कई सौ एकड़ पुश्तैनी जमीन के मालिक हैं रंजीत रैना

दिल्ली साउथ के घिटोरनी में करीब एक करोड़ की ड्रग्स के साथ गिरफ्तार हुआ रंजीत रैना कई सौ एकड़ पुश्तैनी जमीन का मालिक है। शाहाबाद के बराड़ा रोड़ पर एक अलग ही गांव स्लेमपुर रैना परिवार का है और जहां कई सौ एकड़ पुश्तैनी जमीन है।

JagranSat, 04 Dec 2021 12:21 AM (IST)
कई सौ एकड़ पुश्तैनी जमीन के मालिक हैं रंजीत रैना

संवाद सहयोगी, शाहाबाद : दिल्ली साउथ के घिटोरनी में करीब एक करोड़ की ड्रग्स के साथ गिरफ्तार हुआ रंजीत रैना कई सौ एकड़ पुश्तैनी जमीन का मालिक है। शाहाबाद के बराड़ा रोड़ पर एक अलग ही गांव स्लेमपुर रैना परिवार का है और जहां कई सौ एकड़ पुश्तैनी जमीन है। रंजीत रैना की राजनीति में पूरी रूचि थी और वह लगातार कांग्रेस, भाजपा व इनेलो से विधानसभा व लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा व्यक्त कर रह था, लेकिन किसी भी पार्टी से उसको टिकट नहीं मिली थी। ऐसा बताया जाता है कि पुराने समय में रैना परिवार नेहरू परिवार से जुड़ा हुआ था। किसान आंदोलन के दौरान बेशक रंजीत रैना सक्रिय रहा हो, लेकिन स्थानीय किसान नेताओं के साथ रैना कभी दिखाई नहीं दिया। हालांकि करीब दो वर्ष पूर्व रंजीत रैना ने अकेले ही मारकंडेय पुल पर पहुंच कर जीटी रोड जाम कर दिया था और कारण बताया था कि उनकी एक शिकायत पर पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। वर्ष 2024 में रंजीत रैना लोकसभा या विधानसभा चुनाव लड़ने का मन बना रहा था और इस बार रैना आजाद उम्मीदवार के तौर पर ताल ठोंकने की तैयारी में था। वहीं रंजीत रैना की ड्रग्स मामले में गिरफ्तारी से शाहाबाद की जनता स्तब्ध है। लोगों में चर्चा है कि इतनी बड़ी जायदाद का मालिक इस नशे के कारोबार में कैसे शामिल हो गया। हालांकि कोविड के दौरान रंजीत रैना ने शाहाबाद के साथ-साथ अपने गांव में लगातार लंगर लगाए रखा था।

राहुल गांधी के कुरुक्षेत्र दौरे में साथ था रैना

किसान आंदोलन से पहले राहुल गांधी के पंजाब से कुरुक्षेत्र में आने के दौरान रंजीत रैना उनके साथ था। रैना के साथ रहने वाले लोगों का कहना है कि उनके परिवार को गांधी परिवार के साथ अच्छा मेलजोल रहा है, मगर अब वह किसी भी पार्टी में नहीं था।

थानेसर रेलवे स्टेशन पर मिला व्यक्ति का शव, शिनाख्त नहीं

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : रेलवे स्टेशन थानेसर के परिसर में सुबह करीब नौ बजे जीआरपी कर्मियों को एक 35 वर्षीय व्यक्ति का शव मिला। शव की शिनाख्त न होने पर सामान्य अस्पताल के शवगृह में रखवाया। जांच अधिकारी जीआरपी एएसआइ अमर सिंह ने बताया कि सुबह उनके पास रेलवे स्टेशन थानेसर से मीमो मिला। जिसके बाद वे टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को अपने कब्जे में लिया। शिनाख्त के लिए आसपास खड़े लोगों से पूछताछ की। लेकिन शव की शिनाख्त नहीं हो पाई। व्यक्ति ने स्लेटी रंग का स्वेटर, हल्की पिक रंग की कमीज, सफेद रंग का गर्म बनियान, काली लाइनदार पैंट पहनी हुई है। जीआरपी शव की शिनाख्त प्रयास में जुटी हुई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.