Eid Al-Adha 2021 : ईद उल-अजहा पर मस्जिद में अदा की गई नमाज, भाईचारे का दिया संदेश

आज ईद उल-अजहा का पर्व है। अंबाला के जामा मस्जिद में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नमाज अदा की। साथ ही लोगों को भाई चारे का संदेश दिया। सभी लोग कोरोना महामारी और लॉकडाउन का पालन करते हुए दिखे।

Anurag ShuklaWed, 21 Jul 2021 10:48 AM (IST)
ईद उल-अजहा के मौके पर नमाज अदा करने पहुंचे लोग।

अंबाला, जागरण संवाददाता। ईद उल-अजहा पर लोगों को भाईचारे का संदेश दिया। ईद के इस पवित्र मौके पर हम सब को मिलजुल कर हर किस्म की नफरत की दीवार गिराकर प्रेम -प्यार व भाईचारे के साथ रहना चाहिए।

ईद-उल-अज़हा के मुबारक व पवित्र अवसर पर इनेलो प्रदेश प्रवक्ता ओंकार सिंह छावनी की जामा मस्जिद पहुंचे। ईद की नमाज के बाद उन्होंने अपने, इनेलो पार्टी व चौधरी ओम प्रकाश चौटाला की तरफ से देश व प्रदेश वासियों को ईद की मुबारकबाद दी। इस मौके पर कहा कि हमे प्रत्येक धर्म का आदर व मान-सम्मान करे। जिससे आपसी प्यार, मोहब्बत व भाईचारे में इजाफा हो। अनेकता में एकता के प्रतीक भारत की यही खासियत है कि यहां विभिन्न धर्मों-सम्प्रदायों के होते हुए भी हम सब एकता के सूत्र में बंधे हुए हैं।

कैथल में भी कोरोना महामारी की हिदायतों का पालन कर की नमाज अदा

कैथल में बुधवार को ईद का पर्व धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान मुस्लिम समाज के लोगों ने मस्जिदों में पहुंचकर नमाज अदा की, लेकिन इबादत करते समय कोरोना महामारी को लेकर जारी हिदायतों का पालन किया गया। इस दौरान दो गज की दूरी का पालन किया और मास्क लगाया। मस्जिदों में 50-50 लोगों को ही नमाज अदा करने की अनुमति दी गई थी। बता दें कि जिले में विभिन्न स्थानों पर स्थापित मस्जिदों में केवल केवल 50 लोगों को ही नमाज अदा करने की अनुमति दी गई थी। जिन्होंने नमाज अदा कर देश व विश्व की सुख शांति की कामना की।

सिरटा रोड स्थित मदनी मदरसा व ईदगाह के संचालक मौलाना सईदर उर रहमान ने कहा कि विश्व में पिछले वर्ष आई कोरोना महामारी ने धार्मिक आयोजनों पर रोक लगाई है। देश में अप्रैल-मई में आई कोरोना की दूसरी लहर खत्म हुई है। उसके बावजूद उन्होंने मुस्लिम समाज से ईदगाह में कम संख्या में पहु़ंच नमाज अदा करने की गुजारिश की थी।

कैथल में मुस्लिम समाज के सभी लोगों ने ईदगाहों के मौलाना द्वारा कोरोना महामारी को लेकर जारी हिदायतों का पालन करने का भी आह्वान किया गया। जिसके बाद सभी ने मौलाना की मानी और सीमित संख्या में पहुंचकर नमाज अदा की। मौलाना ने कहा कि ईद के पावन अवसर पर अल्लाह से यही दुआ की गई है कि वह पूरे विश्व को कोरोना महामारी से जल्द ही निजात दिलाए। ताकि सबकुछ पहले की तरह ही ठीक हो जाए। जिले में सिरटा रोड, सीवन गेट, पूंडरी, सीवन और कबूतर चौक स्थित ईदगाह में सुबह के समय नमाज अदा की गई।

कुरुक्षेत्र में ईद उल अजहा पर नमाज अता की

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : ईद उल अजहा पर धर्मनगरी में समुदाय के लोगों ने नमाज अता कर अमन और कोरोना जैसी बीमारी के खात्मे की कामना की। मस्जिदों में कोविड-19 को ध्यान में रखकर शारीरिक दूरी की पालना की गई।

कुरुक्षेत्र स्थित चीनी जामा मस्जिद और पिपली की जामा मस्जिद में मुख्य रूप से नमाज अता की गई। पिपली जामा मस्जिद के इमाम गयूर खान ने बताया कि ईद उल अजहा का अलग महत्व है। समुदाय के लोगों का सुबह ही मस्जिद में पहुंचना शुरू हो गया। कोविड-19 की पालना करते हुए ग्रुप बनाकर नमाज अता कराई गई। इस दौरान भीड़ भी नहीं लगी और लोगों ने नमाज भी अता की। इसके अलावा शाहाबाद, बाबैन, खरींडवा, फतोपुर, अमीन, पिहोवा, इस्माईलाबाद व लाडवा की मस्जिद में भी नमाज अता की गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.