निर्जला एकादशी पर कई जगह लगी ठंडे मीठे पानी की छबील

गांव औंगद में ठंडे मीठे पानी की छबील लगाई गई। जिसका नेतृत्व पंडित दयाराम शर्मा ने किया। वहीं मार्गदर्शक बाबा उदयनाथ मंदिर प्रमुख महंत ओमनाथ रहे। छबील में सेवादारों ने दिनभर सड़क से गुजरने वाले राहगीरों को रोककर लोगों की प्यास बुझाई। ग्रामीण क्षेत्र में निर्जला एकादशी पर महिलाओं ने हाथ पंखा तरबूज आम व मीठा पानी पिलाया गया। महिलाओं व पुरुषों ने एकादशी का उपवास रखते हुए पूरा दिन जल व अन्य किसी भी वस्तु का सेवन तक नहीं किया। मुख्य बाजार में आन्नद वस्त भंडार मार्केट व बाबा गंगाराम मार्केट के सामने सहित कई अन्य स्थानों पर छबील लगाई गई।

JagranTue, 22 Jun 2021 07:05 AM (IST)
निर्जला एकादशी पर कई जगह लगी ठंडे मीठे पानी की छबील

संवाद सूत्र, निसिग : गांव औंगद में ठंडे मीठे पानी की छबील लगाई गई। जिसका नेतृत्व पंडित दयाराम शर्मा ने किया। वहीं मार्गदर्शक बाबा उदयनाथ मंदिर प्रमुख महंत ओमनाथ रहे। छबील में सेवादारों ने दिनभर सड़क से गुजरने वाले राहगीरों को रोककर लोगों की प्यास बुझाई। ग्रामीण क्षेत्र में निर्जला एकादशी पर महिलाओं ने हाथ पंखा, तरबूज, आम व मीठा पानी पिलाया गया। महिलाओं व पुरुषों ने एकादशी का उपवास रखते हुए पूरा दिन जल व अन्य किसी भी वस्तु का सेवन तक नहीं किया। मुख्य बाजार में आन्नद वस्त भंडार मार्केट व बाबा गंगाराम मार्केट के सामने सहित कई अन्य स्थानों पर छबील लगाई गई। छबील में रजनेश शर्मा, सोनू शर्मा, राजेश कुमार, चिनू जांगडा, संदीप, रिकू, प्रदीप, सुमेर, हरीश भार्गव ने सहयोग किया।

---------------

निर्जला एकादशी के अवसर पर मीठे पानी की छबील लगाई

संवाद सूत्र, नीलोखेड़ी : नगर की धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं ने मीठे पानी की छबील लगाई और शाम को प्रसाद बांटा गया। नीलनगर मार्केट, आर्य समाज रोड, रेलवे रोड इत्यादि जगहों पर छबील लगाकर राहगीरों को मीठे पानी से प्यास बुझाई। समाज सेवी अशोक पुलाना, दीपक सचदेवा, प्रेम सचदेवा व अजय शर्मा व पीयूष वधवा ने कहा कि हिदू धर्म में एकादशी व्रत को सभी व्रतों में श्रेष्ठ माना जाता है।

-----------

निर्जला एकादशी पर पानी पिलाने से मिलता है पुण्य : संदीप पसरीचा

संवाद सहयोगी, तरावड़ी : निर्जला एकादशी का पर्व श्रद्धा और सेवाभाव के साथ मनाया गया। विभिन्न संस्थाओं के साथ साथ युवाओं ने जगह-जगह मीठे पानी की छबील लगाई और प्रसाद वितरित किया। तरावड़ी के गुरुद्वारा रोड, करनाली गेट, मंडी गेट, रेलवे ओवरब्रिज समेत कई जगहों पर छबील लगाकर मीठा जल पिलाया गया। संदीप पसरीचा, सतीश ककड़ ने सेवा की। इसी तरह, नगरपालिका रोड पर पानी की छबील के साथ खीर व आलू का भंडारा लगाया गया। प्रियांशु गुप्ता व हार्दिक गुप्ता ने भी छबील में सेवा की।

---------------

फायर कर्मचारियों ने सर्विस रोड से गुजरने वाले लोगों को जल पिलाया फोटो 30

संवाद सहयोगी, घरौंडा : शहर के मुख्य चौक-चौराहों व बाजारों में निर्जला एकादशी पर मीठे पानी की छबील लगाई गई। समाजसेवियों, सामाजिक संस्थाओं के साथ-साथ सरकारी महकमे भी जल सेवा के लिए आगे आए। फायर ब्रिगेड कर्मचारियों ने आपसी सहयोग से मीठे पानी की छबील लगाई और वाहन को रोककर सवारियों को मीठा जल पिलाया। इसी तरह मेन बाजार, रेलवे रोड, भीष्म मार्ग, मंडी मनीराम, तकिया बाजार व सर्विस रोड पर जगह-जगह छबील लगाई गई।

---बॉक्स- सभी व्रतों में सबसे कठिन है निर्जला एकादशी का व्रत

वहीं देवी मंदिर के आचार्य मणिप्रसाद गोत्तम ने सोमवार सुबह श्रद्धालुओं को निर्जला एकादशी के महत्व से परिचित करवाया। उन्होंने बताया कि निर्जला एकादशी का हिदू धर्म में बहुत ही महत्व है। निर्जला एकादशी का व्रत सभी व्रतों में सबसे कठिन माना गया है। इस व्रत का आरंभ एकादशी की तिथि से होता है और द्वादशी की तिथि में पारण के उपरांत समाप्त होता है। एकादशी व्रत को सभी व्रतों में उत्तम बताया गया है। इस व्रत का वर्णन महाभारत काल में भी मिलता है। उन्होंने बताया कि ज्येष्ठ मास का यह प्रमुख व्रत है। इस व्रत को रखने से सभी प्रकार के पापों से मुक्ति मिलती है।

------------------

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.