धार्मिक मामलों में राजनीतिक हस्तेक्षप हो बंद : दादूवाल

धार्मिक मामलों में राजनीतिक हस्तेक्षप हो बंद : दादूवाल
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 07:45 AM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, पिहोवा : हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के नवनिर्वाचित प्रधान जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल ने कहा कि गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं पर अब सिख संगठन चुप नहीं बैठेंगे। धार्मिक मसलों में राजनीतिक हस्तक्षेप के कारण ऐसी घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। यदि समय रहते राजनीति ने धर्म में दखल बंद नहीं किया तो स्थिति गंभीर हो सकती है।

जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल गुरुद्वारा बाऊली साहिब में एचएसजीपीसी के कार्यकारिणी सदस्य जत्थेदार सतपाल सिंह रामगढि़या द्वारा आयोजित अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछली कमेटी ने सिर्फ पदों को भरने का काम किया है। जमीनी स्तर पर गुरुघरों के संचालन को लेकर कोई काम नहीं हुआ। उनका प्रयास है कि एक साल के अंदर सभी गुरुघरों में सेवा की योजनाओं को अमलीजामा पहनाया जाए। उन्होंने कहा कि गुरुद्वारों में संगत को सहूलियत देने के लिए सीसीटीवी कैमरे और वाई-फाई की सुविधा दी जाएगी। कैमरे लगने से गुरुघरों में होने वाली बेअदबी जैसी घटनाओं पर रोक लग सकेगी। उन्होंने कहा कि पंजाब में गुरुग्रंथ साहिब महाराज के 328 स्वरूप लापता होना बड़ी लापरवाही को दर्शाता है। इसके लिए सीधे तौर पर शिरोमणि कमेटी जिम्मेदार है। इसी को लेकर उनके प्रधान गोबिद सिंह लोंगोवाल के घर के सामने धरना देकर उससे जवाब मांगा जा रहा है। गुरुद्वारा साहिब में पहुंचने पर भारतीय किसान यूनियन की तरफ से भी प्रधान बलजीत सिंह दादूवाल का अभिनंदन किया गया। यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष सुखदेव सिंह, जिला प्रधान सुखदेव सिंह सिद्धू, बलविद्र सिंह, कमलजीत सिंह व जोगिद्र सिंह ने उनको सिरोपा पहनाया। दादूवाल ने कहा कि जब तक किसान की सुनवाई नहीं होती। तब तक देश तरक्की नहीं कर सकता। इस मौके पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार सभा के प्रधान कुलवंत सिंह, संप्रदाय दल बाबा फतेह सिंह के प्रधान शेर सिंह, सुखमणि सेवा सोसाइटी के प्रधान हरदेव सिंह राखड़ा, प्रभातफेरी जत्थे से जसवंत सिंह, मुख्तयार सिंह, गुरुद्वारा गुरशरण साहिब विद्यालय के मुखी ज्ञानी वरयाम सिंह, अकाल उस्तत ट्रस्ट से ज्ञानी तेजपाल सिंह, गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा से प्रीतम सिंह मल्ली, बलदेव सिंह, कंबोज सभा से डा. जसविद्र सिंह, गुरुनानक देव चैरिटेबल अस्पताल से डा. परमजीत सिंह, सतनाम सिंह, कृपाल सिंह बेदी, राजिद्र सिंह व सुखविद्र सिंह मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.