गुुरुग्राम और फरीदाबाद सहित हरियाणा के चार जिलों में स्‍कूल बंद, जानें क्‍या है कारण

Schools Close in Haryana हरियाणा सरकार ने फरीदाबर और गुरुग्राम सहित चार जिलों मेंेअगले आदेश तक सभी स्‍कूलोंं को बंद करने का आदेश दिया है। राज्‍य सरकार ने यह कदम अत्‍यधिक प्रदूषण की हालत को देखते हुए उठाया है।

Sunil Kumar JhaPublish:Fri, 03 Dec 2021 01:06 PM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 01:20 PM (IST)
गुुरुग्राम और फरीदाबाद सहित हरियाणा के चार जिलों में स्‍कूल बंद, जानें क्‍या है कारण
गुुरुग्राम और फरीदाबाद सहित हरियाणा के चार जिलों में स्‍कूल बंद, जानें क्‍या है कारण

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। एनसीआर में प्रदूषण के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने प्रदेश के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में अगले आदेश तक स्कूल बंद कर दिए हैं। पहले भी इन चारों जिलों में स्कूलों को बंद किया गया था, लेकिन प्रदूषण की स्थिति सामान्य होने के बाद उन्हें खोल दिया गया था। पर्यावरण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव की ओर से जारी आदेशों में स्कूल बंद करने को कहा गया है।

एनसीआर के 14 जिलों में निर्माण कार्य नहीं होंगे और डीजल के जेनरेटर भी नहीं चलेंगे

एनजीटी की ओर से प्रदूषण को कम करने के लिए राज्य सरकारों को हिदायतें दी गई हैं। इस कड़ी में हरियाणा के पर्यावरण विभाग ने एनसीार में पड़ने वाले प्रदेश के सभी 14  जिलों में निर्माण कार्य बंद कर दिए हैं, ताकि उनसे उड़ने वाली धूल की वजह से प्रदूषण न बढ़े। पर्यावरण विभाग ने अपने आदेश में स्प्ष्ट किया है कि इन जिलों में प्लंबर, मकानों की आंतरिक सज्जा, बिजली और बढ़ई के काम जारी रहेंगे। इन कामों के करने से प्रदूषण नहीं फैलेगा।

उद्यमियों को उत्पादन में नुकसान न हो, इसलिए नियमित बिजली आपूर्ति के दिए आदेश

प्रदेश सरकार ने एनसीआर के 14 जिलों में डीजल के जेनरेटर सेट चलाने पर भी पाबंदी लगा दी है। साथ ही विभाग विभाग को निर्देश दिए हैं कि इन सभी जिलों में बिजली आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए। जेनरेटर बंद होने से किसी उद्यमी अथवा दुकानदार का कामकाज प्रभावित नहीं हो पाए।

बता दें कि हरियाणा में प्रदूषण के कारण बुरी हालत है। हरियाणा के अधिकतर शहरों खासकर एनसीआर के शहरों में प्रदूषण का स्‍तर फिर बढ़ गया है। इससे पहले भी गुरुग्राम और फरीदाबाद सहित एनसीआर के शहरों में स्‍कूूलों को बंद कर दिया गया था। इसके बाद 1 दिसंबर को स्‍कूूल खुले थे, लेकिन प्रदूषण का स्‍तर फिर चिंताजनक हालत में पहुंच जाने के बाद हरियाणा सरकार ने स्‍कूलों को बंद करने का फैसला किया।