Coronavirus: नूंह में होम क्वारंटाइन किए गए कोरोना संदिग्ध ने लगाई फांसी

Coronavirus: नूंह में होम क्वारंटाइन किए गए कोरोना संदिग्ध ने लगाई फांसी

Coronavirus हरियाणा के नूंह जिले में होम क्वारंटाइन किए गए एक युवक ने फांसी लगा जान दी। मामला जौरासी का है।

Mangal YadavTue, 14 Apr 2020 04:12 PM (IST)

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। हरियाणा के नूंह जिले में होम क्वारंटाइन किए गए एक युवक ने फांसी लगा जान दी। मामला जौरासी का है। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची। फिलहाल सुसाइड की वजह अभी तक अभी तक साफ नहीं हो सकी है।

मिली जानकारी के अनुसार, युवक को एक अप्रैल से 29 अप्रैल तक होम क्वारंटाइन किया गया था। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना की जांच के लिए सैंपल भी लिया था लेकिन अभी जांच रिपोर्ट नहीं आयी है।

कोरोना की गिरफ्त में नूंह के ग्रामीण इलाके

कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा मामलों के साथ रेड जोन में शामिल नूंह के ग्रामीण इलाके बुरी तरह प्रभावित हैं। इसे देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट मोड में है। स्वास्थ्य महकमे की टीमें लगातार ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर लोगों के नमूने संग्रह कर रही है। खानपुर घाटी गांव को प्रशासन ने पूरी तरह सील कर दिया गया है वहीं डुंगेजा में भी पुलिस का सख्त पहरा है। पिनगवां पीएचसी के प्रभारी डॉ. मनप्रीत सिंह ने बताया कि खानपुर घाटी एवं डुंगेजा गांव के 53 लोगों को होम क्वारंटाइन भी कर दिया गया है।

वहीं, स्वास्थ्य विभाग की मानें तो जिले में अब तक जो 45 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं इनमें 38 जमाती हैं। जबकि सात ग्रामीण क्षेत्रों से हैं। सर्वाधिक संक्रमित खानपुर घाटी गांव के हैं। इस कारण प्रशासन की इस गांव पर खास नजर है। अधिकारियों के नेतृत्व में टीमें लगातार यहां का दौरा कर रही हैं। पुलिस प्रशासन ने सड़कों को जेसीबी से खोदकर गांव को पूरी तरह से सील कर दिया है। उपायुक्त पंकज कुमार ने बताया कि गांव खानपुर घाटी में डोर टू डोर जाकर करीब 4500 मास्क लोगों में बांटे गए हैं। सभी लोगों से अनिवार्य रूप से मास्क लगाने को कहा जा रहा है, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इस कार्य को रेड क्रॉस सोसाइटी की टीम की मदद से पूरा किया गया।

उल्लेखनीय है कि खानपुर घाटी में कोरोना पाजिटिव की संख्या सात होने के बाद प्रशासन ने इस गांव सील कर दिया है। ताकि कोई भी व्यक्ति बाहर से भीतर और भीतर से बाहर न जा सके। आवश्यक वस्तुओं व सब्जियों की आपूर्ति भी प्रशासन की ओर से ही करवाई जा रही है। उपायुक्त पंकज कुमार, पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारनिया व सिविल सर्जन डॉ. वीरेंद्र यादव भी गांव खानपुर घाटी का दौरा कर ग्रामीणों से घरों में ही रहने की अपील करते रहे हैं, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सका।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.