Weather Update: शीतलहर ने कोहरे से दिलाई राहत, अब दो दिन में बदलेगा मौसम, बारिश की संभावना

शीतलहर चलने की वजह से कोहरे से राहत मिली।

शीतलहर की वजह से कोहरे से राहत मिली है। हालांकि ठंड से राहत नहीं मिली है। वहीं मौसम विशेषज्ञों की मानें तो आने वाले दाे दिनों में बादल छाए रहेंगे और बारिश की भी संभावना है। इससे तापमान में भी गिरावट होगी।

Anurag ShuklaWed, 20 Jan 2021 02:53 PM (IST)

पानीपत, जेएनएन। पानीपत में बुधवार को शीतलहर चलने की वजह से कोहरे से राहत मिली। वहीं, न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।

बुधवार को अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक 22 जनवरी तक दिन में तापमान में हल्की बढ़ोतरी व उत्तर पश्चिमी शीत हवा चलने की संभावना है। रात्रि में तापमान में गिरावट कहीं-कहीं पाला पड़ सकता है। 23 जनवरी से पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण मौसम में आंशिक बदलाव भी होगा।

कैथल में बादल छाए

सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए है। हल्की धुंध छाई रही। तेज ठंडी हवाओं ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया। सुबह के समय सड़कों पर भी सन्नाटा पसरा रहा। बुधवार सुबह कोहरे के साथ ठंडी हवा ने अपना असर दिखाया। 10 बजे तक भी बादल छाए रहे व मौसम साफ नहीं हुआ।

यमुनानगर में मौसम की करवट से बढ़ी ठंड, छाए रहे बादल

मौसम ने एक बार फिर करवट ली। बादल छाए रहने से ठिठुरन बढ़ गई। हल्का कोहरा छाया रहा। ठंड से बचाव के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया। न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग क विशेषज्ञों के मुताबिक ठंड अभी बरकरार  रहेगी। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान में हल्की बढ़ोतरी की उम्मीद जताई जा रही है। रविवार तक बादल छाए रह सकते हैं। इस दौरान न्यूनतम तापमान 12 व अधिकतम 21 डिग्री सेल्सियस रह सकता है।

दो दिन छाए रहेंगे बादल, तीसरे दिन बूंदाबांदी

मौसम विशेषज्ञ के मुताबिक शुक्रवार व शनिवार को बादल छाए रहेंगे। रविवार को बूंदाबांदी रहेगी। वीरवार को अधिकतम तापमान 20 व न्यूनतम छह, शुक्रवार को अधिकतम 19 व न्यूनतम छह, शनिवार को अधिकतम 21 व न्यूनतम 12, रविवार को अधिकतम 18 व न्यूनतम नौ और सोमवार को अधिकतम 19 व न्यूनतम आठ डिग्री सेल्सियस रहेगा। उधर, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के विशेषज्ञों के मुताबिक मौसम का रुख देखकर ही गेहूं की फसल में खरपतवार व कीट नाशक दवाइयों का छिड़काव करें।

नमी से गेहूं में पीले रतुआ का खतरा

मौसम में नमी से गेहूं की फसल में पीला रतुआ के फैलने का खतरा बना रहता है। विशेषज्ञों का कहना है कि 15 जनवरी से 15 फरवरी तक यह फंगस अधिक सक्रिय रहता है। क्योंकि इस दौरान मौसम में नमी अधिक होती है। खासतौर पर यमुना व अन्य नदियों और  पहाड़ी एरिया के आसपास के क्षेत्रों में किसानों को विशेष रूप से सजग रहने की जरूरत है। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डा. जसविंद्र सैनी का कहना है कि इन दिनों मौसम में नमी की मात्रा अधिक है। इसलिए किसान नियमित रूप से अपनी फसल की देखरेख करते रहें। यदि पीला रतुआ का लक्षण दिखाई दे तो नजदीकी कृषि विकास अधिकारी से संपर्क करें।

अधिकतम तापमान स्थिर, न्यूनतम में इजाफा

लगातार कई दिन हाड़ कंपकंपाने वाली सर्दी के बाद अब मौसम कुछ खुला है। इससे लोगों ने राहत महसूस की है। हालांकि, रात को अभी भी खासी ठंड पड़ रही है। इस बीच बुधवार को क्षेत्र में अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस पर स्थिर रहा जबकि न्यूनतम तापमान एक डिग्री अधिक यानि 9.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम विभाग के अनुसार वीरवार से मौसम में फिर बदलाव झलक सकता है।

केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक फिलहाल दिन में तो धूप निकलने से अवश्य कुछ राहत मिलेगी लेकिन रात के समय शीत लहर का सिलसिला कायम रहेगा। बर्फीली हवाएं जल्द ही एक बार फिर सता सकती हैं। मौसम विभाग की मानें तो 21 जनवरी से एक बार फिर मौसम शुष्क होगा। इसके बाद नए सिरे से न्यूनतम तापमान में गिरावट देखने को मिल सकती है। 24 जनवरी को पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी के आसार हैं। वहीं इस माह के अंत तक न्यूनतम तापमान फिर से पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे जा सकता है। दूसरी ओर राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान स्थित कृषि विज्ञान केंद्र के पूर्व अध्यक्ष एवं प्रधान वैज्ञानिक डा. दलीप गोसाईं ने स्पष्ट किया कि मौसम में परिवर्तन का यह सिलसिला अभी इसी प्रकार बना रह सकता है। ऐसे में किसानों को एहतियात बरतने की आवश्यकता है। खासकर, सब्जियों की फसल को पाले के प्रकोप से बचाने के लिए वह इनमें हल्के पानी का प्रयोग फिलहाल करते रहें।

कुरुक्षेत्र में 10 डिग्री रहा न्यूनतम तापमान, धूप खिलने से मिल रही राहत

पिछले सप्ताह भर से कड़ाके की ठंड के बाद दो दिनों से धूप खिलने पर लोगों को ठंड से कुछ राहत मिली है। दिन में अच्छी धूप खिलने से न्यूनतम तापमान बढ़कर 10 डिग्री तक पहुंच गया है, अधिकतम तापमान के भी बढ़कर 20 डिग्री पहुंचने का अनुमान है। हवा की गति 20 किलोमीटर प्रति घंटा होने पर लोगों को शीतलहर झेलनी पड़ रही है। हवा में नमी की मात्रा भी 72 फीसद चल रही है। मौसम विशेषज्ञों ने आने वाले दिनों में 24 जनवरी तक मौसम खुश्क रहने का अनुमान जताया है। कृषि विज्ञान केंद्र के विशेषज्ञ डा. प्रद्युम्मन भटनागर ने बताया कि 23 व 24 जनवरी को मौसम में बदलाव होने की संभावना है। इस दिन आसमान में आंशिक रूप से बादल छा सकते हैं। हालांकि बुधवार को सुबह 11 बजे तक बादलों और सूर्य के बीच लुकाछिपी चलती रही।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.