डीएसपी सुभाष करेंगे दीपक की मौत मामले की जांच

बाबैन के गांव कंदौली के दीपक कुमार उर्फ दीपू की संदिग्ध मौत के मामले में अब कुरुक्षेत्र के डीएसपी सुभाष चंद्र मामले की जांच करेंगे। स्वजन व भीम आर्मी डीएसपी लाडवा भारत भूषण व थाना बाबैन पुलिस की जांच से असंतुष्ट थे।

JagranPublish:Thu, 02 Dec 2021 11:38 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 11:38 PM (IST)
डीएसपी सुभाष करेंगे दीपक की मौत मामले की जांच
डीएसपी सुभाष करेंगे दीपक की मौत मामले की जांच

संवाद सहयोगी, लाडवा : बाबैन के गांव कंदौली के दीपक कुमार उर्फ दीपू की संदिग्ध मौत के मामले में अब कुरुक्षेत्र के डीएसपी सुभाष चंद्र मामले की जांच करेंगे। स्वजन व भीम आर्मी डीएसपी लाडवा भारत भूषण व थाना बाबैन पुलिस की जांच से असंतुष्ट थे। भीम आर्मी के जिला प्रधान गुरचरण अंटेड़ी के नेतृत्व में स्वजनों ने पिछले माह दो बार लाडवा डीएसपी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर इंसाफ की गुहार लगाई चुके हैं। 29 नवंबर को भी डीएसपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया था।

भीम आर्मी के जिला प्रधान गुरचरण अंटेडी ने बताया कि स्वजनों को इंसाफ दिलाने के लिए वह कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। दीपक उर्फ दीपू की मौत के मामले में अब डीएसपी सुभाष चंद्र को दी गई है। अब इस मामले की जांच दोबारा से डीएसपी सुभाष चंद्र करेंगे। उन्हें पूरी उम्मीद है कि पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों को सजा देगी और स्वजनों को इंसाफ मिलेगा। भीम आर्मी पुलिस प्रशासन से इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग कर रही है। उन्होंने बताया कि बाबैन खंड के गांव कंदौली निवासी दीपक कुमार उर्फ दीपू ने 16 अक्टूबर को अपने ही घर में फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी। स्वजनों के अनुसार दीपक परेशान चल रहा था। उसकी परेशानी का कारण गांव के ही पिता-पुत्र थे। उन्होंने उसका ट्रैक्टर छीन लिया था।

रोडवेज एससी एंप्लाइज संघर्ष समिति ने सीएम के नाम डीसी को सौंपा ज्ञापन

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : रोडवेज एससी एंप्लाइज संघर्ष समिति आफ हरियाणा की कुरुक्षेत्र डिपो कार्यकारिणी ने परिवहन विभाग के महानिदेशक विरेंद्र दहिया के विरुद्ध एससी एसटी एक्ट के तहत आपराधिक मामला दर्ज करने के लिए डीसी कुरुक्षेत्र के मार्फत मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

समिति चेयरमैन बलवंत सिंह ने कहा कि महानिदेशक विरेंद्र दहिया की ओर से रोडवेज एससी एंप्लाइज संघर्ष समिति आफ हरियाणा के राज्य के प्रतिनिधिमंडल के साथ जातिगत भेदभाव किया है। वह अत्यंत निदनीय कार्य है। परिवहन मंत्री की मौजूदगी में समाज के हकों की आवाज उठाने के दौरान महानिदेशक ने एससी समाज के प्रतिनिधियों का जातीय अपमान किया है। वह पूरे अनुसूचित जाति समाज का अपमान है। जिसे किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। सचिव गुरदास सिरोही ने कहा कि प्रदेश का समाज सरकार से विरेंद्र दहिया के विरुद्ध एससी एसटी एक्ट के तहत आपराधिक मामला दर्ज करने और उनको बर्खास्त करने की मांग करता है। इस मौके पर शेर सिंह, कृष्ण कुमार, विजय कुमार, बिजेंद्र सिंह, राजेश कल्सन, जसमेर मथाना, आनंद, सतीश कुमार, मुकेश कुमार, संजीव कुमार व प्रवीन कुमार मौजूद रहे।