अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमक बिखेर रहे अंबाला के खिलाड़ी, अब सुविधाओं से और उम्मीद जगी

पैरा ओलंपिक में अंबाला से पैरा शूटिंग में दीपक कुमार ही पहुंच पाए हैं। जो टोक्यों में 18 अगस्त से होने वाली पैरालिंपिक में भाग लेंगे। स्पेशल चाइल्ड तांशू रशिया के कजान में साल 2022 में होेने वाली वर्ल्ड विंटर स्पेशल ओलंपिक में देश के लिए खेलेगा।

Anurag ShuklaWed, 23 Jun 2021 04:22 PM (IST)
अंबाला के खिलाड़ी अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर मेडल जीत रहे।

अंबाला, जेएनएन। ओलंपिक में अपनी चमक बिखेरने वाले खिलाड़ियों का अभी इंतजार है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर तो अंबाला के खिलाड़ियों ने अपनी पहचान बनाई है, लेकिन ओलंपिक तक अभी एक ही खिलाड़ी अपनी उपस्थिति दर्ज करवा पाया है। पैरा शूटिंग में चैंपियन दीपक सैनी 18 अगस्त से जापान के टोक्यो में होने वाली पैरा ओलंपिक शूटिंग चैंपियनशिप में देश के लिए खेलेगा। दूसरी ओर अंबाला का ही स्पेशल चाइल्ड तांशू भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना चुका है। वर्ल्ड विंटर गेम्स स्पेशल ओलंपिक में वह देश के लिए लेगा। यह आयोजन रशिया के कजान में होना है। इससे पहले यह खिलाड़ी इनविटेशन टूर्नामेंट में दो गोल्ड जीत चुका है। इसके अलावा कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने इंटरनेशनल लेवल पर भी अपनी चमक बिखेरी है। विश्व ओलंपिक दिवस पर खेल विभाग की ओर से दीपक सैनी, गगनजोत गिल ताइक्वांडो, प्रभजोत सिंह ताइक्वांडो, इंटनेशनल हैंडबाल खिलाड़ी गौरव, भावना व शिवम को सम्मानित करेगा।

दीपक सैनी पैरा शूटर

अंबाला कैंट के शाहपुर का रहने वाला पैरा शूटर का सफर काफी संघर्ष भरा रहा है। संघर्ष करते हुए दीपक सैनी ने नेशनल लेवल पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। इसी तरह उन्होंने सफलता की ऊंचाइयों को छूते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई। उन्होंने इनाम राशि काे जोड़कर थर्ड आई शूटिंग रेंज खोली। अब उन्होंने टोक्यो में 18 अगस्त से शुरु होने वाली पैरा ओलंपिक शूटिंग प्रतियोगिता में देश के लिए खेलेंगे।

तांशू, स्पेशल चाइल्ड

अंबाला कैंट का रहने वाला तांशू ने भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है। कैंटोनमेंट बोर्ड अंबाला के तहत चलने वाले स्पेशल स्कूल वात्स्लय का वह छात्र है। तांशू ने जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर स्केटिंग में अपनी पहचान बनाई है। अब वह रशिया के कजान में 2022 में होने वाली वर्ल्ड विंटर गेम्स स्पेशल ओलंपिक में देश के लिए खेलेगा। इससे पहले वह इनविटेशनल टूर्नामेंट में देश के लिए दो गोल्ड मेडल जीत चुका है।

अंजू दुआ, अर्जुन अवार्डी

अंबाला कैंट के वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम में बतौर जिमनास्टिक कोच अंजु दुआ को अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया है। बचपन से वे बोलने और सुनने में असमर्थ थीं। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। प्रतिभागियों के पैराें की मूवमेंट को देखकर उन्होंने जिमनास्टिक सीखा और अपनी पहचान बनाई। सरकार ने उनको अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया।

अंतरराष्ट्रीय खेल सुविधाओं से लैस हो रहा अंबाला

अंबाला अब खेलों के मामले में अंतरराष्ट्रीय सुविधाओं से लैस हो रहा है। अंबाला कैंट के वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम में जहां अंतरराष्ट्रीय स्तर का आल वैदर स्वीमिंग पूल बनाया जा रहा है। खिलाड़ी साल भर हर मौसम में तैराकी की प्रेक्टिस कर सकेंगे। इसी तरह अंतरराष्ट्रीय स्तर का पॉलीग्रास फुटबाल मैदान भी बन रहा है। इसी तरह अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक ट्रैक भी खिलाड़ियों को बेहतरीन सुविधाएं प्रदान करेगा। इसके अलावा जिमनास्टिक के विदेशी उपकरण भी स्टेडियम में मौजूद हैं। माना जा रहा है कि इस तरह की सुविधाएं मिलने के बाद खिलाड़ी ओलंपिक स्तर भी छू सकेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.