55 हजार स्कूली विद्यार्थी करेंगे गीता के 18 श्लोकों का उच्चारण

अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2021 का आयोजन दो से 19 दिसंबर तक होने जा रहा है। गीता महोत्सव के अंतर्गत नौ दिसंबर से स्कूलों में न केवल प्रतियोगिता होगी बल्कि 55 हजार स्कूली विद्यार्थी गीता के 18 श्लोकों का उच्चारण भी करेंगे।

JagranThu, 25 Nov 2021 06:14 PM (IST)
55 हजार स्कूली विद्यार्थी करेंगे गीता के 18 श्लोकों का उच्चारण

जागरण संवाददाता, पानीपत : अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2021 का आयोजन दो से 19 दिसंबर तक होने जा रहा है। गीता महोत्सव के अंतर्गत नौ दिसंबर से स्कूलों में न केवल प्रतियोगिता होगी, बल्कि 55 हजार स्कूली विद्यार्थी गीता के 18 श्लोकों का उच्चारण भी करेंगे। कार्यक्रम को लेकर कुरुक्षेत्र के डीईओ को नोडल अधिकारी बनाया गया है। साथ ही, अन्य जिलों के डीईओ द्वारा कार्यक्रम को लेकर नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। इसकी जानकारी कुरुक्षेत्र के डीईओ को 30 नवंबर तक देनी होगी। कार्यक्रम को लेकर स्कूल शिक्षा निदेशालय की ओर से प्रदेश के सभी डीईओ, डीपीसी व बीईओ को पत्र लिख निर्देश जारी किए गए हैं।

गीता जयंती कार्यक्रम विश्वभर में एक अनूठे रिकार्ड के तौर पर स्थापित हुआ है। स्कूली छात्रों द्वारा भगवद्गीता के श्लोकों का सामूहिक पाठ आकर्षक कार्यक्रमों में से है। इस बार भी प्रदेश भर के 55 हजार विद्यार्थी विश्व शांति के लिए एक साथ सामूहिक रूप से 14 दिसंबर दोपहर 12 बजे भगवत गीता के 18 श्लोकों का उच्चारण अपने स्कूल में आनलाइन करेंगे। प्रत्येक जिले से 50 स्कूलों का चयन किया जाएगा। एक स्कूल से 50 छात्र छात्राएं शामिल होंगे।

महोत्सव के समय केवल कुरुक्षेत्र जिले के 1800 विद्यार्थी आफलाइन माध्यम से जुड़ेंगे। उनके द्वारा ही प्रदेश के अन्य जिलों में एक माडल पाठ की विधि यूट्यूब चैनल या अन्य किसी माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी। कार्यक्रम में श्लोकोच्चारण की समरुपता को लेकर प्रदेश के प्रत्येक खंड से दो-दो संस्कृत अध्यापकों/प्राध्यापकों की कार्यशाला 26 नवंबर को कुरुक्षेत्र में आयोजित होगी। ये होंगी प्रतियोगिता

--निबंध लेखन

--गीता श्लोकोच्चारण

--भाषण

--संवाद

--पेंटिग कब कौन सी होगी प्रतियोगिता

गीता जयंती महोत्सव कार्यक्रम के अंतर्गत इस बार सभी प्रतियोगिताएं आफलाइन कराने फैसला लिया गया है। इसमें नौंवी से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थी भाग ले सकेंगे। स्कूल स्तर प्रतियोगिता 29 व 30 नवंबर, खंड स्तर पर दो से चार दिसंबर, जिला स्तर पर छह से आठ दिसंबर व राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए प्रविष्टियों की प्राप्ति 10 दिसंबर तक व राज्य स्तरीय प्रविष्टियों का मूल्यांकन 11 से 14 दिसंबर तक होगा। जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राने करने वाले विद्यार्थी ही राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे। जिला व राज्य स्तर पर गठित निर्णायक मंडल का फैसला अंतिम व सर्वमान्य होगा। हर प्रतियोगिता को लेकर विषय से लेकर समय, मापदंड व अन्य चीजें निर्धारित की गई हैं। किस स्तर पर मिलेगा क्या इनाम

स्तर --प्रथम-- द्वितीय -तृतीय - सांत्वना

खंड -1100 -750 -500 -100

जिला --2100 -1500 -1000 -500

प्रदेश -5100-3100 --2100 --1000 जिला स्तर का निर्णायक मंडल

--जिला शिक्षा अधिकारी (अध्यक्ष)

--जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी या डाइट प्रधानाचार्य (सचिव)

--तीन भाषा विशेषज्ञ (हिदी, संस्कृत व अंग्रेजी) राजकीय स्कूलों से व तीन गैर राजकीय स्कूलों से

प्रदेश स्तर का निर्णायक मंडल--

--अतिरिक्त निदेशक सेकेंडरी शिक्षा विभाग (अध्यक्ष)

--निदेशक एससीइआरटी, गुरुग्राम (सचिव)

--चार भाषा विशेषज्ञ अंग्रेजी व हिदी डाइट व एससीइआरटी (सदस्य) डीईओ ने तैयारियों को लेकर ली बैठक

स्कूल शिक्षा निदेशालय के निर्देशानुसार अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2021 के अंतर्गत होने वाले कार्यक्रम व प्रतियोगिता को लेकर वीरवार को डीईओ रमेश कुमार ने कार्यालय में समस्त खंड शिक्षा अधिकारी व संस्कृत अध्यापक-प्राध्यापकों की मीटिग ली। उन्होंने कार्यक्रम को सफल बनाने के लेकर जिम्मेदारी सौंपी। इस मौके पर बीईओ कृष्ण कुमार, राजकुमार, ज्ञानीराम कौशिक, मनीष गुप्ता, सतीश कुमार, बिजेंद्र कुमार, डा. कृष्ण देव शास्त्री, संगीता कुंडू, कुसुम देवी, रश्मि, रामपाल सिंह, विष्णु दत्त, विनोद वत्स, प्रेम राज, शक्तिधर, रणबीर सिंह, शशि मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.