बिना ट्रैफिक लाइटों के बेतरतीब हुई यातायात व्यवस्था

बिना ट्रैफिक लाइटों के बेतरतीब हुई यातायात व्यवस्था
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 05:02 PM (IST) Author: Jagran

सुदेश कुमार , नारनौल :

शहर के महावीर चौक व हीरो होंडा चौक पर लगी ट्रैफिक लाइटें काफी समय से खराब पड़ी है। जिससे शहर की यातायात व्यवस्था बेतरतीब हो रही है। जबकि नगर परिषद अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जबकि प्रशासनिक अधिकारी दोनों ही चौराहों से प्रतिदिन आवागमन करते हैं। ट्रैफिक लाइटें खराब होने के कारण यातायात पुलिस कर्मचारी दिनभर धूप, बारिश व सर्दी में यातायात को सुचारु करने में लगे रहते हैं। ट्रैफिक लाइटें एक वर्ष से अधिक समय से खराब पड़ी हैं। यही नहीं महावीर चौक पर दो दिशाओं की लाइटें ही गायब हो गई हैं। इसी प्रकार हीरो होंडा चौक पर लगी लाइटें भी क्षतिग्रस्त हो रही है, जोकि लगने के कुछ समय बाद से खराब पड़ी है, लेकिन लंबा समय बीतने के बाद भी आज तक किसी अधिकारी ने इनकी ओर ध्यान देने की जहमत नहीं उठाई।

बता दें कि करीब पांच-छह वर्ष पूर्व शहर में बढ़ते यातायात दबाव को व्यवस्थित करने के लिए नगर परिषद नारनौल ने महावीर चौक व हीरो होंडा चौक पर लाखों रुपये की बिजली संचालित ट्रैफिक लाइटें लगवाई थीं। इन लाइटों ने कुछ माह तक ठीक से कार्य किया, लेकिन उसके बाद ये खराब हो गई। जिसके बाद नगर परिषद ने केवल महावीर चौक की लाइटों की मरम्मत करवाकर ठीक करवाकर सुचारु करवा दिया गया, लेकिन थोड़े-थोड़े समय के अंतराल के बाद ये लाइटें बार-बार खराब होती रही। जिस पर नगर परिषद नारनौल ने केवल महावीर चौक पर बिजली संचालित ट्रैफिक लाइटों के स्थान पर सौर ऊर्जा से संचालित लाइटें लगवाई। इन लाइटों ने कुछ समय ठीक से कार्य किया, लेकिन इसके बाद ये भी खराब हो गईं। जिन्हें संबंधित ठेकेदार द्वारा ठीक करवाया गया। इसी बीच रात के समय एक अनियंत्रित ट्रक ने टक्कर मारकर एक तरफ की लाइट को तोड़ दिया। वहीं कुछ माह बाद एक अन्य दिशा में लगी लाइट को भी एक ट्रक ने टक्कर मार कर तोड़ दिया। एक तरफ की लाइट को नगर परिषद कर्मचारी उतार ले गए थे। अब महावीर चौक पर केवल एक दिशा में लाइट लगी हुई है।

बिना ट्रैफिक लाइट के बेतरतीब दौड़ते हैं वाहन :

महावीर चौक व हीरो होंडा चौक दोनों ही शहर के मुख्य चौराहे हैं। इनसे दिन-रात अत्यधिक वाहनों का आवागमन रहता है। ट्रैफिक लाइट नहीं होने के कारण चारों तरफ के वाहन चालक बेतरतीब दौड़ते हैं तथा अपने वाहन को जल्दी निकालने के चक्कर में तेजी से दौड़ाते हैं। ऐसे में हादसा होने का भय बना ही रहता है। इससे यातायात नियमों को उल्लंघन भी हो रहा है। वर्जन : ----

बजट के अभाव में ट्रैफिक लाइटों का कार्य रुका हुआ है। जैसे ही बजट उपलब्ध होता है। ट्रैफिक लाइटों को दुरुस्त करवाकर शुरु करवाया जाएगा।

--अनिल कुमार, सचिव नगर परिषद नारनौल।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.