Bharat Bandh Live Update Haryana: चार बजते ही किसान संगठनों ने खोले रास्‍ते, ट्रेनें-बसें रवाना

Bharat Bandh Live Update Panipat किसानों संगठनों की ओर से भारत बंद के आह्वान के बाद सोमवार सुबह से ही प्रदर्शनकारियों ने जाम लगाना शुरू कर दिया था। हरियाणा के पानीपत जींद करनाल और कुरुक्षेत्र में पांच ट्रेनें फंस गई थीं। चार बजे जाम खोल दिया गया।

Anurag ShuklaMon, 27 Sep 2021 09:12 AM (IST)
पानीपत टोल प्‍लाजा से गुजरतीं हरियाणा रोोडवेज की बसें।

पानीपत, जागरण संवाददाता। Bharat Bandh Live Update Panipat: तीन कृषि कानूनों के रद करने की मांग को लेकर किसान संगठनों ने भारत बंद के आह्वान के चलते जाम लगा दिया था। शाम चार बजे हाईवे खोल दिए गए। किसान संगठनों ने पूर्व में बनाई रणनीति के मुताबिक चार बजे सभी जगहों से जाम खोल दिए। सड़कों से आंदोलनकारियों के हटते ही वाहनों का आवागमन शुरू हो गया। वहीं ट्रेनों को रवाना किया गया। 

नेशनल हाईवे से लेकर रेल ट्रैक पर प्रदर्शनकारी बैठ गए थे। हरियाणा के जीटी बेल्‍ट करनाल, पानीपत, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, यमुनानगर और अंबाला में प्रदर्शनकारी सोमवार सुबह छह बजे से ही सड़कों पर आ गए थे। ट्रैक्‍टर-ट्रालियों को बीच रास्‍ते में खड़ा दिया था।  

भारत बंद की वजह से पानीपत, जींद, करनाल और कुरुक्षेत्र में पांच ट्रेनें फंस गई थीं। पानीपत में वंदे भारत ट्रेन को रोका गया था। लुधियाना की ओर जाने वाली वंदे भारत ट्रेन पौने आठ बजे से पानीपत रेलवे स्‍टेशन पर खड़ी थी।

फिरोजपुर-छिंदवाड़ा एक्सप्रेस को जींद के गांव घसो कलां रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। वहीं, सुबह आठ बजे से बांबे-जम्मू एक्सप्रेस ट्रेन करनाल स्टेशन पर खड़ी हुई थी। सोमवार सुबह से किसी भी ट्रेन का संचालन नहीं हो पाया था। ट्रैक पूरी तरह से बंद पड़ा हुआ था। ट्रेन बंद होने के कारण यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। अब देखने वाली बात यह भी होगी कि ट्रेनों का संचालन किस समय तक बंद रहेगा। जिनको भारत बंद होने की जानकारी नहीं थी वह भी स्टेशन पर ट्रेनों के इंतजार में खड़े थे, वहां से सूचना मिलने के बाद वापस लौट गए।

भारत बंद से जुड़ी ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन पर अप मालवा सुपरफास्ट सुबह 7:00 बजे से रुकी हुई थी। अमृतसर एक्सप्रेस दादर ट्रेन भी कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन पर सुबह 6:30 बजे से रुकी थी। दोनों ट्रेनों में लगभग 800 यात्री सफर कर रहे थे, जिनके लिए गुरुद्वारा छठी पातशाही की ओर से लंगर की व्यवस्था की गई थी।

पानीपत में भी कई जगहों पर वाहनों को रोका गया था। सड़कें जाम कर दी गई थीं। गांव के लिंक मार्ग से वाहनों के निकले से जाम लग गया था। 

करनाल में स्‍वराज एक्‍सप्रेस को रोक दिया गया था। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही थी। 

करनाल के इंद्री में भी किसान प्रदर्शनकारी सड़क पर आ गए थे। इंद्री में यमुनानगर स्‍टेट हाईवे पर आंदोलनकारियों ने जाम लगा दिया था। 

सुबह से ही करनाल के विभिन्न क्षेत्रों में भारत बंद का असर दिखना शुरू हुआ था। जलमाना में नेशनल हाईवे 709 ए पर धरना देकर आंदोलनकारी डट गए थे। दुकानदारों ने आंदोलनकारियों के समर्थन में स्वेच्छा से की दुकानें बंद की थी। शहर में भी रेलवे रोड सहित विभिन्न मार्गों पर उतर कर बाजार बंद रखने का आह्वान कर रहे थे  आंदोलनकारी।

जींद में बस स्टैंड पर नहीं पहुंची सवारिया बंद का दिखा असर

भारत बंद का असर नजर आ रहा था। आज सुबह बस स्टैंड पर कोई सवारी नहीं पहुंची थी। जिससे बस नहीं चलाई जा सकी थी। भारत बंद के आह्वान को देखते हुए रोडवेज ने पहले ही लम्बे रूटों पर बस न भेजने का फैसला लिया था। रोडवेज़ जीएम गुलाब सिंह दूहन ने बताया कि सोमवार सुबह को बस स्टैंड पर सवारियां नहीं पहुंची हैं। सुरक्षा की दृष्टि से लंबे रूटों पर बसें ना भेजने का फैसला लिया गया है। क्योंकि इस दौरान कोई शरारती तत्व बसों को नुकसान पहुंचा सकता है। चालक परिचालकों को निर्देश दिए गए हैं कि अगर स्थानीय रूटों पर सवारियां मिलती है तो बसों को चलाया जाए। रास्ते में कहीं भी जाम लगा है, तो वहीं बसों को सुरक्षित जगह पर रोक दें। आगे जाने के लिए आंदोलनकारियों के साथ बहस ना करें। बसे ना चलने की वजह से रोडवेज को लाखों रुपए का नुकसान होगा।

सब्जी मंडी में बंद का असर। सब्जियां लेकर बहुत कम किसान पहुंचे। फुटकर सब्जी विक्रेता शमशेर ने बताया कि ग्राहक भी कम है। जिससे सब्जियों के भाव कम हुए हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.