शोध से संबंधित तकनीकी पहलुओं से अवगत हुए प्रतिभागी

शोध से संबंधित तकनीकी पहलुओं से अवगत हुए प्रतिभागी

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय महेंद्रगढ़ भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद नई दिल्ली आदि के सहयोग से शोध प्रतिधि पर कार्यशाला जारी है।

Publish Date:Wed, 08 Jul 2020 05:51 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, महेंद्रगढ़ : हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय महेंद्रगढ़, भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद नई दिल्ली, स्टूडेंट फॉर होलेस्टिक डेवलपमेंट ऑफ ह्यूमेनिटी के सहयोग से शोध प्रविधि पर कार्यशाला जारी है। इसमें विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभागियों को प्रतिदिन शोध के विभिन्न पक्षों से अवगत कराया जा रहा है। कार्यशाला के पांचवें दिन बनारस हिदू विश्वविद्यालय के प्रो. राकेश पांडे व इलाहाबाद विश्वविद्यालय के डॉ. प्रमेंद्र सिंह पुंडीर ने प्रतिभागियों को संबोधित किया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आरसी कुहाड़ ने कहा कि शोध कार्य करते समय सफलता हासिल करने के लिए जरूरी है कि इस कार्य को बेहद सावधानी व तकनीकी पक्षों को ध्यान में रखते हुए किया जाए। कार्यशाला में शोध से संबंधित तकनीकी पहलुओं का प्रशिक्षण प्रतिभागियों के लिए उपयोगी साबित होगा।

डॉ. राकेश पांडे ने प्रतिभागियों को मल्टीवेरिएंट तकनीक-फेक्टर एनालिसिस के विषय में विस्तार से समझाया। उन्होंने इसके लिए ग्राफिक्स के सहयोग से तथ्यों के मूल्यांकन व अवलोकन में होने वाली सुविधा पर भी प्रकाश डाला। वहीं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के डॉ. प्रमेंद्र सिंह पुंडीर ने अवधारणा के मूल्यांकन पर अपने विचार रखे। उन्होंने इसके लिए प्रयोग में आने वाले विभिन्न माध्यमों का उल्लेख करते हुए प्रतिभागियों को शोध कार्य में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। कार्यशाला के संयोजक व सह-संयोजक डॉ. आनन्द शर्मा व डॉ. अजय पाल शर्मा के साथ शोध हरियाणा के प्रमुख राहुल गोयत भी उपस्थित रहे। कार्यशाला में उपस्थित विशेषज्ञों का परिचय अर्थशास्त्र विभाग के सह-आचार्य डॉ. रंजन अनेजा ने कराया और धन्यवाद ज्ञापन प्रबंधन अध्ययन विभाग के सहायक आचार्य डॉ. अजय पाल शर्मा ने दिया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.