हरियाणा व्यापार मंडल के चेयरमैन की मौत, कोरोना ने छीन ली व्यापारियों की आवाज

हरियाणा व्यापार मंडल के चेयरमैन रोशन लाल गुप्‍ता।

हरियाणा व्यापार मंडल के चेयरमैन रोशन लाल का निधन हो गया है। रोशन लाल व्यापारियों के लिए हर मोर्चे पर खड़े रहते थे। जीएसटी फर्जीवाड़े में जब केवल व्‍यापारियों को टारगेट किया गया तो उन्‍होंने अफसरों पर सवाल उठाए। तब अफसर भी पकड़े गए।

Anurag ShuklaSat, 17 Apr 2021 01:33 PM (IST)

पानीपत, जेएनएन। कोरोना ने शहर के व्यापारियों की आवाज को छीन लिया। व्यापारियों के किसी भी मसले पर अफसरों से भिड़ जाने वाले हरियाणा व्यापार मंडल के चेयरमैन रोशनलाल गुप्ता की कोरोना की वजह से जान चली गई। शहर में जब आयकर विभाग की टीमों ने धड़ाधड़ सर्वे शुरू किए, तब रोशनलाल गुप्ता ही थे जो टीम के सामने खड़े हो गए थे। जीएसटी में जब फजीवाड़े होने लगे, तब रोशनलाल ही थे, जिन्होंने पंचकूला में आवाज उठाई थी। कहा था, फ्राड करने वाले व्यापारी को पकड़ो लेकिन ईमानदार को हाथ भी मत लगाना। पानीपत के एक निजी स्कूल में जब सीबीएसई का पेपर लीक हुआ था, तब उन्होंने ही स्कूल के हाल में खड़े होकर पूरी व्यवस्था को घेर लिया था। चार भाइयों में सबसे छोटे रोशनलाल गुप्ता को दो दिन से सांस लेने में दिक्कत हो रही थी।

उन्हें जीटी रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके भतीजे संजय अग्रवाल ने बताया कि शुक्रवार शाम को उन्हें हार्ट अटैक आया, जिसके बाद उन्हें बचाया नहीं जा सका। वीरवार को कोरोना संक्रमण जांच के लिए सैंपल लिए थे। रिपोर्ट आने से पहले ही उनका निधन हो गया।

शुक्रवार रात को रिपोर्ट पाजिटिव आई। डाक्टरों ने पहले ही संदेश जताया था कि उन्हें कोरोना संक्रमण है। इस वजह से सांस नहीं ले पा रहे थे। जींद के ढाथरत में जन्मे रोशनलाल के तीन और बड़े भाई हैं। सतप्रकाश गुप्ता, आरबी गुप्ता और जगदीश अग्रवाल। 62 की उम्र में छोटे भाई को खोने से सभी भाइयों और स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। एक वर्ष पहले ही रोशनलाल की पत्नी का देहांत हुआ था। उनके परिवार में बेटा जितेन, बेटी प्राक्षी और शिताक्षी हैं। बेटा धागे का काम संभालता है। अंतिम संस्कार शनिवार को 11 बजे असंध रोड पर दोनों नहरों के बीच, शिवपुरी में होगा।


धागा बाजार में रुतबा था, इन्हीं के बाद खुलते थे रेट

धागा बाजार में रोशनलाल गुप्ता का बड़ा रुतबा था। पंद्रह वर्ष पहले तक भी, जब रोशनलाल धागे का रेट बताते थे, तब मार्केट में दाम खुलते थे। इसके बाद रेट ऊपर या नीचे होते।

जब अफसरों को पकड़वाया
जीएसटी जब लागू हुआ, तब शिकायतें आने लगीं कि कुछ कारोबारी गड़बड़ कर रहे हैं। क्रेडिट इनपुट टैक्स ले रहे हैं। एमकाम पास रोशनलाल गुप्ता ने पंचकूला में मामला उठाया। इसके बाद छापे लगे, गलत करने वाले पकड़े गए। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि मिलीभगत करने वाले अफसर भी पकड़े जाए। ये आवाज इतनी बुलंद तरीके से उठाई कि जांच करनी पड़ गई। अब तक दो बड़े अफसर गिरफ्तार हो चुके हैं।

आयकर की टीमें वापस चली गईं

हरियाणा व्यापार मंडल से जुड़े ललित गोयल ने बताया कि वर्ष 2019 में आयकर विभाग की टीमें धड़ाधड़ सर्वे कर रही थी। व्यापारियों में दहशत का माहौल था। रोशनलाल गुप्ता ने अफसरों से कह दिया था, हम आपको रोकेंगे नहीं। लेकिन व्यापारी को सांत्वना देने के लिए साथ खड़े रहेंगे। आपकी दहशत के कारण व्यापारी सुसाइड भी कर सकता है। माहौल इतना गर्मा गया था कि करनाल से कमिश्नर को आना पड़ा। तब विधायक रोहिता के पति सुरेंद्र रेवड़ी की मौजूदगी में बैठक हुई थी। आयकर विभाग को सर्वे बंद करने पड़े थे। उन्होंने व्यापारियों के बीमे के लिए आवाज उठाई। अब पेंशन की मांग रखी थी।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: बेटी पूरे कर रहे टैक्सी चालक पिता के ख्‍वाब, भाई ने दिया साथ तो कामयाबी को बढ़े हाथ

यह भी पढ़ें: पानीपत में बढ़ रहा कोरोना, बच्‍चों को इस तरह बचाएं, जानिये क्‍या है शिशु रोग विशेषज्ञ की सलाह

यह भी पढ़ें: चोट से बदली पानीपत के पहलवान की जिंदगी, खेलने का तरीका बदल बना नेशनल चैंपियन

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.