top menutop menutop menu

शराब ठेकेदार बनकर रात के समय वाहनों की चैकिग से सरपंचों का ऐतराज

संवाद सहयोगी, इस्माईलाबाद : शराब ठेकेदार बनकर रात के समय वाहनों को जांचने और वाहन सवारों की तलाशी लेने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले को लेकर सरपंचों ने कड़ा ऐतराज जताया है। मामले को लेकर कई गांवों की ग्राम पंचायतें पहले अपने स्तर पर पड़ताल कर रही हैं।

हुआ यूं करीब आधी रात के समय गांव थड़ौली के दो लोग मोटरसाइकिल पर सवार होकर अंबाला हिसार हाइवे से गुजर रहे थे। इनके वाहन को हाइवे किनारे खड़ी जीप में सवार लोगों ने रुकवा लिया। मोटरसाइकिल सवारों की तलाशी ली गई। दोनों की जेबों की तलाशी ली गई। तलाशी में नकदी ना मिलने पर सवाल जवाब किए गए। मोटरसाइकिल सवारों ने बताया कि वे नकदी घर पर ही भूल आए हैं। पहले इनके मोबाइल भी रख लिए गए थे जो कि बाद में वापस किए गए। तलाशी लेने वालों ने खुद को शराब ठेकेदार बताया। यह भी बताया कि वे हर रोज रात को चैकिग करते हैं। मोटरसाइकिल सवारों ने मामले से थड़ौली के सरपंच सुमित कुमार को अवगत करवाया। सरपंच ने इसकी सूचना मीरापुर के सरपंच गुरविद्र सिंह, अजरावर गांव के सरपंच सुरजीत सैनी को दी। इस्माईलाबाद नगरपालिका चेयरमैन संजीव अरोड़ा को भी मामले की जानकारी दी गई। सभी जनप्रतिनिधियों ने हाइवे पर वाहन की पड़ताल की। मगर कोई अता पता नहीं लगा। जन प्रतिनिधियों ने मामले की लिखित सूचना पुलिस को नहीं दी है। सरपंच सुमित कुमार ने बताया कि पहले भी उसके गांव के कुछ लोगों की रात के समय इसी प्रकार तलाशी ली जा चुकी है। पुलिस का कहना है कि शिकायत मिलते ही तुरंत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.