए। लेकिन बस स्टैंड पर दिनभर चर्चा चलती रही कि पानीपत व सोनीपत बस स्टैंड का निरीक्षण करने के बाद शाम को नए बस स्टैंड का निरीक्षण करेंगे। शाम करीब साढ़े पांच बजे तक पूरा स्टाफ अलर्ट रहा। पुराने बस स्टैंड के निरीक्षण की आहट का असर नए बस स्टैंड पर भी देखने को मिला। दिनभर वहां पर भी स्टाफ को अलर्ट मोड़ पर रखा गया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.