बच्चों के सुखद भविष्य, स्वस्थ समाज के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरूरी

सिविल अस्पताल के बैठक रूम में आशा वर्कर्स और स्टाफ नर्स को दिशा-निर्देश देने के लिए बैठक बुलाई गई। इसमें सिविल सर्जन डा. जितेंद्र कादियान ने कहा कि बच्चों के सुखद भविष्यस्वस्थ समाज के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरूरी है।

JagranTue, 13 Jul 2021 07:44 AM (IST)
बच्चों के सुखद भविष्य, स्वस्थ समाज के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरूरी

जागरण संवाददाता, पानीपत : आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी। इसी थीम पर जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जा रहा है। सिविल अस्पताल के बैठक रूम में आशा वर्कर्स और स्टाफ नर्स को दिशा-निर्देश देने के लिए बैठक बुलाई गई। इसमें सिविल सर्जन डा. जितेंद्र कादियान ने कहा कि बच्चों के सुखद भविष्य,स्वस्थ समाज के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरूरी है।

उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर लगभग खत्म हो चुकी है। अब विभाग के दूसरे कार्यक्रमों-अभियान पर ध्यान केंद्रित करना होगा। जनसंख्या नियंत्रण में वर्ष 2020 में भी पिछड़े हैं। वर्ष 2019 में जहां जिले में 28 हजार 696 बच्चों ने जन्म लिया तो 2020 में 30 हजार 17 बच्चे जन्मे। महिलाओं-पुरुषों को हम दो-हमारे दो का संदेश देना है। दो बच्चों के बीच तीन से पांच साल का अंतर बहुत जरूरी है।

नोडल अधिकारी डा. अमित ने कहा कि महिलाओं-पुरुषों को परिवार नियोजन के स्थायी और अस्थायी साधनों की जानकारी दें। नसबंदी कराने पर मिलने वाले भत्ता के विषय में बताएं। कार्यक्रम में 12 स्टाफ नर्स, एएनएम और नौ आशा वर्करों को परिवार नियोजन को बेहतर कार्य के लिए सम्मानित किया गया है। इस मौके पर डिप्टी सिविल सर्जन डा. नवीन सुनेजा, डा. निशि जिदल व डा. सुनील संडूजा भी मौजूद रहे। छाया टेबलेट-अंतरा इंजेक्शन में आगे, नसबंदी में पीछे

परिवार नियोजन का साधन लक्ष्य प्राप्ति फीसद

पुरुष नसबंदी 200 18 09

महिला नसबंदी 2600 1314 50.53

कापर टी 7250 4634 63.91

डिलीवरी के बाद कापर टी 7250 7956 109.73

गर्भ निरोधक गोलियां 27000 35616 131.91

कंडोम पीस 1010000 877551 86.88

छाया टेबलेट 1200 7128 594.00

अंतरा इंजेक्शन 480 2045 426.04 जिले में साल-दर-साल जन्मे बच्चे

वर्ष 2014 29107

वर्ष 2015 29265

वर्ष 2016 30603

वर्ष 2017 28582

वर्ष 2018 28292

वर्ष 2019 28696

वर्ष 2020 31017 जिज्ञासा है तो फोन करें

अंतरा इंजेक्शन, छाया टेबलेट सहित परिवार नियोजन के साधनों को लेकर महिलाओं के मन में कई तरह की आशंकाएं होती हैं, लेकिन शेयर नहीं कर सकतीं। ऐसी महिलाओं की समस्या को ध्यान में रखते हुए एक टोल फ्री नम्बर 1800-1033-044 जारी किया गया है। इस नंबर पर महिलाएं फोन कर समाधान पा सकती हैं। क्षेत्र की आशा वर्कर या एएनएम से भी बात कर सकती हैं। यह है अंतरा और छाया

अंतरा इंजेक्शन बहुत ही प्रभावी गर्भनिरोधक है। यह तीन माह में एक बार लगवाना पड़ता है। छाया टेबलेट सप्ताह में दो बार खानी पड़ती है। अनचाहे गर्भ से बचने के लिए महिलाएं दोनों साधनों को खूब इस्तेमाल कर रही हैं। सरकार से मिलती है प्रोत्साहन राशि

पुरुष के नसबंदी कराने पर सरकारी की ओर से 2000 रुपये और महिला के नसबंदी कराने पर 1400 रुपये प्रोत्साहन राशि मिलती है। यह राशि सीधे पात्र के बैंक खाते में पहुंचती है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.