Jind Murder: ठेकेदार श्यामसुंदर हत्याकांड, चार दिन बाद गिरफ्तार नहीं हुए आरोपित, व्यापारियों ने धरना देकर जताया विरोध

जींद में चार दिन पहले ठेकेदार श्यामसुंदर की हत्या हुई थी। चार दिन बीत जाने के बाद भी आरोपित अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इसके विरोध में व्यापारी संगठनों ने मोर्चा खोल दिया है। व्यापारियों ने इन घटनाओं के विरोध में धरना देने का फैसला किया।

Rajesh KumarFri, 26 Nov 2021 02:46 PM (IST)
जींद में ठेकेदार श्यामसुंदर की हत्या के विरोध में व्यापारियों का धरना।

जींद, जागरण संवाददाता। रोहतक रोड पर चार दिन पहले ढुलाई ठेकेदार श्यामसुंदर बंसल की हत्या व उसके भतीजे हन्नी बंसल पर जानलेवा हमला करने के मामले में व्यापारी विरोध में उतर आए हैं। पिछले एक माह में शहर व्यापारियों के साथ दो बड़ी वारदात हो चुकी हैं। जहां श्यामसुंदर हत्याकांड में सभी आरोपित फरार चल रहे हैं, वहीं दूसरे व्यापारी नितिन गोयल को बंधक बनाकर दस लाख रुपये वसूलने के मामले में मुख्य आरोपित वजीर पोकरीखेड़ी फरार चल रहा है। व्यापारियों के साथ बढ़ रही घटनाओं को देखते हुए शहर के दोनों व्यापार संगठनों ने संयुक्त रूप से शुक्रवार को सांकेतिक धरना देने का निर्णय लिया था।

धरने पर बैठे व्यापारी

टाउन हाल पर शुक्रवार को 11 बजे ही व्यापारी धरने पर बैठ गए। जहां पर व्यापारियों का धरना दोपहर एक बजे तक चलेगा। व्यापार मंडल के जिला प्रधान महाबीर कंप्यूटर ने कहा कि ठेकेदार श्यामसुंदर की हत्या को अंजाम दिनदहाड़े दिया है और हत्या करने के बाद आरोपित बिना किसी डर के निकल गए हैं, लेकिन पुलिस उनको अब तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है। जबकि श्यामसुंदर के परिवार के लोगों ने इस मामले में 12 लोगों के नाम दिए हुए हैं, बावजूद इसके पुलिस उन तक पहुंच नहीं पा रही है। इसके चलते श्यामसुंदर के परिवार में डर का माहौल बना हुआ है। इसके अलावा पिछले एक माह में दो घटनाएं होने के चलते शहर के व्यापारियों में डर बना हुआ है।

बार-बार पुलिस से मिलने के बावजूद सुरक्षा के लिए कोई कदम नहीं उठाए गए हैं। जहां 26 अक्टूबर को पुरानी अनाज मंडी में व्यापारी नितिन गोयल को बंधक बनाकर उससे 25 लाख रुपये की डिमांड की थी और आरोपितों ने 10 लाख रुपसे वसूल लिए थे। उस समय भी व्यापारियों ने जब बंद का ऐलान किया तो पुलिस हरकत में आई और कुछ आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन अभी भी मुख्य आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। 

दिल्ली व राजस्थान में पुलिस ने की छापेमारी 

श्यामसुंदर हत्याकांड के मामले में पुलिस की पांच टीमें लगातार संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। जहां स्थानीय पुलिस आसपास के एरिया के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को देखकर हत्या करने वाले आरोपितों की पहचान करने में लगी हुई है। जब पुलिस ने रोहतक रोड पर लगे कैमरों की जांच की तो सामने आया कि हत्या करने वाले तीन आरोपितों के साथ दो अन्य युवक भी शामिल थे। वारदात के बाद पांचों आरोपित दो मोटरसाइकिलों पर सवार होकर फरार हुए हैं। इसलिए पुलिस  रोहतक रोड के अलावा आरोपित जिस तरफ फरार हुए हैं, उनकी फुटेज को खंगालने में लगे हुए हैं।

छोटे भाई पर भी हुआ था जानलेवा हमला

हत्या के मामले के आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम दिल्ली व राजस्थान के एरिया में छापेमारी कर रही है। पांच साल पहले भी जब श्यामसुंदर के छोटे भाई पुरुषोत्तम पर जानलेवा हमला किया था, उस समय भी आरोपित दिल्ली व राजस्थान से गिरफ्तार किया था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.