अजय चौटाला बोले- दुष्‍यंत से इस्‍तीफा क्‍यों मांगते हो, भाटिया से मांगो, कानून बनाने वाले सांसदों से सवाल करो

हरियाणा के पानीपत में पहुंचे जननायक जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अजय सिंह चौटाला। उन्‍होंने कहा 25 सितंबर को मनाई जाएगी देवीलाल जयंती। नूंह में देवीलाल की सबसे बड़ी प्रतिमा स्‍थापित की जाएगी। जिलों में 108 की टोलियों में कार्यकर्ता पहुंचेंगे।

Anurag ShuklaThu, 16 Sep 2021 02:39 PM (IST)
पानीपत में जननायक जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अजय सिंह चौटाला।

पानीपत, जागरण संवाददाता। जननायक जनता पार्टी (JJP जजपा) के अध्‍यक्ष एवं संस्‍थापक अजय सिंह चौटाला ने कृषि सुधार कानूनों से लेकर इनेलो पर खुलकर अपनी बात रखी। यहां तक की उन्‍होंने ये भी कह दिया कि हरियाणा के डिप्‍टी सीएम उनके बेटे दुष्‍यंत चौटाला से इस्‍तीफा क्‍यों मांगा जाता है। क्‍या दुष्‍यंत ने कृषि कानून बनवाए थे। क्‍या दुष्‍यंत ने कानून के कागजों पर हस्‍ताक्षर किए थे। इस्‍तीफा ही मांगना है तो भाटिया (करनाल से सांसद संजय भाटिया) से मांगो, रतन लाल कटारिया से मांगो, राव इंद्रजीत से मांगो, बीरेंद्र के लड़के बृजेंद्र से मांगो। लोकसभा में जिन सांसदों ने कानून बनवाए, हस्‍ताक्षर किए, उनसे मांगो। और इस्‍तीफा कोई समाधान नहीं है। बातचीत से मसले का हल निकलता है। अजय चौटाला यहां पानीपत में कार्यकर्ता सम्‍मेलन में संबोधित कर रहे थे।

45 हजार सक्रिय सदस्‍य बनाएंगे

अजय चौटाला ने कहा कि इस समय सक्रिय सदस्‍य बनाए जाने का अभियान चल रहा है। हरियाणा में 45 हजार सक्रिय सदस्‍य बनाए जाएंगे। ऐसा न हो कि एक ही परिवार के सदस्‍य बन जाएं, दूसरे छूट जाए। कोई बूथ छूटना नहीं चाहिए। सभी सक्रिय सदस्‍यों को पहचानपत्र भी दिए जाएंगे, ताकि वे सरकार तक अपनी बात पहुंचा सकें। अफसरों से समस्‍याओं का समाधान करा सकें।

नूंह में सबसे बड़ी प्रतिमा स्‍थापित होगी

अजय चौटाला ने कहा कि 25 सितंबर को पूर्व उपप्रधानमंत्री स्‍व.देवीलाल की जयंती मनाई जाएगी। इस समय कोरोना के केस नहीं आ रहे लेकिन खतरा कम नहीं हो रहा। जिला मुख्‍यालयों में जहां-जहां देवीलाल की प्रतिमा लगी हैं, वहां पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित करें। देवीलाल की 108वीं जयंती है। 108 लोगों की टोल बनाकर कार्यक्रम करें। नूंह में उनकी हरियाणा की सबसे बड़ी प्रतिमा लगने जा रही है। वहीं पर बड़ा कार्यक्रम होगा। आप सभी वहां आ सकते हैं।

इनेलो को घेरा, हमने तो सब इन्‍हें सौंप दिया था

इनेलो को घेरते हुए अजय चौटाला ने कहा कि जब हमने जींद में पहली बैठक की, तब कहा था, ये झंडा तुम्‍हारा। फंड तुम्‍हारा। विधायक तुम्‍हारे। सब कुछ तुम्‍हारा। आप इसे संभालकर रखना। हम तो नए सिरे से काम चला लेंगे। विधानसभा चुनाव में इनेलो एक सीट पर आ गई। अब वो भी शून्‍य पर आ गए। हमने विपरीत परिस्थितियों में कांग्रेस के दिग्‍गजों को धूल चटाई। विधानसभा चुनाव में पानीपत ग्रामीण सीट पर 54 हजार वोट हासिल किए।

मेरी जेब में दस विधायकों के इस्‍तीफे

कृषि कानूनों पर बोलते हुए कहा कि जो लोग इस्‍तीफा मांग रहे हैं, उन्‍हें यह समझ लेना चाहिए कि जजपा के सभी दस विधायकों के इस्‍तीफे मेरी जेब में हैं। दुष्‍यंत चौटाला ने पहले दिन कह दिया था कि अगर किसान की एमएसपी पर आंच भी आई तो वह इस सरकार को तिलांजलि देने वालों में सबसे आगे होंगे। कोरोना काल में सभी पर असर हुआ। कारोबारी से लेकर मजदूर प्रभावित हुए लेकिन किसान फायदे में रहा। हरियाणा में 11 फसलें न केवल एमएसपी पर बिक रही हैं, बल्कि इससे ज्‍यादा दाम दिए जा रहे हैं। बाजरा, जिसे गधे भी नहीं खाते थे, उसका एक-एक दाना खरीदा गया। खाते में सीधे पैसा पहुंचा। पड़ोसी राज्‍यों में फसलें एमएसपी पर नहीं खरीदी जातीं। पंजाब, उप्र, राजस्‍थान, उत्‍तराखंड तक में एमएसपी पर फसल नहीं बिकती। हरियाणा में इस वजह से बिकती हैं, क्‍योंकि आपका नुमाइंदा सरकार में मजबूती के साथ बैठा है।

कानून में काला क्‍या है, ये बता दो

अजय चौटाला ने कहा, हमारे लिए पद मायने नहीं रखते। हम पद लेकर पैदा नहीं हुए थे। देवीलाल ने तो प्रधानमंत्री का पद छोड़ दिया था। हमारी रगों में उनका ही खून है। कांग्रेस या विपक्ष के लोग ये कहते हैं कि काले कानून हैं। प्रधानमंत्री ने पूछा है कि इसमें काला क्‍या है। ये बता दो। उसे हटा देते हैं। तब कोई जवाब नहीं देता। इनको समस्‍या के समाधान से मतलब नहीं है। राजनीतिक रोटियां सेंक रहे हैं। धरती चली जाएगी, मंडी सिस्‍टम चला जाएगा, सब बेबुनियाद बातें हैं। गठबंधन में लड़ेंगे चुनाव

गठबंधन में चुनाव लड़ेंगे

अजय चौटाला से मीडिया से बातचीत में कहा कि निकाय-पंचायत चुनाव गठबंधन में लड़ेंगे। बातचीत करके सीटों के बारे में समाधान निकाल लिया जाएगा। वहीं, 26 सितंबर को राकेश टिकैत की पानीपत में महापंचायत पर कहा कि समस्‍या का समाधान बातचीत से होता है। सरकार बातचीत को तैयार है। इस मामले में केवल राजनीति की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.