बेटियों को सशक्त बनाने के लिए छह माह में 2050 हस्ताक्षर अभियान चलाए

बेटियों व शिक्षित बनाने और कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग हस्ताक्षर अभियान चलाकर आगे आया है। छह महीने में 2050 हस्ताक्षर अभियान चलाए हैं।

JagranWed, 28 Jul 2021 07:09 AM (IST)
बेटियों को सशक्त बनाने के लिए छह माह में 2050 हस्ताक्षर अभियान चलाए

-महिला एवं बाल विकास विभाग 394 गांवों में लगा चुका गुड्डा-गुड्डी बोर्ड

-ग्रामीण क्षेत्रों में लगाए जा चुके 10550 बेबी शो व स्वास्थ्य शिविर जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : बेटियों व शिक्षित बनाने और कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग हस्ताक्षर अभियान चलाकर आगे आया है। छह महीने में 2050 हस्ताक्षर अभियान चलाए हैं।

डीसी मुकुल कुमार ने महिला एवं बाल विकास विभाग की जून 2021 तक की प्रगति रिपोर्ट पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि जिले में 1075 आंगनबाड़ी केंद्र हैं। इन केंद्रों में 11097 गर्भवती व स्तनपान महिलाओं को न्यूट्रिशियन दिए गए हैं। इसके अलावा छह महीने से छह वर्ष तक के 44350 बच्चों और तीसरी से छठी कक्षा तक के 17332 बच्चों को भी न्यूट्रिशियन मुहैया कराए हैं। सरकार ने 478 लाख रुपये का बजट मुहैया करवाया और इसमें से 402.63 लाख का बजट जून माह 2021 तक खर्च किया है। आपकी बेटी हमारी बेटी योजना के तहत बेटी के नाम पर 21 हजार रुपये की राशि भारतीय जीवन बीमा निगम के माध्यम से निवेश की जा चुकी है। इस जिले में अपनी बेटी हमारी बेटी योजना के तहत 200 लाख रुपये की राशि राज्य सरकार की तरफ से मुहैया करवाई गई है।

महिला एवं बाल विकास विभाग ने जागरूकता के लिए 2021-22 में 55 रैली की हैं और 10550 गुड्डा-गुड्डियों को पंचायतों में डिस्पले किया गया है। इसके साथ 2050 हस्ताक्षर अभियान और 50 नुक्कड़ नाटक का भी आयोजन किया गया है। विभाग की तरफ से ग्रामीण क्षेत्रों में 265 जन्मोत्सव कार्यक्रमों का भी आयोजन भी किया जा चुका है। विभाग की तरफ से कन्या पूजन जैसे 35 कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है और विभाग की सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 33520 बेटियों के खाते भी खोले गए हैं। जिले में अपनी बेटी हमारी बेटी के 12072 लाभार्थी हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.