गीता जयंती महोत्सव में शिल्प और सरस मेला भी रहेगा आकर्षण का केंद्र, ये है कार्यक्रम का शेड्यूल

अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ शिल्प और सरस मेला भी आकर्षण का केंद्र रहेगा। कोरोना के बाद हो रहे इस कार्यक्रम के हर लम्हें को यादगार बनाने की तैयारी की जा रही है। कुरुक्षेत्र में 2 से 19 दिसंबर तक अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन होगा।

Rajesh KumarPublish:Fri, 26 Nov 2021 07:28 PM (IST) Updated:Fri, 26 Nov 2021 07:28 PM (IST)
गीता जयंती महोत्सव में शिल्प और सरस मेला भी रहेगा आकर्षण का केंद्र, ये है कार्यक्रम का शेड्यूल
गीता जयंती महोत्सव में शिल्प और सरस मेला भी रहेगा आकर्षण का केंद्र, ये है कार्यक्रम का शेड्यूल

कुरुक्षेत्र, जागरण संवाददाता। कुरुक्षेत्र में कोरोना के बाद होेने वाले अंतरराष्ट्रीय महोत्सव को लेकर हर कोई उत्साह से लवरेज है। इस बार महोत्सव आजादी के अमृत महोत्सव थीम पर होगा। प्रशासन और केडीबी महोत्सव के हर पल को यादगार बनाने की तैयारी हैं। इसमें सांस्कृतिक कार्यक्रम और शिप्प व सरस मेला आकर्षण का मुख्य केंद्र होगा। डीसी मुकुल कुमार ने शुक्रवार को महोत्सव को लेकर कार्यक्रम स्थल ब्रह्मसरोवर का जायजा लिया। इससे पहले एडीसी अखिल पिलानी, केडीबी के सीईओ अनुभव मेहता व एसडीएम नरेंद्र पाल मलिक से पूरे कार्यक्रम को लेकर विस्तार के साथ चर्चा की।

हर लम्हे को बनाया जाएगा यादगार 

डीसी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण गत वर्ष अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के कार्यक्रम सीमित दायरे में रहकर किए थे। इस वर्ष महोत्सव के हर लम्हे को यादगार बनाने के लिए करना है। महोत्सव के अंतर्गत गीता क्वीज आनलाइन चल रहा है। यह आठ दिसंबर तक चलेगा। 28 नवंबर को गीता मैराथन, 2 से 19 दिसंबर तक शिल्प व सरस मेला, सांध्यकालीन आरती, नौ से 14 दिसंबर को गीता पुस्तक मेला, रंगोली, हरियाणा पैवेलियन, आरती स्थल पर भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा।

गीता यज्ञ के साथ मुख्य कार्यक्रम होगा शुरू

डीसी ने कहा कि मुख्य कार्यक्रम नौ दिसंबर को होगा। यह गीता यज्ञ व गीता पूजन के साथ शुरू किया जाएगा। 10 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय गीता सेमिनार, आनलाइन गीता श्लोक उच्चारण, प्रात:कालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम, सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम, 11 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय गीता सेमिनार, ज्योतिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रम, सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम, 12 दिसंबर को ज्योतिसर में गीता पाठ, संत सम्मेलन पुरुषोत्तमपुरा बाग, सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम, 13 दिसंबर को आनलाइन माध्यम से गीता संसद, ज्योतिसर में गीता पाठ, गीता क्विज प्राइज वितरण समारोह श्रीकृष्ण संग्रहालय, सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम।

14 दिसंबर को ज्योतिसर में गीता पाठ, ज्योतिसर व सन्निहित सरोवर पर गीता यज्ञ,  55 हजार विद्यार्थियों का गीता के 18 श्लोकों का आनलाइन माध्यम से सामूहिक उच्चारण, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 48 कोस तीर्थ सम्मेलन का आयोजन, 48 कोस तीर्थों पर दीपोत्सव, गीता शोभा यात्रा, पुरुषोतमपुरा बाग में महाआरती व दीपदान कार्यक्रम, सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। केडीबी के सीईओ अनुभव मेहता ने बताया कि कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुसार सामाजिक दूरियों की पालना करते 350 स्टाल सरस मेले में लगाए जाएंगे।