Night curfew in Haryana: लोगों ने दिखाई लापरवाही तो हुई सख्ती, नाइट कर्फ्यू के तीन फायदे और नुकसान

हरियाणा में नाइट कर्फ्यू लगाया गया। सांकेतिक फोटो

Night curfew in Haryana हरियाणा में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं। हरियाणा सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। नाइट कर्फ्यू रात नौ से सुबह पांच बजे तक रहेगा ।

Kamlesh BhattMon, 12 Apr 2021 11:58 AM (IST)

जेएनएन, चंडीगढ़। Night curfew in Haryana: हरियाणा में कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। सोमवार शाम से प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लागू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में नाइट कर्फ्यू को कोरोना कर्फ्यू का नाम दिया था। उनकी नजर में इस नाम से लोगों में जागरूकता आएगी और उन्हें याद रहेगा कि कोरोना का संक्रमण खत्म नहीं हुआ है। अब प्रदेश में रोजाना रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट (रात्रि) कर्फ्यू रहेगा।

नाइट कर्फ्यू के दौरान किसी भी व्यक्ति को अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। गैर जरूरी कार्य से सार्वजनिक स्थलों और सड़कों पर घूमने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट और भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके तहत जुर्माने से लेकर कैद तक का प्रविधान है। राजधानी चंडीगढ़ के साथ ही पड़ोसी पंजाब और दिल्ली सहित कई राज्यों में पहले ही नाइट कर्फ्यू लग चुका है।

यह भी पढ़ें: Sonu Sood करेंगे कोविड टीकाकरण के लिए प्रेरित, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बनाया ब्रांड एंबेस्डर

मुख्यमंत्री मनोहर लाल और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के बीच हुई चर्चा के बाद राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्तायुक्त संजीव कौशल ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए। सभी उपायुक्तों को नाइट कर्फ्यू सख्ती से लागू करने को कहा गया है। गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सभी उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों, शहरी निकायों और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि सार्वजनिक स्थलों पर लोगों को मास्क पहनना सुनिश्चित करें। अगर कहीं आदेशों का पालन नहीं हो रहा है तो आरोपितों के चालान करें। हर हाल में कोरोना मानकों का पालन कराया जाए।

यह भी पढ़ें: स्क्रीन पर दिखेगी हरियाणा से शुरू महिलाओं की पीरियड चार्ट मुहिम, जानें क्या है यह अभियान

नाइट कर्फ्यू में इन्हें मिलेगी छूट

कानून व्यवस्था और आपातकालीन सेवाओं में लगे कार्यकारी मजिस्ट्रेट, पुलिस कर्मचारी, वर्दी में सैन्य कर्मी, स्वास्थ्य, बिजली और अग्निशमन विभाग के कर्मचारी, कोविड-19 ड्यूटी पर लगे तमाम लोगों और मान्यता प्राप्त पत्रकारों को रात्रि कर्फ्यू में घर से बाहर निकलने की छूट दी गई है। हालांकि इस दौरान उन्हें अपना परिचय पत्र साथ रखना होगा।

यह भी पढ़ें: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने केंद्रीय कृषि मंत्री को लिखा पत्र, कहा- किसानों से फिर शुरू हो वार्ता

अधिकृत अफसरों द्वारा जारी मूवमेंट कर्फ्यू पास

अंतरराज्यीय या राज्य स्तर पर वस्तुओं की ढुलाई में लगे वाहनों को रात्रि कर्फ्यू से छूट दी गई है। प्रदेश की सीमा से गुजरने वाले दूसरे राज्यों के सभी वाहनों और लोगों को प्रदेश की सीमाओं से गुजरने की छूट रहेगी। मेडिकल स्टोर, अस्पताल और एटीएम 24 घंटे खुले रहेंगे-गर्भवती महिलाएं और मरीज स्वास्थ्य सेवाओं के लिए रात्रि में भी आ-जा सकते हैं। यात्रा के लिए एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या अंतरराज्यीय बस अड््डों पर आने-जाने में प्रतिबंध लागू नहीं होगा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस तरह से किया नाइट कर्फ्यू का समर्थन

कोरोना महामारी के विकराल रूप लेने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने नाइट कर्फ्यू का समर्थन करते हुए कहा था कि इसे कोरोना कर्फ्यू का नाम देने से जागरूकता बढ़ेगी। दुनिया भर में रात्रि कर्फ्यू को स्वीकार किया गया है। हमें नाईट कर्फ्यू को कोरोना कर्फ्यू के नाम से याद रखना चाहिए। कुछ बुद्दिजीवी डिबेट करते हैं कि क्या कोरोना केवल रात में आता है।

हकीकत में दुनिया ने रात्रि कर्फ्यू के प्रयोग को स्वीकार किया है, क्योंकि हर व्यक्ति को कर्फ्यू समय में ख्याल आता है कि मैं कोरोना काल में जी रहा हूं और बाकी जीवन व्यवस्थाओं पर कम से कम प्रभाव होता है। अच्छा होगा हम कर्फ्यू रात्रि नौ बजे से सुबह पांच बजे तक चलाएं ताकि बाकी व्यवस्था प्रभावित न हो।

नाइट कर्फ्यू के यह होंगे फायदे

अमूमन लोग अब बेपरवाह हो गए हैं। वह देर रात तक घरों से बाहर रहते हैं। इसलिए जल्दी घर आएंगे तो सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ कम हो जाएगी। संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम होगा। बार, रेस्टोरेंट, होटल, शराब के ठेके और पार्लर ऐसे स्थान हैं, जहां लोग एकसाथ जमा होते हैं। नाइट कर्फ्यू से इनका बचाव होगा। गुरुग्राम व फरीदाबाद को छोड़कर बाकी जिलों में उद्योग धंधों पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि नाइट शिफ्ट बंद हो जाएगी और दिन में ही सारा कामकाज हो सकेगा।

कर्फ्यू के यह नुकसान संभव

हरियाणा के एनसीआर इलाके में उद्योगों में काम के लिए रात की शिफ्ट का कामकाज प्रभावित हो सकता है। खाना खाने के बाद लोग रात को गर्मी के मौसम में सैर करने निकलते थे, जो अब बंद हो जाएगा। उन्हें नौ बजे से पहले अपनी सैर निपटानी होगी। नाइट कर्फ्यू से लाकडाउन की आशंका बढ़ेगी और कामकाजी लोगों में अपने घर जाने के अफरातफरी का माहौल बनेगा, जबकि असलियत ऐसी नहीं है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.