सच होगा करनाल को सुंदर, स्वच्छ और स्मार्ट शहर बनाने का सपना

सच होगा करनाल को सुंदर, स्वच्छ और स्मार्ट शहर बनाने का सपना

कर्ण नगरी को सही मायने में स्मार्ट सिटी की रंगत में ढालने की कवायद तेज हो गई है। शहर के सुंदरीकरण को लेकर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत प्रशासनिक स्तर पर तमाम कदम उठाए जा रहे हैं। इस दौरान कई अहम परियोजनाओं को अमली जामा पहनाया जाएगा।

JagranThu, 25 Feb 2021 06:29 AM (IST)

जागरण संवाददाता, करनाल: कर्ण नगरी को सही मायने में स्मार्ट सिटी की रंगत में ढालने की कवायद तेज हो गई है। शहर के सुंदरीकरण को लेकर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत प्रशासनिक स्तर पर तमाम कदम उठाए जा रहे हैं। इस दौरान कई अहम परियोजनाओं को अमली जामा पहनाया जाएगा। स्मार्ट सड़क का दायरा बढ़ाने के साथ ही शहर को यातायात जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए सभी चौक-चौराहों पर जल्द ही ट्रैफिक लाइट और अत्याधुनिक कैमरे लगाए जाएंगे। आइए, सिलसिलेवार ढंग से इन प्रयासों का जायजा लेते हैं।

----------------------------

नियम तोड़ते ही आटोमैटिक चालान

शहर की सबसे प्रमुख समस्याओं में यहां नियमित रूप से लगने वाला ट्रैफिक जाम भी है। इसे देखते हुए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत सेक्टर-12 स्थित एमसी भवन में इंटिग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर स्थापित किया जा रहा है। इसके जरिए एक ही स्थान से पूरे शहर में यातायात नियमों की पालना और उल्लंघन पर बेहद बारीकी से नजर रखी जा सकेगी। सेंटर से जोड़ने के लिए सभी प्रमुख चौक-चौराहों पर ट्रैफिक लाइट और अत्याधुनिक कैमरे लगाए जा रहे हैं। इनके जरिए ट्रैफिक नियंत्रित कराया जाएगा। सड़क सुरक्षा के नियमों का उल्लंधन करने पर ऑटोमैटिक चालान होंगे। यदि कहीं संदिग्ध वस्तु रखी होगी तो उसे भी कैमरे कैप्चर करके कंट्रोल रूम में अलर्ट भेजेंगे।

----------------------------

पार्किंग शुल्क में ई-रिक्शा की सुविधा

शहर में सुचारू यातायात व्यवस्था कायम करने के लिए पार्किंग जोन में नई-नवेली व्यवस्था लागू की जा रही है। इसके तहत चिन्हित क्षेत्रों में जो पार्किंग बनाई जा रही है, उसमें ठेकेदार की ओर से लिए जाने वाले जायज पार्किंग शुल्क में ई-रिक्शा की सुविधा देने को भी शामिल किया गया है। इसके तहत ग्राहक अपनी पार्किंग स्थलों पर अपनी गाड़ी खड़ी करके ई-रिक्शा से फ्री में बाजार में आ-जा सकेंगे।

----------------------------

25 हजार स्मार्ट लाइट से चौतरफा जगमग

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के बूते शहर में चारों तरफ जगमग करने की भी तैयारी है। इसके लिए सभी प्रमुख क्षेत्रों में 25 हजार स्मार्ट लाइट लगाई जाएंगी। ये सभी लाइट इंटिग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से जुड़ी रहेंगी। ऐसे में यदि कहीं भी लाइट खराब होगी तो इसकी सूचना तत्काल कंट्रोल सेंटर पहुंच जाएगी। इसके बाद रिकवरी टीम कुछ ही देर में तकनीकी समस्या दूर कर देगी।

----------------------------

शहर की खूबसूरती में लगेंगे चार चांद

यातायात और प्रकाश व्यवस्था से जुड़ी समस्याएं दूर करने के साथ ही शहर की सुंदरता में चार चांद लगाने की भी खास तैयारी की गई है। इसके तहत शहर के समीप पश्चिमी यमुना कैनाल के एक किनारे पर बेहद आकर्षक पिकनिक स्पॉट बनेगा। इसका लुक साबरमती नदी सरीखा होगा। इसी तरह नेशनल हाईवे स्थित कर्ण लेक को पर्यटन हब के रूप में विकसित करने के लिए भी बहुआयामी योजना तैयार की गई है। इसके अलावा हाईवे स्थित झिलमिल ढाबे से लेकर नमस्ते चौक तक बने आठ फ्लाईओवर के नीचे सौंदयीकरण का कार्य किया जाएगा। स्मार्ट सड़क का दायरा भी बढ़ेगा।

----------------------------

पार्कों की बदलेगी सूरत

कोरोना काल के बाद मौजूदा दौर की आवश्यकताओं का ध्यान रखते हुए पार्कों को भी विकसित किया जाएगा। इसके तहत फिटनेस के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए शहर के करीब 80 पार्कों में ओपन एयर जिम बनाए जाएंगे। नेशनल हाईवे से सटे शहर के सबसे विशाल अटल पार्क की सुंदरता बढ़ाने के लिए दो लाख रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। इसी तरह गीता द्वार से महर्षि वाल्मीकि चौक तक का मार्ग कल्चरल कॉरिडोर के रूप में विकसित किया जाएगा। इसमें चर्च टावर, पुरानी कचहरी और विक्टोरिया मेमोरियल हॉल का सौंदर्यीकरण किया जाएगा।

----------------------------

सबके सहयोग से बदलेगी तस्वीर

करनाल को स्वच्छ, सुंदर व सही मायने में स्मार्ट शहर बनाने के लिए सभी को मिलजुलकर कार्य करना होगा। इस सपने को साकार रूप देने में व्यापारियों, उद्यमियों सहित तमाम करनालवासियों से सहयोग मांगा गया है। इससे विकास कार्यों को पूरा करने तथा यातायात व अतिक्रमण से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में कारगर मदद मिलेगी।

--निशांत यादव, उपायुक्त, करनाल

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.