HBSE 12th Result 2020: छात्राओं ने संघर्ष कर विज्ञान संकाय को बचाया फिर उसी में पाई मंजिल

HBSE 12th Result 2020: छात्राओं ने संघर्ष कर विज्ञान संकाय को बचाया फिर उसी में पाई मंजिल

विज्ञान संकाय की 18 छात्राओं में से 6 ने मेरिट प्राप्त की जबकि सभी ने प्रथम श्रेणी से परीक्षा पास कर शिक्षा विभाग के अधिकारियों को सोचने पर मजबूर कर दिया।

Mangal YadavWed, 22 Jul 2020 04:40 PM (IST)

फिरोजपुर झिरका (मेवात) [अख्तर अलवी]। अगर नेक नीति से मन में कुछ कर गुजरने की इच्छा हो तो ऊपरवाला भी आपका उसमें पूरा साथ और सहयोग देता है। ईश्वर का कुछ ऐसा ही साथ व सहयोग फिरोजपुर झिरका के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पढऩे वाली उन छात्राओं को भी मिला है जिन्होंने पहले विज्ञान संकाय विषय को स्कूल में बचाए रखने के लिए संघर्ष किया और फिर उसी विषय की परीक्षाओं में जबरदस्त अंक पाकर सभी को सोचने पर विवश भी कर दिया।

दरअसल स्थानीय शिक्षा विभाग में बैठे कुछ अधिकारी चाहते थे कि स्कूल से विज्ञान संकाय को खत्म किया जाए। बाकायदा विज्ञान संकाय को खत्म करने के लिए विभाग द्वारा पत्र भी जारी कर दिया गया था। लेकिन 12वीं में पढऩे वाली कुछ छात्राओं की इसमें गहरी रूचि थी। छात्राओं और अधिकारियों के बीच विज्ञान संकाय विषय को लेकर ऐसी नपी की स्कूल के मुख्य गेट पर ताला लगने तक की नौबत आ गई।

छात्राओं द्वारा इसके लिए संघर्ष का रास्ता अपनाया गया। कई दिनों तक छात्राओं ने विद्यालय के मुख्य गेट पर प्रदर्शन किया था। बाद में उनके द्वारा इसके लिए मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजा। छात्राओं के संघर्ष के बाद विज्ञान संकाय आखिरकार विद्यालय में बरकरार रहा। मेवात में ऐसा पहली बार हुआ जब यहां की छात्राएं किसी विषय की पढ़ाई को लेकर संघर्ष करती दिखाई दी और फिर उसमें बेहतर अंक प्राप्त कर अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया। इस विषय में 18 छात्राओं ने इस साल परीक्षा दी। मंगलवार की शाम जब रिजल्ट आए तो सभी छात्राओं ने वो कर दिखाया जिसकी उम्मीद शायद ही किसी ने की होगी।

विज्ञान संकाय की 18 छात्राओं में से 6 ने मेरिट प्राप्त की जबकि सभी ने प्रथम श्रेणी से परीक्षा पास कर शिक्षा विभाग के अधिकारियों को सोचने पर मजबूर कर दिया। इनमें 16 लड़कियां ऐसी रहीं जिन्होंने 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त कर प्राइवेट विद्यालयों को मात देने का काम किया है। वैसे उपरोक्त विद्यालय में विज्ञान संकाय की शुरुआत पूर्व में जिला शिक्षा अधिकारी रहे डॉ. दिनेश शास्त्री द्वारा की गई थी। अब उनकी इस पहल का नतीजा हम सभी के सामने है। इनमें विद्यालय की आबिदा ने सभी विषयों में 444 अंक प्राप्त किए।

इसी तरह ज्योति ने 418, स्वीटी ने 417, सपना ने 413, गीता ने 411, रूकमीना ने 409 अंक लेकर मेरिट से परीक्षा पास करने का गौरव प्राप्त किया है। वहीं बायोलोजी के अध्यापक डॉ. पवन कुमार यादव व कैमिस्ट्री की अध्यापिका कुसुम मलिक, फिजीक्स की कांता, हिंदी के अध्यापक राजेंद्र सिंह, अंग्रेजी के अध्यापक जितेंद्र और गणित के अध्यापक हरिओम गोयल ने सभी छात्राओं को बधाई दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.