जींद में मासूम सहित दंपती ने लगाया फंदा, महिला की मौत, फंदे की गांठ खुलने से बची बेटे की जान

जींद के गांव गांगोली की घटना। आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। फिलहाल घरेलू कलह को इस कदम के पीछे का कारण माना जा रहा है। पुलिस ने महिला के मायके पक्ष के लोगों को बुलाया है। पति का पीजीआइ रोहतक में इलाज चल रहा है।

Umesh KdhyaniSun, 20 Jun 2021 03:48 PM (IST)
ग्रामीणों के अनुसार अजीत व संध्या के बीच में घरेलू कलह चल रही थी।

जींद, जेएनएन। गांव गांगोली में रविवार दोपहर बाद घरेलू कलह के चलते दंपती ने मासूम बेटे सहित फांसी का फंदा लगा लिया। इसमें महिला की मौत हो गई। महिला ने जिस फंदे पर बच्चे को लटकाया था, उसकी गांठ खुलने से उसकी जान बच गई। महिला के पति को घटना का पता चला तो उसने भाई के कमरे में जाकर फांसी लगा ली। स्वजनों ने उसे फांसी से उतारकर पीजीआइ रोहतक में दाखिल करवाया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। पिल्लूखेड़ा थाना पुलिस ने पति के खिलाफ प्रताड़ित करके आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया है। आरोपित गांव में ही हेयर ड्रेसर की दुकान चलाता है।

पुलिस के अनुसार गांव गांगोली निवासी 25 वर्षीय अजीत व उसकी पत्नी संध्या के बीच शनिवार रात को झगड़ा हो गया था। संध्या ने इसके बारे में अपनी मां शीला को फोन पर अवगत करवाया था। रविवार दोपहर संध्या अपने जेठ बुधराम व सोमबीर के साथ घर पर फर्श लगाने के लिए ईंटों को तोड़ने में लगी हुई थी। अचानक वहां से उठकर अपने ढाई साल के बेटे लक्की को लेकर कमरे में चली गई और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। काफी देर तक बाहर नहीं आने पर परिवार के लोगों ने संभाला तो कमरे के अंदर से कोई आवाज नहीं आई।

अजीत ने भाई के कमरे में लगा लिया फंदा

स्वजनों ने अजीत को मौके पर बुलाया। उसने दरवाजा खोलकर देखा तो संध्या फांसी के फंदे पर लटकी हुई थी, जबकि फंदे की गांठ खुलने के चलते लक्की फर्श पर गिरा हुआ था। जब परिवार के लोग संध्या को संभाल रहे थे तो मौका पाकर अजीत अपने भाई के कमरे चला गया और उसने फांसी का फंदा लगा लिया। लेकिन स्वजनों ने उसे तुरंत ही संभाल लिया और अस्पताल में लेकर आए।

ससुरालियों ने लगाया मारपीट का आरोप

सोनीपत जिले के गांव कलादा निवासी शीला ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी संध्या व शीतल की लगभग चार साल पहले गांव गांगोली निवासी अजीत व उसके बड़े भाई बुधराम के साथ हुई थी। अजीत शराब पीने का आदी था और उसकी बेटी के साथ अक्सर मारपीट करता था। परिवार के लोगों ने उसको कई बार समझाया भी, लेकिन वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। शनिवार रात को भी अजीत ने उसके साथ मारपीट की थी। इसी प्रताड़ना के चलते उसकी बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। पिल्लूखेड़ा थाना प्रभारी छत्रपाल ने बताया कि घरेलू कलह के चलते दंपति ने फांसी लगाई है। अजीत के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया है।

दुकान पर काम कर रहा था अजीत

स्वजनों ने बताया कि अजीत ने गांव में ही हेयर ड्रेसर की दुकान की हुई थी। अजीत सुबह ही दुकान पर चला गया था। दोपहर को दुकान पर ही काम लगा हुआ था। इसी दौरान बुधराम का फोन आया कि संध्या ने लक्की को साथ लेकर अंदर से दरवाजा बंद कर लिया और आवाज भी नहीं आ रही है। पत्नी द्वारा फांसी लगाने का पता चलते ही अजीत घर पर पहुंचा और उसने भी फांसी लगा ली।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.