झांसा रोड पर सरस्वती नदी पर बने पुल को विभाग ने आवाजाही के लिए खोला

- विभाग ने पुल के दोनों ओर दुर्घटनाओं से बचाव के लिए नहीं लगाए दिशा सूचक बोर्ड और ना ही लगाई सफेद पट्टी

JagranMon, 31 May 2021 06:10 AM (IST)
झांसा रोड पर सरस्वती नदी पर बने पुल को विभाग ने आवाजाही के लिए खोला

- विभाग ने पुल के दोनों ओर दुर्घटनाओं से बचाव के लिए नहीं लगाए दिशा सूचक बोर्ड और ना ही लगाई सड़क पर सफेद पट्टी

- विभाग की लापरवाही वाहन चालकों पर पड़ सकती है भारी फोटो संख्या : 03 जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : लोक निर्माण विभाग ने आनन-फानन में झांसा रोड पर सरस्वती नदी पर बने पुल को आवाजाही के लिए खोल दिया है, लेकिन अभी भी पुल निर्माण से संबंधित काफी कार्य बकाया है। दूसरी ओर पुल के दोनों ओर दुर्घटना से बचाव के लिए कोई दिशा सूचक और सफेद पट्टी नहीं लगाई गई है। विभाग की यह लापरवाही वाहन चालकों के जीवन पर भारी पड़ सकती है। रात के समय तो इस पुल पर चलना खतरे से खाली नहीं है। अंधेरे के बीच वाहन चालकों को अपना जीवन खतरे में डालकर आना जाना पड़ रहा है। दूसरी ओर पुल की दोनों तरफ की सड़क अधूरी पड़ी है। अधूरी पड़ी सड़क भी हादसों को निमंत्रण दे रही है।

झांसा रोड पर सरस्वती नदी पर बनने वाले पुल के लिए लोक निर्माण विभाग की ओर से 13 करोड़ 40 लाख रुपये की राशि स्वीकृत की गई थी। लगभग दो वर्ष पहले पुल का निर्माण कार्य शुरू हुआ था। पुल का निर्माण कार्य धीमी गति से चला, नतीजतन पुल को बनने में दो वर्ष से अधिक का समय लग गया। तकरीबन 15 दिन पहले पुल को लोगों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया, जबकि पुल का अभी काफी काम लंबित पड़ा हुआ है। वहीं पुराना पुल अभी भी आवाजाही के लिए खुला है। झांसा रोड निवासी अमरजीत सिंह, हरदेव सिंह, अशोक कुमार ने बताया कि जब से पुल आवाजाही के लिए शुरू हुआ है, कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जल्द ही सड़क के दोनों ओर दिशा सूचक बोर्ड लगाए जाएं, ताकि वाहन चालकों को सचेत किया जा सके। पुल के दोनों ओर की सड़क का कार्य पड़ा है अधूरा:

पुल के दोनों ओर की सड़कों का निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है। पुल के साथ लगते ही कई व्यवसायिक दुकानें हैं, जो सड़क की जद में आ रही हैं। वहीं सड़क के बीच डिवाइडर नहीं बनाए गए, जिससे वाहन चालकों में असमंजस की स्थिति बनी रहती है और ना ही यातायात के उद्देश्य से सड़क पर सफेद पट्टी लगाई गई है। ऐसे में दुर्घटना होने का भय बना रहता है। पुल निर्माण पर अभी तक लगे हैं पांच करोड़ 76 लाख रुपये :

लोक निर्माण विभाग के उपमंडल अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि पुल के निर्माण के लिए विभाग की ओर से 13 करोड़ 40 लाख रुपये स्वीकृत किए गए थे। विभाग ने पुल निर्माण पर अभी तक पांच करोड़ 76 लाख रुपये लगा दिए हैं। अभी भी पुल का काफी कार्य अधूरा है। पुल के दोनों ओर सड़क निर्माण और सेफ्टी वर्क किया जाना है। जिसे अगले सप्ताह तक पूरा कर लिया जाएगा। पुल पर सेफ्टी वर्क के कार्य को अगले सप्ताह तक कर लिया जाएगा पूरा

लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता अरुण भाटिया ने बताया कि अभी पुल को फाइनल टच नहीं दी गई है। पुल के दोनों ओर सेफ्टी वर्क का कार्य बकाया है। जिसे जल्दी ही पूरा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि विभाग पुल निर्माण के कार्य को प्राथमिकता के आधार पर कर रहा है, ताकि वाहन चालकों को कोई दिक्कत ना आए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.