परीक्षा परिणाम से छात्र-छात्राओं के चेहरे खिले, मिठाई बांट कर साझा की खुशी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से 12वीं के परीक्षा परिणाम में पास होने के बाद विद्यार्थियों के चेहरे खिल उठे।

JagranSat, 31 Jul 2021 07:20 AM (IST)
परीक्षा परिणाम से छात्र-छात्राओं के चेहरे खिले, मिठाई बांट कर साझा की खुशी

जागरण संवाददाता, करनाल : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से 12वीं के परीक्षा परिणाम में लगभग सभी विद्यार्थियों को सफलता हाथ लगी है। 10, 11 और 12वीं के आधार पर तैयार किए गए रिजल्ट को स्कूल व बाहरी सदस्यों की कमेटी द्वारा सीबीएसई को प्रेषित किया गया। सीबीएसई की ओर से बच्चों के रिजल्ट की जांच कर घोषित किया गया है। अधिकतर स्कूलों में लगभग 100 फीसद परीक्षा परिणाम रहा है। जिले के 6032 बच्चों ने आ‌र्ट्स, कामर्स, मेडिकल व नान-मेडिकल के विषयों में सफलता का परचम फहराया। छात्र-छात्राओं ने मिठाई बांट कर खुशी सांझा की और फोन पर एक-दूसरे को बधाई दी। स्कूल प्रबंधकों सहित बच्चों व अभिभावकों में रिजल्ट को लेकर खुशी व्यक्त की है। बैंक कालोनी के अभिभावक अनिल ने बताया कि सीबीएसई की ओर से तैयार किए गए रिजल्ट संतोषजनक है। कान्वेंट स्कूल की छात्रा अंशु नरवाल ने आ‌र्ट्स विषयों में 500 में से 493 अंक हासिल किए हैं। वहीं, प्रताप पब्लिक स्कूल की छात्रा तानवी चुटानी ने कामर्स संकाय में 99.2 फीसद अंक हासिल कर स्कूल में टापर रही है।

रिजल्ट की घोषणा के बाद स्कूलों में खुशी का माहौल

जरनैली कालोनी स्थित प्रताप पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों में पार्थ रावल और संजना ने 98.8 फीसद, रिपुल गर्ग ने 98.2 फीसद, संस्कृति गौतम ने 97.8 फीसद, हिमानी ने 97.4 फीसद अंक लेकर स्कूल का नाम रोशन किया। स्कूल के प्रधान अजय भाटिया ने बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की। प्रधानाचार्या पूनम नेवट के अनुसार स्कूल का परीक्षा परिणाम बच्चों की मेहनत पर निर्भर करता है। बच्चों की सफलता के साथ ही शिक्षकों की सफलता है। इसी तरह, आरएस पब्लिक सीसे स्कूल के प्रबंधक रघुविदर सिंह विर्क ने बताया कि वाणिज्य संकाय में तेजस्वी ने 96.8 फीसद, ध्रुव गुप्ता 94.8 फीसद, विज्ञान संकाय में मन ने 94 फीसद, हिमाश शर्मा ने 93.6 फीसद, कला संकाय में प्रभात पांचाल ने 94 फीसद, कुणाल ने 92.2 फीसद अंक हासिल किए हैं।

मेहनत के बल पर मेरिट में स्थान पाया

दिल्ली पब्लिक स्कूल करनाल की प्रधानाचार्या डा. सुमन मदान ने बताया कि कामर्स संकाय से प्रिया बंसल ने 98 फीसद, श्रुति ने 97.8 फीसद, दीपशिखा लाठर ने 97.6 फीसद अंक प्राप्त कर तृतीय स्थान पर कब्जा किया। विज्ञान संकाय में जियेन ने 96.8, आदित्य सिंह डबास ने 95.4 फीसद, उज्जवल ने 94.4 फीसद अंक हासिल किए। इसी तरह, मोंटफोर्ट व‌र्ल्ड स्कूल में प्रिसिपल तरिद्र कौर ने बताया कि मेडिकल में कशिश और नान-मेडिकल में भास्कर ने 98.8 फीसद अंक हासिल किए जबकि स्कूल के 19 विद्यार्थियों ने 95 फीसद से अधिक अंक हासिल कर मेरिट में जगह बनाई है। वहीं, सेक्टर-7 दयाल सिंह पब्लिक स्कूल में सावन शर्मा, नवनीत कौर, रजत बंसल अव्वल रहे। प्रधानाचार्या शालिनी नारंग ने बताया कि स्कूल के सभी 191 विद्यार्थियों ने प्रथम स्थान हासिल किया है। अव्वल विद्यार्थियों ने स्कूल प्रबंधक ने बधाई दी

