हरियाणा में अभी नहीं थमेगा बिजली विभाग का सर्जिकल स्ट्राइक, रिकार्ड 7710 छापेमारी

हरियाणा में बिजली विभाग छापेमारी कर रहा है। (फाइल फोटो)

हरियाणा में बिजली विभाग के सर्जिकल स्‍ट्राइक यानि छापे जारी रहेंगे। राज्‍य भर में पिछले कई दिनों से बिजली विभाग की ओर से ताबड़तोड़ छापे मारे जा रहे हैं। इन छापों में बिजली चोरी के मामले पकड़े जा रहे हैं। अब तक रिकार्ड 7710 छापे मारे गए ह‍ैं।

Sunil kumar jhaTue, 02 Mar 2021 08:03 AM (IST)

चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा के इतिहास में बिजली विभाग द्वारा पहली बार किए गए दो दिन के सर्जिकल स्ट्राइक में 1200 अधिकारियों व कर्मचारियों की 236 टीमों ने 7710 जगहों पर छापेमारी कर करोड़ों रुपये की बिजली चोरी पकड़ी है। इनमें से 2735 जगहों पर डायरेक्ट बिजली चोरी मौके पर पकड़ी गई। बिजली विभाग की इन टीमों के निशाने पर दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के अधीन आने वाले 10 शहर रहे। अब अगली बारी उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के दायरे में आने वाले शहरों की होगी।

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के 10 शहरों में चल रहा था चोरी का धंधा

बिजली विभाग की टीमों ने औद्योगिक प्रतिष्ठानों के साथ-साथ शापिंग माल, अतिथि सत्कार गृह (पीजी), गोदाम और बड़े व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में छापेमारी की। इनमें कुछ घरेलू उपभोक्ता और दुकानदार भी शामिल हैं। हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत चौटाला ने विभाग के नए एसीएस पीके दास और सीआइडी प्रमुख आलोक मित्तल के साथ मंत्रणा करते हुए करीब एक पखवाड़े तक पूरे आपरेशन का खाका तैयार किया।

अब उत्तर हरियाणा के शहरों में चलेगा आपरेशन, मार्च में 200 करोड़ का आएगा राजस्व

अब बिजी विभाग उत्‍तर हरियाणा पर ध्‍यान केंद्रित करेगा। उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के क्षेत्र में पड़ने वाले शहरों में बड़े पैमाने पर यह अभियान चलेगा। बिजली विभाग का लाइन लास 35 फीसदी पर चल रहा था, जिसे कम कर 15 फीसदी पर लाने की योजना है। अकेले दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के दायरे वाले शहरों में लाइन लास 50 फीसदी से ऊपर है, जिस पर बिजली मंत्री ने आपरेशन शुरू करने की जरूरत महसूस की।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी चाहते थे कि बिजली चोरों के विरुद्ध कार्रवाई होनी चाहिए। गांवों में बिजली चोरी की आदत बंद कर वह लोगों में बिलों को भरने की इच्छा शक्ति बना चुके हैं। अब साढ़े पांच हजार गांव ऐसे हैं, जहां बिजली की चोरी नहीं हो रही और उनमें 24 घंटे आपूर्ति की जा रही है।

बिजली मंत्री रणजीत चौटाला ने जब अपने आपरेशन के बारे में सीएम से चर्चा की तो उन्होंने इसकी मंजूरी दे दी। इस पूरे मिशन को इतना गोपनीय रखा गया कि किसी अधिकारी ने इसे लीक करने की हिम्मत नहीं जुटाई। अधिकारियों को पहले ही हिदायत दे दी गई थी कि यदि आपरेशन लीक हुआ तो उनके विरुद्ध पहले कार्रवाई होगी, बिजली चोरी करने वाले लोगों के विरुद्ध बाद में।

बिजली निगमों की टीम ने गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, रेवाड़ी, नारनौल, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा, भिवानी व जींद में लगातार दो दिन तक 'सर्जिकल स्ट्राइक' चलाया। बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास व सीआइडी चीफ आलोक मित्तल लगातार इस आपरेशन पर निगाह रखते रहे। बिजली विभाग की 236 टीमों में से प्रत्येक टीम में तीन से लेकर पांच तक अधिकारी व कर्मचारी शामिल किए गए। छापेमारी के बाद 2735 घरों में भी बिजली चोरी पकड़ी गई। इनमें गुरुग्राम, फरीदाबाद, मानेसर, रेवाड़ी व धारूहेड़ा शहरों के घर तथा पीजी शामिल हैं।

छापे के दौरान खुलासा हुआ कि पीजी संचालकों ने पीजी के लिए भी घरेलू कनेक्शन लिए हुए थे। इसी तरह 195 बड़े शोरूम, शापिंग माल, छोटे माल व बड़ी कंपनियों के दफ्तरों में बिजली की चोरी पकड़ी गई। कुल 206 इंडस्ट्री में छापा मारा गया और इनमें से 32 में बड़े स्तर पर चोरी पकड़ी गई। शुरूआत में बिजली चोरी के सभी मामलों में 12 करोड़ रुपये के करीब का जुर्माना लगाया गया। सरकार का मानना है कि इस मुहिम से 200 करोड़ रुपये से अधिक की रिकवरी अकेले मार्च में होने की उम्मीद है। उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम में सोनीपत, पानीपत, करनाल, कैथल, कुरुक्षेत्र, यमुनानगर, अंबाला और पंचकूला जिले कवर होंगे।

जानिए कहां चोरी के कितने मामले पकड़े

शहर        चोरी केस

फरीदाबाद-  244

पलवल -     332

रेवाड़ी-       140

नारनौल-    171

हिसार-      380

गुरुग्राम-।- 219

गुरुग्राम-।।- 282

फतेहाबाद-   180

सिरसा -       192

भिवानी -      280

जींद -         315

-----------------------------

कुल -        2735

-------------------------------

'आज तक कोई दूसरा नहीं कर पाया ऐसा साहस'

'' आज तक कोई सरकार बिजली चोरी रोकने का साहस नहीं जुटा पाई। हमारे पास ऐसे इनपुट आ रहे थे कि प्रदेश में काफी जगहों पर बिजली की चोरी हो रही है। हमारे लाइनलास बढ़े हुए थे। फिर भी हमने लोगों को शुरू में बिजली की चोरी रोकने, बिजली के वैध कनैक्शन लेने तथा बिजली के बिलों का भुगतान करने के लिए प्रेरित किया। इसके अच्छे नतीजे सामने आए। साढ़े पांच हजार गांवों में अब 24 घंटे बिजली मिल रही है। प्रदेश में हम 20 लाख स्मार्ट मीटर लगाने की योजना पर आगे बढ़ रहे हैं। अब जो बिजली चोरी पकड़ी गई है, उसमें विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत भी सामने आई। इस अभियान से लाइन लास घटेगा, विभाग का राजस्व बढ़ेगा, लोगों को समुचित आपूर्ति होगी तथा बिजली सस्ती होने का रास्ता खुलेगा।

                                                                                              - मनोहर लाल, मुख्यमंत्री, हरियाणा।

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.