डेरा प्रमुख व अन्य दोषियों को सजा सुनाए जाने के दौरान दिनभर पुलिस रही अलर्ट

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में डेरा प्रमुख गुरमीत को सीबीआई कोर्ट के सजा सुनाए जाने के दौरान बृहस्पतिवार को दिन भर जिले में रेडअलर्ट रहा। पुलिस ने सुरक्षा के चाक-चौबंद प्रबंध किए। शहर के प्रमुख स्थानों पर पुलिस के जवान तैनात किए गए थे। वहीं जिले में स्थित सभी नामचर्चा घरों के बाहर पुलिस के सुरक्षा कर्मियों की डयूटियां लगाई गई थी। पुलिस की पीसीआर व संबंधित थानों के प्रभारी अपने अपने क्षेत्र में स्थिति पर नजर रखे हुए थे। पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र पाल ¨सह स्वयं पूरे मामले से जुड़े रहे और अधिकारियों से पल-पल की जानकारी लेते रहे। वहीं दिनभर गुप्तचर विभाग के कर्मी भी मामले से संबंधित जानकारी जुटाने में लगे रहे। एसपी सुरेंद्र पाल ¨सह ने बताया कि जिले में 17 पुलिस नाके लगाकर आने जाने वाले लोगों की तलाशी ली गई। सभी डीएसपी जिले के हर क्षेत्र में पेट्रो¨लग कर स्थिति पर नजर बनाए हुए थे। जिले भर में स्थिति सामान्य रही है। कहीं से भी कोई अप्रिय घटना का समाचार नहीं है।

संवाद सहयोगी इस्माईलाबाद के अनुसार हत्या के मामले में डेरा प्रमुख को उम्र कैद की सजा मिलने के बाद पुलिस यकायक अलर्ट पर आ गई है। पुलिस ने पंजाब की ओर जाने वाले रास्तों पर गश्त बढ़ा दी है। वहीं सभी सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस टीमें तैनात की गई हैं। दिनभर अधिकारी पुलिस व्यवस्था का जायजा लेते रहे। पुलिस रात के समय भी अलर्ट पर रहेगी।

पुलिस मुलाजिमों को सवेरे के समय ही जगह जगह तैनात कर दिया गया था। पुलिस की पैनी नजर नाम चर्चा घरों पर रही। पुलिस ने ऐसी जगहों पर भीड़ ही नहीं होने दी। यहां तंगीपुर रोड़, चम्मू चौक, सैनी माजरा व ठोल के आसपास पुलिस ने वाहनों की चे¨कग जारी रखी। पंजाब की ओर जाने वाले मार्गो पर बाहरी वाहनों की छानबीन की गई। बस अड्डे पर भी पुलिस मुस्तैद रखी गई। पुलिस आसपास के होटलों व ढाबों पर भी पैनी नजर रखे हुए है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.