परमल धान की आवक कम, अब तक 98.12 लाख क्विंटल की खरीद

जिला भर की अनाज मंडियों से सरकारी खरीद एजेंसियों ने 98 लाख 12 हजार 180 क्विंटल कधान की खरीद का कार्य पूरा कर लिया है। इस खरीद में से अभी तक 89 लाख 93 हजार 990 क्विटल धान का उठान भी कर लिया गया है।

JagranThu, 28 Oct 2021 07:30 AM (IST)
परमल धान की आवक कम, अब तक 98.12 लाख क्विंटल की खरीद

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : जिला भर की अनाज मंडियों से सरकारी खरीद एजेंसियों ने 98 लाख 12 हजार 180 क्विंटल कधान की खरीद का कार्य पूरा कर लिया है। इस खरीद में से अभी तक 89 लाख 93 हजार 990 क्विटल धान का उठान भी कर लिया गया है। परमल धान की कटाई का सीजन अंतिम चरण में पहुंचने पर अब अनाज मंडियों में आवक भी सामान्य हो गई है। आवक सामान्य होने पर अनाज मंडियों में किसानों और आढ़तियों को भी राहत मिल रही है। अब कई अनाज मंडियों में दोबारा 1509 किस्म की धान की आवक भी शुरू हो गई है। इससे पहले मंडियों में जगह न मिलने पर 1509 और 1121 सहित अन्य धान की बोली नहीं हो पा रही थी। इसी के चलते किसान में अपनी धान लेकर नहीं पहुंच रहे थे।

उपायुक्त मुकुल कुमार ने बताया कि कुरुक्षेत्र के अजराना कलां मंडी में 5028 एमटी, बाबैन मंडी में 59149 एमटी, भौर सैयदां में 3187 एमटी, चढुनी जाटान में 2920 एमटी, गुमथला गढु में 29143 एमटी, इस्माईलाबाद में 114098 एमटी, झांसा में 28445 एमटी, कुरुक्षेत्र मंडी में 186285 एमटी, लाडवा मंडी में 135036 एमटी व लुखी मंडी में 583 एमटी की खरीद हुई है। इसी तरह मलिकपुर मंडी में 4066 एमटी, नलवी मंडी में 4799 एमटी, पिपली मंडी में 61949 एमटी, पिहोवा मंडी में 175243 एमटी, शाहबाद मंडी में 136206 एमटी, ठोल मंडी में 30292 एमटी व थाना में 4789 एमटी धान की खरीद पूरी कर ली गई है। अब तक खरीदी गई कुल 98 लाख 12 हजार क्विंटल धान में से 89 लाख 93 हजार क्विंटल धान का उठान भी कर लिया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
You have used all of your free pageviews.
Please subscribe to access more content.
Dismiss
Please register to access this content.
To continue viewing the content you love, please sign in or create a new account
Dismiss
You must subscribe to access this content.
To continue viewing the content you love, please choose one of our subscriptions today.