Accident during Ganesh Visarjan: कैथल में गणेश विसर्जन के दौरान हादसा, सिरसा ब्रांच नहर में डूबा किशोर

Accident during Ganesh Visarjan कैथल में गणेश विसर्जन के दौरान सिरसा ब्रांच नहर में किशोर डूब गया। छह बहनों में से चार बहनों से छोटा है किशोर सौरभ। बड़ा भाई दिव्यांग। माता-पिता की आंखों से नहीं रूक रहे आंसू मौके पर मौजूद पुलिस।

Anurag ShuklaSat, 18 Sep 2021 05:34 PM (IST)
कैथल में गणेश विसर्जन के दौरान एक युवक नहर में डूबा।

कैथल, जागरण संवाददाता। सिरसा ब्रांच नहर में गांव प्यौदा के नजदीक गणेश विसर्जन करते समय एक किशोर पानी में डूब गया। पानी का बहाव तेज होने के कारण युवक बाहर नहीं निकल पाया। परिवार व कालोनी वासियों ने किशोर को ढूंढने का प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद तितरम थाना पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। नहर से पानी को कम करवाया गया। गौताखोर का इंतजार है, जो कुरुक्षेत्र से आएंगे। अभी तक पता नहीं चल पाया है। इस तरह का जिले में यह कोई पहला हादसा नहीं है, इससे पूर्व भी दो साल पहले गांव काकौत के नजदीक इसी नहर में गणेश विसर्जन के दौरान एक किशोर की डूबने से मौत हो चुकी है। जिला प्रशासन की तरफ से भी नहरों में विसर्जन के दौरान सावधानी बरतने को लेकर जागरूक किया जाता है, लेकिन इसके बावजूद लोगों की लापरवाही जारी है। इस कारण आए दिन इस तरह के हादसों का ग्राफ बढ़ रहा है।

कालोनी वासियों के साथ गणेश विसर्जन के लिए गया था किशोर

उत्तर प्रदेश के जिला बरेली गांव फरीदपुर निवासी हरिदवारी ने बताया कि वह पिछले कई सालों से परिवार सहित कैथल की फ्रैंडस कालोनी में ही रहता हूं। यहां टेंट हाउस पर मजदूरी का काम करता हूं। उसके पास दो बेटे व छह बेटियां है। बड़ा बेटा अखिल दिव्यांग हैं। छोटा बेटा 16 वर्षीय सौरभ पढ़ाई के साथ-साथ दिहाड़ी-मजदूरी कर उसके साथ परिवार का पालन-पोषण करने में हाथ बंटाता है। शनिवार को वह कालोनी के कुछ युवकों के साथ भगवान गणेश की मूर्ति विसर्जन को लेकर प्यौदा रोड स्थित सिरसा ब्रांच नहर पर गया था। जब गणेश विसर्जन कर रहे थे तो प्रतिमा गहरे पानी से पहले अटक गई, इसे गहरे पानी में जब सौरभ करने लगा तो उसका पांव फिसल गया और वह नहर में जा गिरा। पानी ज्यादा गहरा होने के कारण उसमें बह गया। सूचना मिलने के बाद वह मौके पर पहुंचा। बेटे की तलाश की, लेकिन पता नहीं चल पाया। हादसे की सूचना को दी गई।

हर जिले में हो गोताखोर

मौके पर मौजूद जीवन रक्षक दल संस्था के प्रधान राजू डोहर ने बताया कि पानी में युवक के डूबने की सूचना मिलने के बाद वह मौके पर पहुंचा। किशोर को नहर से तलाश किया जा रहा हैं, अभी तक गोताखोर नहीं आए हैं। कुरुक्षेत्र से गौताखोर आएंगे। हर जिले में गोताखोर होने चाहिएं ताकि इस तरह के हादसे होने पर समय रहते काम शुरू हो सके। यहां गणेश मूर्ति विसर्जन के दौरान काफी लोग आते हैं।

दो दिन पहले गांव चंदाना के पास भी डूब गए थे तीन युवक, ग्रामीणों न बाहर निकाला

दो दिन पहले गणेश विसर्जन के दौरान तीन युवक गांव चंदाना के पास नहर में डूब गए थै। ग्रामीणों ने तीनों युवकों को नहर से बाहर निकालते हुए उनकी जान बचाई। ग्रामीणों कहना है कि भगवान गणेश का विसर्जन करते समय नहरों पर इन दिनों भीड़ जुट रही है। काफी युवकों को पानी में तैरना नहीं आता। विसर्जन के दौरान पांव फिसलने के कारण नहर में गिर जाते हैं तो बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है। जिला प्रशासन को इस तरफ ध्यान देना चाहिए। गणेश विसर्जन के दौरान पुलिस की मौजूदगी होनी चाहिए। ज्यादा भीड़ भी इस दौरान नहीं होनी चाहिए। इस तरह के हादसों को रोकने के लिए ठोस कदम उठाए जाने चाहिए।

तितरम पुलिस थाना प्रभारी अभिमन्यू ने बताया कि भगवान गणेश की प्रतिमा का नहर में विसर्जन के दौरान किशोर के पानी में डूबने की सूचना मिली थी। मौके का दौरा किया है। किशोर की नहर से तलाश किया जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.