90 डिग्री का मोड़, हादसों को देता है दावत

90 डिग्री का मोड़, हादसों को देता है दावत

लघु सचिवालय के साथ लगते गांव रहराना से होते हुए करीब दर्जन भर से अधिक गांवों को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाली टीकरी ब्राह्मण-रहराना रोड पर 90 डिग्री का तीव्र (खतरनाक) मोड़ ग्रामीणों व वाहन चालकों के लिए खतरे का सबब बना हुआ है।

JagranFri, 26 Feb 2021 07:10 PM (IST)

जागरण संवाददाता, पलवल : लघु सचिवालय के साथ लगते गांव रहराना से होते हुए करीब दर्जन भर से अधिक गांवों को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाली टीकरी ब्राह्मण-रहराना रोड पर 90 डिग्री का तीव्र (खतरनाक) मोड़ ग्रामीणों व वाहन चालकों के लिए खतरे का सबब बना हुआ है। हादसों को दावत देने वाले इस मोड़ पर आए दिन वाहन टकराते हैं। क्योंकि इस मार्ग पर इंडस्ट्री और निजी स्कूल भी हैं और भारी वाहनों का भी निकलना होता है। ऐसे में सड़क के मोड़ को ठीक किए जाने की मांग समय-समय पर उठती रही है।

गांव रहराना मार्ग कुसलीपुर, टीकरी ब्राह्मण, कलसाड़ा, भमरौला, रींडका, गहलब, बजादा पहाड़ी, कौंडल सहित फुलवाड़ी व हथीन सहित कई अन्य गांवों का प्रमुख मार्ग है। क्योंकि लघु सचिवालय और जिला अदालत से जोड़ने के लिए भी यह प्रमुख मार्ग है इसलिए कई बार जाम की स्थिति भी बन जाती है। समस्या को लेकर जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों की चौखट पर कई बार ग्रामीणों ने दस्तक दी, लेकिन हालात जस के तस है। अदालत में भी जा चुका है मामला :

समस्या को लेकर महालक्ष्मी माल्ट प्रबंधन ने उच्च न्यायालय में भी गुहार लगाई थी। सड़क के मोड़ के फोटो देखकर न्यायाधीश ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तलब किया था, जिसमें अधिकारियों ने भी इसे खतरनाक माना था और दुरुस्त कराने की बात कही थी। विभागीय जानकारी के अनुसार सड़क को ठीक करने के लिए करीब चौथाई एकड़ (एक हजार गज) जमीन अधिगृहित की जानी है, लेकिन अभी वह प्रस्ताव सिरे नहीं चढ़ पाया है। विभागीय जानकारी के अनुसार पलवल से इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए विभाग के मुख्यालय में भेजा गया है। सड़क पर तीव्र मोड़ के चलते दुर्घटनाओं का खतरा बना रहता है। इसे अविलंब ठीक कराया जाना चाहिए, ताकि आवागमन सुरक्षित रहे।

- पूनम बंसल, एमडी, महालक्ष्मी माल्ट गांव के इस मोड़ पर आए दिन हादसे होते रहते हैं। मोड़ को ठीक कराए जाने के लिए कई बार विभागीय अधिकारियों से गुहार लगाई है लेकिन, समाधान नहीं हुआ।

- विजय कुमार, रहराना इस मोड़ पर आए दिन खासकर तिपहिया (आटो) पलट जाते हैं। क्योंकि मोड़ इतना खतरनाक है कि दूसरी पार का कुछ पता ही नहीं चलता। ऐसे में वाहनों में भिड़ंत का भी खतरा बना रहता है।

- संजय, रहराना यह समस्या हमारी जानकारी में भी है। सड़क के मोड़ को ठीक कराने के लिए कुछ जमीन अधिगृहित की जानी है। विभाग के मुख्यालय को प्रस्ताव बना कर भेजा गया है। मंजूरी मिलते ही काम कराया जाएगा।

- नरेंद्र यादव, एक्सइएन, पीडब्लयूडी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.