नारनौल: त्योहार पर खुशियां मातम में बदल गईं, पति-पत्नी और बेटी की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत

नारनौल: त्योहार पर खुशियां मातम में बदल गईं, पति-पत्नी और बेटी की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत

गांव धनौंदा के एक ही परिवार के तीन सदस्यों की झज्जर के पास छूछकवास मार्ग स्थित गांव मारोत मोड़ पर डंपर के साथ हुई टक्कर में मौत हो गई।

Prateek KumarMon, 03 Aug 2020 05:13 PM (IST)

नारनौल [ज्ञान प्रसाद]। रक्षाबंधन का दिन जहां सुबह से खुशियों और उल्लास से भरा बीत रहा था वहीं शाम होते होते खुशियां मातम में बदल गई। जिले के कनीना उपमंडल के गांव धनौंदा निवासी एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत ने गांव ही नहीं जिले को झकझोर कर रख दिया।

मारोत मोड़ के पास सड़क दुर्घटना में हुई मौत

गांव धनौंदा के एक ही परिवार के तीन सदस्यों की झज्जर के पास छूछकवास मार्ग स्थित गांव मारोत मोड़ पर डंपर के साथ हुई टक्कर में मौत हो गई। सोमवार को रक्षाबंधन पर राखी बांधने के लिए परिवार अपने नाती के यहां जा रहा था कि रास्ते में यह हादसा हुआ। परिवार अपनों को राखी भी नहीं बांध पाया।

राखी बांधने जाते वक्त हुआ हादसा

गांव धनौंदा निवासी ओमप्रकाश, पत्नी सुशीला और पुत्री मनीषा के साथ मोटरसाइकिल से झज्जर जा रहे थे। झज्जर के पास ओमप्रकाश का ससुराल है। रास्ते में जब वे छूछकवास मार्ग पर गांव मारोत मोड़ के पास पहुंचे तो आगे से आ रहे डंपर ने उन्हें कुचल दिया। हादसें में तीनों की मौके पर मौत हो गई।

तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया

तीनों के शवों का पोस्टमार्टम झज्जर नागरिक अस्पताल में कराया जा रहा है। ग्रामीणों के अनुसार ओमप्रकाश बतासा की रेहड़ी लगाकर परिवार का पालन पोषण करता था। वह घर पर पुत्र और पुत्री को छोड़कर हंसी खुशी निकले थे। उन्हें क्या पता था इस प्रकार का हादसा होगा।

गांव में शोक की लहर

घटना का समाचार गांव में फैलते ही शोक की लहर दौड़ गई। गांव के सरपंच रुपेंद्र ने बताया कि इस हादसे की सूचना उन्हें मिल गई है। पूरा गांव शोक की लहर में डूबा हुआ है। पांंच लोगों के परिवार में मृतक का एक पुत्र और एक पुत्री अब बचे हैं। हादसे की वजह से त्योहार की खुशियां मातम में बदल गईं।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.