Electricity Bill Payment: हरियाणा बिजली निगम का Paytm से टूटा करार, फिर भी बिजली उपभोक्ता कर सकेंगे बिल भुगतान

Electricity Bill Payment हरियाणा बिजली निगम का पेटीएम के साथ करार टूट गया है। हालांकि उपभोक्ता पहले की तरह पेटीएम से बिजली बिलों का भुगतान कर सकेंगे। शाम को बिजली निगम ने यह स्पष्ट कर दिया है ।

Kamlesh BhattMon, 13 Sep 2021 03:24 PM (IST)
पेटीएम से बिजली बिल जमा करा सकेंगे उपभोक्ता। सांकेतिक फोटो

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा में बिजली निगमों का पेटीएम वालेट से समझौता टूट गया है। इसके बावजूद उपभोक्ता पेटीएम से बिलों का भुगतान कर सकेंगे। पहले उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम ने पहली सितंबर से पेटीएम के जरिये कोई भुगतान स्वीकार नहीं करने का निर्देश दिया था, लेकिन शाम होते-होते स्पष्टीकरण जारी कर दिया कि सभी डिजिटल भुगतानों को वैकल्पिक चैनलों के माध्यम से संसाधित किया जाएगा। उपभोक्ता बिजली बिलों का भुगतान पहले की भांति पेटीएम से कर सकते हैं।

दरअसल, पेटीएम द्वारा उपभोक्ताओं के बिलों के भुगतान के बदले सरकार से ज्यादा पैसा मांगने पर बात बिगड़ी। पेटीएम को प्रति बिल भुगतान की एवज में सरकार अपने खजाने से दो रुपये देती है। पेटीएम ने पिछले दिनों न केवल इस राशि को बढ़ाकर दो रुपये 45 पैसे करने की शर्त रख दी, बल्कि उपभोक्ताओं से भी सुविधा शुल्क के रूप में 1.45 फीसद राशि वसूलने की शर्त लगा दी। सरकार अपने हिस्से की राशि बढ़ाने को तैयार थी, लेकिन उपभोक्ताओं पर सुविधा शुल्क थोपने से इन्कार कर दिया। बात नहीं बनी तो सरकार ने पेटीएम के साथ लंबे समय से चले आ रहे अनुबंध को खत्म कर दिया।

बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने कहा कि अगर पेटीएम की शर्त को हम मान लेते तो डिजिटल प्लेटफार्म पर मौजूद दूसरी कंपनियां भी ज्यादा भुगतान की मांग करतीं। हम किसी को भी उपभोक्ता से अतिरिक्त चार्ज करने की अनुमति नहीं दे सकते, इसलिए सरकार ने पेटीएम से अनुबंध खत्म करने का फैसला लिया है। इसके बावजूद उपभोक्ताओं के हित प्रभावित नहीं होंगे। वह पहले की तरह पेटीएम से भुगतान कर सकते हैं। उन्हें कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।

स्मार्ट मीटर लगवाओ, बिजली बिल में पांच फीसद की छूट पाओ

अगले तीन साल में 30 लाख स्मार्ट मीटर लगाने का लक्ष्य लेकर चल रही प्रदेश सरकार ने नई तकनीक वाले मीटर लगवाने वाले उपभोक्तताओं को बिजली बिल में पांच फीसद छूट देने की घोषणा की है। प्रदेश में अभी तक चार लाख से अधिक स्मार्ट बिजली मीटर लगाए जा चुके हैं। इन मीटरों की खास बात यह है कि आनलाइन रिचार्ज के साथ प्री-पेड सुविधा भी उपलब्ध है। गुरुग्राम, फरीदाबाद, पंचकूला और करनाल में 30 सितंबर तक करीब एक लाख स्मार्ट मीटर और लगाए जाएंगे।

इन शहरों में नए कनेक्शन के लिए आवेदन करने वाले उपभोक्ताओं या फिर पुराने खराब मीटर को बदलने की स्थिति में स्मार्ट मीटर लगवाना अनिवार्य किया गया है। प्री-पेड कनेक्शन लेने के लिए उपभोक्ता को किसी भी प्रकार की सिक्योरिटी जमा नहीं करवानी पड़ेगी। उपभोक्ता को समय-समय पर रिचार्ज राशि के शेष बैलेंस संबंधी एसएमएस भेजा जाएगा। इसके बावजूद यदि उपभोक्ता अपने खाते को रिचार्ज करने में असफल रहता है तो बैलेंस खत्म होने पर कनेक्शन काट दिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.