मनोहर लाल की पंजाब के CM कैप्टन अमरिंदर सिंह को चुनौती, गन्ने का भाव हरियाणा के समान कर एरियर चुकाएं

कृषि सुधार कानूूनोंं को लेकर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने एक बार फिर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा है। कहा कि अगर वह गन्ना किसानों के हितैषी हैं तो हरियाणा की तर्ज पर भाव बढ़ा एरियर चुकाएं।

Kamlesh BhattSat, 11 Sep 2021 05:31 PM (IST)
मनोहर लाल व कैप्टन अमरिंदर सिंह की फाइल फोटो।

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। कृषि सुधार कानूनों पर चल रही सियासत के बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फिर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि पड़ोसी प्रदेश ने विधानसभा चुनाव को नजदीक देखकर चार साल बाद गन्ने का भाव बढ़ाया है, जबकि हम बिना चुनाव भी किसानों के गन्ने का भाव बढ़ाते आ रहे हैं। अगर पंजाब सरकार किसान हितैषी होने का इतना ही दंभ भरती है तो किसानों को हमारी तर्ज पर गन्ने का भाव देकर पिछला एरियर भी चुकाए।

मुख्यमंत्री ने यह बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ की अगुवाई में पहुंचे सैकड़ों किसानों से रू-ब-रू होते हुए कही। केंद्र सरकार द्वारा छह रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने तथा प्रदेश में गन्ने का भाव देश में सर्वाधिक देने पर किसान सीएम को बधाई देने चंडीगढ़ पहुंचे थे। सीएम ने कहा कि हमने गन्ने का भाव 12 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर इसे 350 रुपये से 362 रुपये किया है। पंजाब से यह दो रुपये ज्यादा है।

इस दौरान किसानों ने सीएम को गन्नों के पौधों तथा बाजरे के सिरटों से बने हुए ‘बुके’ देकर उनका सम्मान किया। साथ ही सिरोपा व पगड़ी पहनाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी गन्ना मिल में किसान के गन्ना का पैसा नहीं मरने देंगे। उनको बिल्कुल भी नुकसान नहीं होने देंगे। सीएम ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों पर आरोप लगाया कि उनके कार्यकाल में फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा तब की जाती थी जब अधिकतर किसान औने-पौने दामों में अपनी फसल बेच चुके होते थे।

मनोहर लाल ने कहा कि कांग्रेस को लोगों को गुमराह करना बंद करना चाहिए। किसान आंदोलन में एक खास वर्ग के लोग शामिल हैं। ये सभी किसान नहीं हैं। इस तरह की सभी हरकतें राजनीति से प्रेरित हैं और हर कोई इस तरह के बयानों के पीछे (हरियाणा सरकार के खिलाफ) के लोगों से वाकिफ हैंं।

मौजूदा सरकार में छोटे किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी देते हुए कहा कि एग्रो-बेस्ड उद्योग तथा पशुपालन व्यवसाय में उनको ऋण आदि की सुविधा दी जा रही है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में उठाए गए कदमों से अन्य राज्यों की सरकार से तुलना करेंगे तो हमेशा हमारी सरकार सब पर भारी पड़ेगी।

बढ़े दामों पर किसानों ने जताई खुशी

जींद से आए किसान रामस्वरूप ने जहां बाजरे का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने पर मुख्यमंत्री का आभार जताया, वहीं यमुनानगर जिलेे से आए किसान नौशाद ने गन्ने का भाव देश में सबसे अधिक देने पर धन्यवाद किया। इसी प्रकार किसान सुरेंद्र चीमा व करतार सिंह समेत कई किसानों ने केंद्र व राज्य सरकार द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने पर खुशी जताते हुए भविष्य के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.