किसानों को 11 हजार करोड़ की आर्थिक मदद दी : डा. पवन सैनी

कुरुक्षेत्र पूर्व विधायक एवं भाजपा के प्रदेश महामंत्री डा. पवन सैनी ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के लिए काम कर रही है। प्रदेश सरकार ने किसान कल्याण की योजनाओं पर सरकारी खजाने के द्वार खोल दिए हैं।

JagranWed, 07 Jul 2021 06:45 AM (IST)
किसानों को 11 हजार करोड़ की आर्थिक मदद दी : डा. पवन सैनी

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : पूर्व विधायक एवं भाजपा के प्रदेश महामंत्री डा. पवन सैनी ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के लिए काम कर रही है। प्रदेश सरकार ने किसान कल्याण की योजनाओं पर सरकारी खजाने के द्वार खोल दिए हैं। प्रदेश के 42 लाख किसानों को करीब 11 हजार करोड़ रुपये की आर्थिक मदद दी है।

उन्होंने यह बात मंगलवार को गांव गिरधारपुरा में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना, फसल बीमा योजना, भावांतर भरपाई योजना और प्राकृतिक आपदा से खराब होने वाली फसल का मुआवजा के तहत किसानों को मदद दी है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में 19.42 लाख किसानों को 2595 करोड़ रुपये की मदद दी है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में प्रदेश के 18.15 लाख किसानों को लाभांवित किया है। इनको 3961 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया है। प्राकृतिक आपदा से फसल खराब होने की स्थिति में 2765 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया है। भावांतर भरपाई योजना में 4184 किसानों को 10.12 करोड़ रुपये की राहत राशि मिली है। इसमें विभिन्न फसलों-सब्जियों के रेट निर्धारित किए जाते हैं। सरकार निर्धारित रेट से कम में सब्जी या फसल बिकने की स्थिति में सरकार नुकसान की भरपाई करती है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फसल के प्राकृतिक नुकसान होने पर फसल बीमा कंपनियों को एक निश्चित तिथि तक उसका मुआवजा देने की बड़ी पहल की है। पहले किसान मुआवजा लेने के लिए भटकते रहते थे। इस मौके पर अवतार सिंह, जोगिद्र सिंह, सतपाल, हरबंस सिंह व नरेंद्र कुमार मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.