Covid Omicron Variant Alert: गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित हरियाणा में रोडवेज बसों में होगी सख्ती

Covid Omicron Variant Alert कोरोना के तीसरे वेरिएंट आोमिक्रान से बचाव के लिए हरियाणा सरकार सजग हो गई है। स्कूली बसों में बच्चों को पूरी क्षमता के साथ बैठाने पर रोक रहेगी। परिवहन विभाग की ओर से शिक्षा विभाग को चिट्ठी लिखी जाती।

Kamlesh BhattThu, 02 Dec 2021 03:08 PM (IST)
हरियाणा में कोविड के नए वेरिएंट को लेकर सख्ती। सांकेतिक फोटो

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। Covid Omicron Variant Alert: कोविड (Covid19) के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को देखते हुए हरियाणा सरकार अलर्ट हो गई है। स्वास्थ्य विभाग जहां इससे बचने की तैयारियों में जुटा है, वहीं परिवहन विभाग ने बसों में फिर से सख्ती करने का खाका तैयार किया है। परिवहन विभाग की बसों में कोरोना प्रोटोकाल को सख्ती से लागू किया जाएगा।

परिवहन मंत्री पंडित मूलचंद शर्मा ने इसके लिए विभाग के आला अधिकारियों को हिदायतें दी हैं। बसों के चालकों व परिचालकों को भी कोरोना प्रोटोकाल का अनुपालन करने के आदेश जारी किए जा रहे हैं। दो बार आ चुकी कोरोना लहर में हरियाणा के परिवहन विभाग को डेढ़ हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान हो चुका है। कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की दस्तक की देखते हुए हरियाणा सरकार ने इससे बचाव की तैयारियां तेज कर दी हैं।

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज विभागीय अधिकारियों की लगातार बैठकें ले रहे हैं। नए वेरिएंट की जांच के लिए पीजीआइ रोहतक में मशीन लगाने का निर्णय लिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सभी सिविल सर्जन को अस्पतालों में दवाइयों का पूरा स्टाक रखने को कहा है। साथ ही, मरीज मिलने की स्थिति में उनके उपचार के लिए भी उचित प्रबंध करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

हरियाणा सरकार रोडवेज की बसों को चरणबद्ध तरीके से सड़कों पर पहले ही उतार चुकी है। कोरोना की पहली व दूसरी लहर के दौरान बसों का संचालन बंद किया गया था। तब बसें बंद होने की वजह से अकेले परिवहन विभाग को 1800 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। वर्तमान में रोडवेज की 2800 बसों को सड़कों पर उतारा जा चुका है। अब कोरोना के नए वेरिएंट की आहट के बीच बसों में सवारियों को लेकर फिर से बंदिशें लगाई जा सकती हैं।

यात्रियों को एक सीट छोड़कर दूसरी पर बैठने को कहा जा रहा है। साथ बिना मास्क के यात्रा पर रोक लगा दी गई है। चंडीगढ़ व नई दिल्ली के अलावा हरियाणा के विभिन्न जिलों से परिवहन की बसें दूसरे राज्यों में जा रही हैं। उत्तर प्रदेश में वर्तमान में 150, उत्तराखंड में 50, राजस्थान में 237, चंडीगढ़ में 350, पंजाब में 118, हिमाचल प्रदेश में 73, नई दिल्ली में 264 तथा जम्मू-कश्मीर में 18 बसों का संचालन हो रहा है। गुरुग्राम से वोल्वो की सात तथा चंडीगढ़ से नौ वोल्वो बसों को फिलहाल चलाया जा रहा है। सभी बसों में चालकों व परिचालकों को भी कोरोना प्रोटोकाल का अनुपालन करना होगा।

निजी स्कूलों की बसों को पूरी क्षमता के साथ चलाया जा रहा है। इस पर अब परिवहन विभाग की नजर है। बसों में अधिक बच्चों को बैठाने पर रोक लगाई जाने वाली है। इसके लिए परिवहन विभाग जल्द ही शिक्षा विभाग को पत्र लिखेगा, ताकि प्राइवेट स्कूलों की बसों में कोरोना से बचाव की गाइड लाइन का पालन सख्ती से हो सके। परिवहन मंत्री पंडित मूलचंद शर्मा ने कहा कि कोरोना से बचाव सरकार की प्राथमिकता है और इसके लिए हरसंभव फैसले लिए जाएंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.