सात साल-सात कमाल के जरिये हरियाणा में सरकार का झंडा लेकर निकला भाजपा संगठन

हरियाणा की मनोहर लाल सरकार को 27 अक्टूबर को सात साल पूरे हो रहे हैं। मनोहर सरकार के कामकाज को लेकर संगठन फील्ड में उतर गया है। इस दौरान लोगों को सरकार द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताया जाएगा।

Kamlesh BhattSat, 23 Oct 2021 03:54 PM (IST)
हरियाणा में सरकार का झंडा लेकर फील्ड में उतरा संगठन। सांकेतिक फोटो

अनुराग अग्रवाल, चंडीगढ़। हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार ने सात साल में यूं तो करीब डेढ़ सौ ऐसे काम किए हैं, जो उसे दूसरी सरकारों से अलग खड़ा करते हैं, लेकिन सरकार और संगठन के लोग प्रदेश सरकार के सात प्रमुख कामों को लेकर जनता के बीच निकल पड़े हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ द्वारा बुलाई गई प्रांतीय परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार के इन सात कामों पर संगठन की मुहर लगाई जा चुकी है। किसान संगठनों के आंदोलन के बीच तिरंगा यात्रा के बाद भाजपा का यह दूसरा बड़ा आयोजन है, जिसके बूते सरकार और संगठन के लोग सीधे जनता के बीच पहुंच रहे हैं।

भाजपा सरकार के सात साल 27 अक्टूबर को पूरे हो रहे हैं। बाद के दो सालों से जननायक जनता पार्टी अपने 10 विधायकों के साथ भाजपा सरकार में प्रमुख साझीदार की भूमिका में है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कामकाज की जिस मजबूती के साथ तारीफ की है, उससे मुख्यमंत्री ताकतवर होकर उभरे हैं। मोदी का आशीर्वाद मिलते ही न केवल मुख्यमंत्री, बल्कि सरकार और संगठन के तमाम लोग प्रदेश सरकार के सात प्रमुख कामों की फेहरिस्त लेकर फील्ड में निकल पड़े हैं।

किसानों के लिए जोखिम फ्री खेती, फसल खरीद व आनलाइन भुगतान, बेहतर जल प्रबंधन, सुशासन एवं पारदर्शी सरकार, सामाजिक सुरक्षा, मैरिट पर नौकरियां तथा गरीब कल्याण की ऐसी सात योजनाएं हैं, जिन्हें सरकार अपनी विशेष उपलब्धि मानती है। इन्हीं सात प्रमुख कामों के आधार पर भाजपा के लोग मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार के प्रति लोगों से विश्वास बरकरार रखने की अपेक्षा कर रहे हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ का मानना है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार के सात कमाल सिर्फ सात काम नहीं हैं, बल्कि यह अपने आप में सैकड़ों कामों को समेटे हुए हैं, जिनका जिक्र लोगों के बीच जाकर किया जा रहा है।

इस तरह से जोखिम फ्री हुआ किसान

हुड्डा की सरकार के समय का बचा हुआ मुआवजा किसानों को दिया खराबा होने पर आपदा राशि छह हजार से बढ़ाकर 12 हजार रुपये एकड़ की फसलों के खराने का आकलन 50 की बजाय 33 प्रतिशत पर शुरू हुआ फसल बीमा योजना लागू और चार हजार करोड़ रुपये की राहत राशि दी फसल बीमा से वंचित किसानों को 12 हजार रुपये प्रति एकड़ का मुआवजा पशुधन क्रेडिट कार्ड योजना में 733 करोड़ के ऋण 2030 तक बागवानी क्षेत्र डबल व उत्पादन तीन गुणा बढ़ाने के लिए काम

फसल खरीद व आनलाइन भुगतान में अग्रणी

प्रदेश में 11 फसलों की खरीद एमएसपी पर और भुगतान 72 घंटे में खातों में गन्नौर में अंतरराष्ट्रीय फल व सब्जी मंडी तथा पिंजौर में सेब मंडी की रूपरेखा गन्ने का सबसे अधिक 362 रुपये क्विंटल का भाव बाजरा भावांतर भरपाई योजना में शामिल और 600 रुपये क्विंटल की सब्सिडी 21 फसलों को भावांतर भरपाई योजना में शामिल किया गया 72 घंटे में भुगतान नहीं होने पर नौ फीसद ब्याज सभी योजनाओं का आनलाइन भुगतान

बेहतर जल प्रबंधन ने बढ़ाई सरकार की साख

हर खेत को पानी देते हुए नांगलचौधरी की टेल तक पानी पहुंचाया पुराने नहरी जलतंत्र को दुरुस्त किया गया सूक्ष्म सिंचाई परियोजनाओं को लागू करने पर जोर सोलर पंप लगाने पर किसानों को सब्सिडी

सुशासन एवं पारदर्शी व्यवस्था से बढ़ा विश्वास

जनहित की 551 सेवाओं को आनलाइन किया, जिससे भ्रष्टाचार खत्म हुआ नौकरियों के लिए आवेदन करने हेतु पोर्टल बनाया और बार-बार की फीस बंद की कर्मचारियों खासतौर से शिक्षकों की आनलाइन तबादला नीति को दूसरे राज्यों ने अपनाया सीएम विंडो पर सात लाख शिकायतों का निवारण 120 विभागों और 22 जिला उपायुक्तों के कार्यालयों में ई-आफिस की सुविधा

गरीबी दूर करने के लिए आगे बढ़ी सरकार

परिवार पहचान पत्रों के जरिये वास्तविक गरीबों की पहचान कर उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ बीपीएल परिवार की आय सीमा एक लाख 20 हजार से बढ़ाकर एक लाख 80 हजार की गई गरीब परिवारों की बेटियों का विवाह शगुन 50 हजार से बढ़ाकर 71 हजार किया गरीब रेहड़ी वालों को बिना गारंटी का 10 हजार का लोन और मकान मरम्मत के लिए 80 हजार की मदद गरीब परिवारों के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की मुफ्त तैयारी आयुष्मान योजना के तहत गरीबों को 383 करोड़ का मुफ्त इलाज

मैरिट में नौकरियां बनीं हरियाणा की पहचान

सरकारी नौकरियों में पर्ची व खर्ची बंद और योग्यता पर नौकरियां एकल पंजीकरण सुविधा के बाद साढ़े चार लाख युवाओं ने कराया पंजीकरण प्रतिभावान खिलाड़ियों को सरकारी नौकरियां व गांवों में विकास की सुविधा स्कूल व कालेज स्तर पर खिलाड़ियों की तैयारी सरकारी नौकरियों में इंटरव्यू सिस्टम खत्म किया

सामाजिक सुरक्षा में अग्रणी हरियाणा

राज्य के 18 लाख बुजुर्गों को 2500 रुपये माहवार पेंशन विधवा व दिव्यांगजनों को पेंशन की सामाजिक सुरक्षा 60 साल से अधिक आयु के श्रमिकों को 2750 रुपये सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का प्रीमियम सरकारी खाते से भुगतान बुजुर्गों के लिए निशुल्क इलाज

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
You have used all of your free pageviews.
Please subscribe to access more content.
Dismiss
Please register to access this content.
To continue viewing the content you love, please sign in or create a new account
Dismiss
You must subscribe to access this content.
To continue viewing the content you love, please choose one of our subscriptions today.