हरियाणा में अंबेडकर जयंती पर होने वाले कार्यक्रमों का स्वरूप बदला, मनोहर लाल सोनीपत व दुष्यंत चौटाला रेवाड़ी में होंगे

संविधान निर्माता बीआर अंबेडकर की फाइल फोटो।

हरियाणा सरकार ने अंबेडकर जयंती पर होने वाले कार्यक्रमों का स्वरूप बदल दिया है। भाजपा की तरफ से सूचना दी गई कि अंबेडकर जयंती पर राज्य में कार्यक्रम होंगे लेकिन इनका आयोजन पार्टी स्तर पर किया जाएगा ।

Kamlesh BhattSun, 11 Apr 2021 03:40 PM (IST)

जेएनएन, चंडीगढ़। संविधान निर्माता बाबा साहब डा. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर होने वाले कार्यक्रमों का स्वरूप बदल दिया गया है। पहले यह कार्यक्रम हर जिले में राज्य सरकार की तरफ से होने थे, लेकिन रविवार सुबह को इन कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया गया। तब कयास लगाए गए कि किसान जत्थेबंदियों के कथित विरोध और कोरोना के फैलाव से बचने को इन कार्यक्रमों को स्थगित किया गया। रविवार शाम को ही भाजपा की तरफ से सूचना दी गई कि अंबेडकर जयंती पर कार्यक्रम होंगे, लेकिन इनका आयोजन पार्टी स्तर पर किया जाएगा।

हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ की ओर से जारी सूचना के मुताबिक रेवाड़ी और सोनीपत में पार्टी के अलग से कार्यक्रम नहीं होंगे, क्योंकि इन दोनों जगहों पर राजकीय कार्यक्रम आयोजिति किए जाएंगे। सोनीपत में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और रेवाड़ी में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला मुख्य वक्ता होंगे। पानीपत में सांसद नायब सैनी और सिरसा में विधानसभा उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा को अंबेडकर जयंती के कार्यक्रमों का मुख्त वक्ता बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, 9वीं से 12वीं कक्षा तक के बच्चों को इसी सत्र से मिलेगी मुफ्त शिक्षा

पिछले दिनों मुख्यमंत्री के आवास पर हुई अनौपचारिक बैठक में अंबेडकर जयंती पर कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया था। इनका प्रारूप अभी फाइनल नहीं हुआ था, लेकिन अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की ओर से जिलावार मंत्रियों की सूची जारी कर दी गई। इस पर सरकार ने खासी नाराजगी जताई, जिसके आधार पर इन कार्यक्रमों को रद करने का परिपत्र जारी हुआ। रविवार देर रात ओमप्रकाश धनखड़ की ओर से पार्टी स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाने की जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें: कोटकपूरा गोलीकांड मामले में पंजाब सरकार को झटका, हाई कोर्ट ने खारिज की जांच रिपोर्ट, नई SIT बनाने के आदेश

भाजपा के सह प्रवक्ता रणदीप घनघस के अनुसार रविवार को कैथल में प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ तथा यमुनानगर में केंद्रीय राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया की मौजूदगी में इन कार्यक्रमों की शुरुआत हो चुकी है। विभिन्न जिलों में केंद्रीय मंत्रियों, राज्य सरकार के मंत्रियों, सांसदों, पूर्व सांसदों, विधायकों, पूर्व विधायकों और प्रमुख नेताओं व कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के दिन कालका व अंबाला में कार्यक्रम होंगे, जिनमें केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया, गृह मंत्री अनिल विज, स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता, पूर्व मंत्री कृष्ण बेदी, पूर्व विधायक लतिका शर्मा, खेल राज्य मंत्री संदीप सिंह, विधायक असीम गोयल, राजबीर बराड़ा और पूर्व विधायक संतोष सारवान शामिल होंगे।

कुरुक्षेत्र में 18 अप्रैल को आयोजन होगा, जिसमें सांसद नायब सिंह सैनी समेत आधा दर्जन नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है। करनाल में भी 18 अप्रैल को कार्यक्रम होगा, जिसमें शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर मुख्य अतिथि होंगे। इन कार्यक्रमों में सांसदों व विधायकों की भी ड्यूटी लगी है। पानीपत में 13 अप्रैल को आयोजित कार्यक्रम में गृह मंत्री अनिल विज मुख्य वक्ता होंगे। सोनीपत में 14 अप्रैल को मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने तयशुदा कार्यक्रम के तहत जाएंगे। जींद में 25 अप्रैल को आयोजन होगा, जिसमें प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ भागीदारी करेंगे। रोहतक में 14 अप्रैल को कार्यक्रम होगा, जिसमें धनखड़ अपनी टीम के साथ रहेंगे। झज्जर में 18 व सिरसा में 14 अप्रैल को कार्यक्रम होंगे।

यह भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीनेशन सिर्फ 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का ही क्यों, पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में उठा सवाल

झज्जर में मंत्री बनवारी लाल और सिरसा में पूर्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की ड्यूटी लगाई गई है। हिसार में 18 अप्रैल को आयोजन होगा। फतेहाबाद में 14 अप्रैल को पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, भिवानी में इसी दिन ओमप्रकाश धनखड़, दादरी में 18 अप्रैल को पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, रेवाड़ी में 14 अप्रैल को दुष्यंत चौटाला व केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह मुख्य वक्ता होंगे। महेंद्रगढ़ में 18 अप्रैल को प्रो. रामबिलास शर्मा, गुरुग्राम में 18 अप्रैल को केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत, नूंह में 13 अप्रैल को राव इंद्रजीत, पलवल में 15 अप्रैल को केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और फरीदाबाद में 14 अप्रैल को कृष्णपाल गुर्जर ही कार्यक्रमों में मुख्य वक्ता होंगे। यहां मंत्री मूलचंद शर्मा, पूर्व मंत्री विपुल गोयल, विधायक नयनपाल रावत, सीमा त्रिखा, राजेश नागर और नरेंद्र गुप्ता की ड्यूटी लगाई गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.