किसान आंदोलन को लेकर अभय चौटाला का बड़ा बयान, कोरोना काल में थी किसान की जमीन बेचने की योजना

इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने शुक्रवार को नरवाना के गांव धमतान साहिब में किसान पंचायत की।

इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला जींद के नरवाना पहुंचे। गांव धमतान साहिब में किसान पंचायत में शामिल हुए। कहा कि किसान मांग पूरी होने पर बॉर्डर से वापस आएंगे। डीएपी खाद की कीमत बढ़ाने के विरोध में 12 अप्रैल को सभी जिला हेड क्वार्टर पर प्रदर्शन किया जाएगा।

Umesh KdhyaniFri, 09 Apr 2021 06:59 PM (IST)

जींद/नरवाना, जेएनएन। इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने शुक्रवार को नरवाना के गांव धमतान साहिब में किसान पंचायत में केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ खूब भड़ास निकाली। अभय ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान लोग जिंदगी से जूझ रहे थे, तब प्रधानमंत्री मोदी किसान की जमीन को बड़े कारपोरेट घरानों को बेचने की योजना बनाने में लगे हुए थे।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने वादा किया था कि स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करेंगे। किसानों के कर्ज माफ करेंगे, किसान की फसल का समर्थन मूल्य से ज्यादा रेट देकर किसान का मान-सम्मान बढ़ाएंगे। लोगों ने उनकी बात पर भरोसा करके सत्ता भाजपा को सौंप दी, लेकिन चुनाव जीतने के बाद वह सभी वायदे भूल गए।

किसानों के 800 करोड़ डकार गई सरकार

अभय ने कहा कि पिछले साल केंद्र सरकार से 17 हजार करोड़ रुपये हरियाणा के किसानों को गेहूं की फसल के देने के लिए मिला था, उसका 800 करोड़ रुपये ब्याज सत्ता में बैठे लोगों ने बैंक के कर्मचारियों के साथ मिलकर के डकारने का काम किया। रजिस्ट्री का घोटाला किया। 450 करोड़ रुपये का दवाइयों में घोटाला किया। सिलेंडर की सब्सिडी खत्म करके महंगाई बढ़ाई और तीन काले कानून बनाकर के किसान को आंदोलन करने पर मजबूर किया। अब किसान वोट की चोट से भाजपा को सबक सिखाएगा।

ये रहे किसान महापंचायत में मौजूद

किसान महापंचायत में पूर्व विधायक रामफल कुंडू, युवा जिला प्रधान प्रदीप नैन खरल, हल्का नरवाना प्रधान अंग्रेज नैन दनौदा कलां, महिला सेल की प्रदेश अध्यक्ष सुमित्रा, वेद मुंडे, बलराज नगूरां, धमतान तपा प्रधान डा. प्रीतम नैन, दरबार नैन धमतान, सरपंच चांदीराम नैन आदि मौजूद थे।

खाद के दाम बढ़ाने पर 12 अप्रैल को प्रदर्शन

अभय चौटाला ने कहा कि डीएपी खाद की कीमत 1200 से बढ़ा कर 1900 कर दी गई है। इसके विरोध में 12 अप्रैल को सभी जिला हेडक्वार्टर पर डीसी के दफ्तर तक प्रदर्शन किया जाएगा। अभय ने लोगों से बड़ी संख्या में हेडक्वार्टर पर पहुंचने की अपील की। अभय ने कहा कि केंद्र यह तीनों काले कानून न बनाता तो हमारा भाईचारा इतना मजबूत नहीं होता। गांवों में आपसी भाईचारा बहुत मजबूत हुआ है, यह भाईचारा भाजपा को सत्ता से बाहर करेगा। सरकार में बैठे लोग हमें आपस में लड़ाना चाह रहे हैं। भाजपा सरकार ने पहले भी भाईचारा खराब करने के लिए 35-1 का नारा दिया था। अब प्रदेश की जनता इनको सही तरीके से समझ चुकी है।

भाजपा के पास गिरवी रखीं देवीलाल की नीतियां

जेजेपी व दुष्यंत का नाम लिए बगैर अभय चौटाला ने कहा कि कुछ ऐसे लोग भी हमारे बीच में से हैं, जो चौधरी देवीलाल का नाम लकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम कर रहे थे। जब वह लोग आपके बीच में वोट मांगने के लिए आते थे, आप भावुक होकर उनकी मदद कर रहे थे। आज वह बेईमान लोग चौधरी देवीलाल की नीतियों को भाजपा के पास गिरवी रखने का कार्य कर रहे हैं। आपने मेरे सिर पर जो पगड़ी रखी है, इसका कभी अपमान नहीं होने दूंगा। जब तक यह कृषि कानून वापस नहीं हो जाएंगे, तब तक अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटूंगा।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ेंः हरियाणा में कोविशील्‍ड की दूसरी डोज के लिए बदला प्‍लान, पहुंची 5.85 लाख डोज

 

यह भी पढ़ेंः कोरोना से मौत का एक बड़ा कारण ये भी, कुरुक्षेत्र प्रशासन ने भी माना, इस तरह बचें

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.