हरियाणा में गणतंत्र दिवस पर किसान आंदोलन का साया, सीएम का कार्यक्रम स्थल भी बदला

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल की फाइल फोटो।

हरियाणा में किसान आंदोलन को लेकर सरकार फूंक फूंक कर कदम उठा रही है। गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथियों की सूची में तीसरी बार बदलाव किया गया है। सीएम मनोहर लाल अब पानीपत की जगह पंचकूला में तिरंगा फहराएंगे।

Publish Date:Mon, 25 Jan 2021 04:53 PM (IST) Author: Kamlesh Bhatt

जेएनएन, चंडीगढ़। करनाल के कैमला प्रकरण के बाद हरियाणा सरकार राष्ट्रीय गौरव के प्रतीक गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल और कुछ मंत्रियों के कार्यक्रमों में किसान संगठनों द्वारा खलल डालने की खुफिया रिपोर्ट के बाद एक बार फिर करीब आधा दर्जन स्थानों पर मुख्य अतिथि बदले गए हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल अब पानीपत के बजाय पंचकूला में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। पानीपत में मुख्य सचिव विजय वर्धन को तिरंगा फहराने की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं, खेल राज्यमंत्री संदीप सिंह का नाम जिलों के मुख्य अतिथि की सूची से हटा दिया गया है। किसान आंदोलन से प्रभावित दस जिलों में आइएएस अफसरों को कमान सौंपी गई है।

यह भी देखें: Republic Day Parade: गर्व के पल, राजपथ पर NCC Airwing चंडीगढ़ की पूर्व कैडेट प्रीति करेंंगी तीनों सेनाओं का नेतृत्व

पंचकूला में पहले राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को मुख्य अतिथि बनाया गया था, जो अब राजभवन में ही ध्वजारोहण करेंगे। शनिवार को इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई थी। सोमवार को मुख्य सचिव ने नए सिरे से शेड्यूल जारी किया है जिसके मुताबिक मुख्यमंत्री मनोहर लाल पंचकूला में मुख्य अतिथि होंगे। सोनीपत के कुंडली बार्डर पर बड़ी संख्या में किसान जमा हैं, जो कि पानीपत से अधिक दूर नहीं हैं।

यह भी देखें: पंजाब के CM कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले- एडिट वीडियो ने 'आप' की निराशा और धोखेबाजी को दर्शाया

सीआइडी ने सरकार को रिपोर्ट दी थी कि किसान संगठन पानीपत में सीएम के कार्यक्रम में बाधा डाल सकते हैं। इसके बाद सीएम का प्रोग्राम पानीपत से हटाकर पंचकूला में कर दिया गया। इसी तरह किसानों द्वारा कुछ मंत्रियों के कार्यक्रम में अड़ंगा डालने की खुफिया रिपोर्ट के बाद उनके कार्यक्रम स्थल बदले गए हैं। श्रम रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक के कार्यक्रम में तीसरी बार बदलाव हुआ है। पहले उन्हें सिरसा से हटाकर पलवल में मुख्य अतिथि बनाया गया था, लेकिन अब उनकी ड्यूटी फरीदाबाद में लगाई गई है।

यह भी देखें: अच्छी खबर... डेढ़ माह में इंडस्ट्री में 32 हजार नई नौकरियां, पटरी पर लौटा लुधियाना उद्योग

पहले यहां खेल राज्य मंत्री संदीप सिंह को तिरंगा फहराना था, लेकिन अब वह कहीं पर भी मुख्य अतिथि नहीं होंगे। स्वास्थ्य कारणों से अनिल विज को पहले ही घर पर आराम दिया गया है।  उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला अंबाला में होंगे। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा को रेवाड़ी से हटाकर भिवानी की जिम्मेदारी सौंपी गई है। रेवाड़ी में कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल तिरंगा फहराएंगे जिनकी ड्यूटी पहले रोहतक में लगाई गई थी।

यह भी देखें: farmer's Tractor Parade: रैली को लेकर बढ़ी पुलिस की मुश्किलें, हरियाणा के CM मनोहर लाल ले रहे पल-पल का फीडबैक

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा नूंह में ध्वजारोहण करेंगी। पहले उन्हें फतेहाबाद में मुख्य अतिथि बनाया गया था। हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता को पहले ही यमुनानगर से हटाकर कुरुक्षेत्र, बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला को भिवानी की जगह यमुनानगर, सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल को नूंह से हटाकर करनाल कर दिया गया था। डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार महेंद्रगढ़, शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुरुग्राम, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओम प्रकाश यादव झज्जर में ध्वज फहराएंगे।

छह जिलों में डीसी व तीन में कमिश्नर मुख्य अतिथि

सोनीपत में रोहतक के मंडल आयुक्त, हिसार में हिसार के मंडलायुक्त और पलवल में फरीदाबाद के मंडल आयुक्त राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। फतेहाबाद, रोहतक, कैथल, जींद, चरखी दादरी व सिरसा में स्थानीय उपायुक्तों को राष्ट्रीय ध्वज फहराने की जिम्मेदारी दी गई है। मुख्य सचिव कार्यालय की ओर से स्पष्ट किया गया है कि यदि इन कार्यक्रमों में कोई मंत्री गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले पाया तो वहां पर उपायुक्त तिरंगा फहराएंगे।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.