नियम 134-ए में निजी स्कूलों से 2886 और सरकारी से 679 बच्चों ने किया आवेदन

इस बार सरकारी के बजाय निजी स्‍कूल के बच्‍चों ने ज्‍यादा आवदेन किए। कुरुक्षेत्र में 6965 रिक्त सीटों पर 51.20 बच्चों ने किया आवेदन 48.80 फीसद सीट रिक्त पड़ी। कुल रिक्त सीटों पर निजी स्कूलों के 80.95 और सरकारी स्कूलों के 19.05 फीसद बच्चों ने किया आवेदन।

Anurag ShuklaFri, 26 Nov 2021 05:56 PM (IST)
कुरुक्षेत्र में निजी स्‍कूल के बच्‍चों ने ज्‍यादा आवेदन किया।

कुरुक्षेत्र, जागरण संवाददाता। नियम 134-ए के अंतर्गत सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की बजाय निजी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों ने अबकी बार अधिक आवेदन किए है। ऐसे में स्पष्ट होता है कि बच्चों का रुझान सरकारी स्कूलों की ओर अधिक है। वहीं निजी स्कूलों के बच्चे अपने स्कूलों से ऊब गए है। इसलिए उन्होंने अन्य निजी स्कूलों के लिए आनलाइन आवेदन किए है। जिले में 6964 रिक्त सीटों में से सबसे अधिक निजी स्कूलों में पढ़ने वाले 2886 बच्चों ने नियम 134-ए के तहत विभिन्न कक्षाओं के लिए आनलाइन आवेदन किया है। वहीं सरकारी स्कूलों के 679 बच्चों ने आनलाइन आवेदन भरा है। ऐसे में अगर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों का आवेदन का स्तर देखा जाए तो निजी स्कूलों के बच्चों से काफी निचले स्तर पर है।

नियम 134-ए के तहत कक्षानुसार कुल सीट, सरकारी स्कूलों और निजी स्कूलों के विद्यार्थियों के आवेदन पर एक नजर

कक्षा कुल सीट सरकारी स्कूलों से आवेदन निजी स्कूलों से आवेदन कुल

दूसरी 963 119 445 564

तीसरी 1065 113 552 665

चौथी 680 86 396 482

पांचवीं 594 82 425 507

छठीं 517 84 351 435

सातवीं 547 61 275 336

आठवीं 555 76 241 317

नौवीं 545 45 150 195

10वीं 561 00 00 00

11वीं 488 13 51 64

12वीं 449 00 00 00

कुल 6964 679 2886 3565

जिले में नियम 134-ए के अंतर्गत सबसे अधिक निजी स्कूलों में पढ़ने वाले 2886 और सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 679 बच्चों ने आनलाइन आवेदन दर्ज कराया है।

अरुण आश्री, डीईओ, कुरुक्षेत्र।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.