चिराग तले अंधेरा : हेल्थ-फ्रंटलाइन के शत-प्रतिशत वर्कर्स को नहीं लगा टीका

चिराग तले अंधेरा...हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीनेशन विषय में इस कहावत को चरितार्थ कर दिया है। इनका काम कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए आमजन को जागरूक व प्रेरित करना था। हैरत खुद फिसड्डी रह गए हैं। उच्चाधिकारियों ने संज्ञान लिया तो स्वास्थ्य विभाग ने संबंधित विभागों को नोटिस भेजा है।

JagranThu, 29 Jul 2021 08:03 AM (IST)
चिराग तले अंधेरा : हेल्थ-फ्रंटलाइन के शत-प्रतिशत वर्कर्स को नहीं लगा टीका

जागरण संवाददाता, पानीपत : चिराग तले अंधेरा...हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीनेशन विषय में इस कहावत को चरितार्थ कर दिया है। इनका काम कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए आमजन को जागरूक व प्रेरित करना था। हैरत, खुद फिसड्डी रह गए हैं। उच्चाधिकारियों ने संज्ञान लिया तो स्वास्थ्य विभाग ने संबंधित विभागों को नोटिस भेजा है।

हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण 15 फरवरी 2021 तक पूरा होना था। जिला में 9971 हेल्थ वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीनेशन के लिए सूची में नाम शामिल कराया था। इनमें सरकारी-निजी अस्पतालों के चिकित्सक, नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टाफ, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, आशा-आंगनबाड़ी वर्कस शामिल हैं। इनमें से 7765 (77.88 फीसद) ने ही पहली डोज लगवाई है। दूसरी डोज तो मात्र 5140 (66.19 फीसद) ही लगवा सके हैं, जबकि दोनों डोज के बीच दिनों का अंतर कब का पूरा हो चुका है।

फ्रंटलाइन वर्कर्स 10 हजार 735 हैं। इनमें राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, पुलिसकर्मी, होमगा‌र्ड्स, नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी और केंद्रीय मंत्रालय के फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं। इनमें से 8959 (83.45 फीसद) ने ही पहली डोज लगवाई है। दूसरी डोज 4640 (51.79 फीसद) ही लगवा सके हैं। कोरोना की तीसरी लहर का डर सभी को सता रहा है। जिला प्रशासन-स्वास्थ्य विभाग चाहता है कि टीकाकरण में तेजी आए। ऐसे में हेल्थ-फ्रंटलाइन वर्कर्स की टीकाकरण के प्रति उदासीनता स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के लिए परेशानी का सबब बनी है। इनका टीकाकरण इसलिए जरूरी

कोरोना के संदर्भ में देखें तो हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स सबसे हाई रिस्क श्रेणी में आते हैं। इनका संपर्क हर तरह के रोगियों से बना रहता है। इसलिए केंद्र सरकार ने इनके टीकाकरण की शुरुआत कराई थी। दोबारा मौका देते हुए 15 फरवरी-2021 तक इन्हें टीका लगना था। पुन: लगवाने लगे टीका

वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा. मनीष पासी ने बताया कि संबंधित विभागों को नोटिस भेजा गया है, ताकि उन विभागों के अधिकारी अपने कर्मचारियों को टीका के लिए केंद्रों में भेजें। हेल्थ-फ्रंटलाइन वर्कर्स टीका लगवाने आने लगे हैं। 4390 को लगी कोरोना रोधी डोज

डा. पासी ने बताया कि बुधवार को 4390 ने कोरोना रोधी टीका लगवाया है। 18 से 44 साल आयु वर्ग में 2391 को पहली, 806 को दूसरी डोज लगी। 45 साल या इससे अधिक आयु वर्ग में 374 ने पहली और 819 ने दूसरी डोज लगवाई। अब तक 3.8 लाख 371 को पहली, 76 हजार 102 को दोनों डोज लग चुकी हैं। कृपाल आश्रम 600 लाभार्थियों को लगा टीका

नूरवाला स्थित कृपाल आश्रम 600 लाभर्थियों ने कोरोना रोधी टीका लगवाया। टीकाकरण का शुभारंभ आश्रम के प्रधान राजा सिंह सतीश सचदेवा ने किया। राकेश मुथरेजा, चमन गुलाटी, गुलशन, साहिल, सुनील अरोड़ा, राजेश ने शिविर में सहयोग दिया। वीरवार को यहां टीकाकरण

-सिविल अस्पताल, पानीपत

-देवी मंदिर परिसर

-आर्यनगर स्थित धर्मशाला

-राधास्वामी सत्संग भवन, सेक्टर-18

-शिव मंदिर, मुखीजा कालोनी

-सब सेंटर, पसीना कलां

-सेक्टर-25, शहरी स्वास्थ्य केंद्र

-अर्बन पीएचसी, बतरा कालोनी

-वार्ड-7, श्रीराम मंदिर

(नोट-लाभार्थी कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन कराएं, स्लाट चुनें, तभी टीकाकरण केंद्र में पहुंचें) कोरोना का एक नया मरीज मिला

सिविल सर्जन डा. जितेंद्र कादियान ने बताया कि बुधवार को माडल टाउन निवासी 40 साल का व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिला है। रिकवर कोई नहीं हुआ है। अभी तक संक्रमित मिले 31 हजार 90 मरीजों में से 30 हजार 443 रिकवर हो चुके हैं। एक्टिव केस सात हैं, अब तक 640 कोरोना संक्रमित की मौत हो चुकी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.