कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित व बचाव के लिए जरूरी : सचदेवा

कुरुक्षेत्र कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने कहा कि विश्व की 70 फीसद से अधिक जनता को शीघ्र ही वैक्सीनेशन करने की आवश्यकता है।

JagranWed, 21 Jul 2021 07:23 AM (IST)
कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित व बचाव के लिए जरूरी : सचदेवा

- भारतीय विश्वविद्यालय संघ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित वेबिनार में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने की प्रतिभागिता जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने कहा कि विश्व की 70 फीसद से अधिक जनता को शीघ्र ही वैक्सीनेशन करने की आवश्यकता है। वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहे विश्व को कोविड टीका व अन्य औषधियों को पेटेंट मुक्त करने का अभियान अब गति पकड़ने लगा है।

वह मंगलवार को भारतीय विश्वविद्यालय संघ, गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय ग्रेटर नोएडा, हावर्ड विश्वविद्यालय वाशिगटन डीसी अमेरिका के तत्वावधान में आयोजित वेबिनार में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत व दक्षिण अफ्रीका की ओर से पेटेंट फ्री वैक्सीनेशन व मेडिसिन अभियान में अब कई बड़े देश भी इसके समर्थन में उतर आए हैं। इस अति महत्वपूर्ण मांग के पूरा होने से कोविड से संबंधित दवाओं को न केवल चंद कंपनियों के एकाधिकार से मुक्ति मिलेगी बल्कि आम आदमी को ये दवाइयां सहज सुलभ होने के साथ ही सस्ती भी मिल सकेंगी। उन्होंने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि कोरोना एक नई महामारी के रूप में बनकर उभरी है। कुवि के अधिकांश कर्मचारी व अधिकारी कोरोना की पहली व दूसरी डोज लगवा चुके हैं। यह वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है। भारत सरकार नीति आयोग के उपाध्यक्ष डा. राजीव कुमार ने कहा है कि भारत ने पेटेंट एवं वैक्सीन संबंधी जानकारी दूसरे देशों के साथ सांझा कर विश्वभर को मानवता के कल्याण का संदेश दिया है। हरियाणा राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद के चेयरमैन प्रो. बीके कुठियाला ने कहा कि इस समय पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है। इस महामारी से निपटने के लिए वैश्विक स्तर पर एक साथ मिलकर लड़ने की जरूरत है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.