दयाल सिंह पब्लिक स्कूल, दयाल सिंह कालोनी, करनाल का बारहवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा। विद्यालय की प्राचार्या सुषमा देवगन ने बताया कि नान-मेडिकल में निष्ठा शर्मा ने 99.4 फीसद अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान और श्रेया ने 98.4 अंकों के साथ द्वितीय, वंश 98 अंक प्राप्त कर तृतीय स्थान प्राप्त किया। कामर्स में हर्षित ने 98.6, मेडिकल में साक्षी ने 97.6 फीसद अंक हासिल किए। मुख्य अध्यापिका प्रिया कपूर ने भी सभी बच्चों को बधाई दी। वहीं, डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल मधुबन का परीक्षा परिणाम 100 फीसद रहा। विज्ञान संकाय से मुस्कान शर्मा ने 95.6 फीसद अंक लेकर स्कूल में टाप किया। 82 विद्यार्थियों में 12 ने 90 से अधिक, 39 बच्चों ने 80 से अधिक और 67 विद्यार्थियों ने 70 फीसद से भी अधिक अंक हासिल कर सफलता प्राप्त की। प्रधानाचार्य मंतोष पाल सिंह ने बच्चों की मेहनत की सराहना की। जेपीएस अकादमी के विद्यार्थियों का शानदार प्रदर्शन

असंध स्थित जेपीएस अकादमी के कामर्स में नियति 98.4, मेडिकल में सिमरन ने 98.2, नान-मेडिकल में रिधम ने 97.8 फीसद अंक प्राप्त किए हैं। चेयरमैन योगेंद्र राणा, प्रिसिपल मोहन सिंह ने बताया कि उनके विद्यालय के 25 विद्यार्थियों ने 95 फीसद से ऊपर अंक प्राप्त किए हैं। 43 विद्यार्थियों ने 90 फीसद से अधिक, 83 विद्यार्थियों ने 80 फीसद, 139 विद्यार्थियों ने 70 फीसद अंक प्राप्त कर अपने माता पिता व विद्यालय का नाम गौरान्वित किया है।

आर्ट संकाय में अनन्या अव्वल

आर्ट संकाय में करनाल की छात्रा अनन्या वनर्जी ने 98 फीसद से अधिक अंक प्राप्त कर टाप फोर में स्थान बनाया। अनन्या ने साइकोलाजी में 100 में से 100 अंक प्राप्त किए। सभी विषयों में 95 फीसद से अधिक थे। अनन्या वनर्जी करनाल के शिक्षक मिहिर वनर्जी की बेटी हैं। अनन्या वनर्जी ने बताया कि वह कुशल मनोवैज्ञानिक बनना चाहती हैं। बचपन से ही समाज और पर्यावरण से जुड़े मुद्दों पर लड़ने वाली अनपन्या बनर्जी की बड़ी बहन ने भी सीबीएसई में 12वीं में टाप पांच में स्थान बनाया था। अनन्या गांव दरड़ में स्ट्रीट चिल्ड्रन को पढ़ा रही हैं। अनन्या ने बताया कि जो मानक उसकी बड़ी बहन ने तय किए थे। वह साइकोलाजी के क्षेत्र में काम करना चाहती हैं। शिक्षक मिहिर वनर्जी तथा उनकी पत्नी गगन बनर्जी ने कहा कि उन्हें अपनी बेटियों पर गर्व हैं। उन्होंने कहा कि अनन्या के जन्म पर ही उन्होंने लोहड़ी बेटी के नाम मनाई थी। वह देश में पहली लोहड़ी बेटी के नाम थी। मनोविज्ञान शिक्षक देविद्र मोहन सिंह ने कहा कि बेटियां निश्चित ही समाज का नजरिया बदलेंगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.