मंडी में उठान पर घालमेल, नियमों के अनुरूप नहीं लिफ्टिग

मंडी में उठान पर घालमेल, नियमों के अनुरूप नहीं लिफ्टिग

जिला प्रशासन की चेतावनी के बावजूद अनाज मंडी में उठान व्यवस्था नियमों के अनुसार नहीं चल रही। मंडी आढ़तियों का आरोप है कि अधिकारियों और ट्रांसपोर्टर की सांठगांठ के कारण समय पर उठान नहीं हो रहा। ठेकेदार को जुर्माने से बचाने के लिए जानबूझकर पोर्टल पर खरीद का डाटा अपलोड करने में देरी की जाती है। मंडी में सिर्फ 50 वाहन लिफ्टिग में लगे हैं जबकि कागजों में 80 वाहन दिखाए जाते हैं। ट्रांसपोर्टर आंकड़े बढ़ाने के लिए एक ट्रक के नम्बर पर तीन-तीन गेट पास जारी कर देते हैं।

JagranMon, 19 Apr 2021 05:01 AM (IST)

संवाद सहयोगी, घरौंडा : जिला प्रशासन की चेतावनी के बावजूद अनाज मंडी में उठान व्यवस्था नियमों के अनुसार नहीं चल रही। मंडी आढ़तियों का आरोप है कि अधिकारियों और ट्रांसपोर्टर की सांठगांठ के कारण समय पर उठान नहीं हो रहा। ठेकेदार को जुर्माने से बचाने के लिए जानबूझकर पोर्टल पर खरीद का डाटा अपलोड करने में देरी की जाती है। मंडी में सिर्फ 50 वाहन लिफ्टिग में लगे हैं जबकि कागजों में 80 वाहन दिखाए जाते हैं। ट्रांसपोर्टर आंकड़े बढ़ाने के लिए एक ट्रक के नम्बर पर तीन-तीन गेट पास जारी कर देते हैं।

लिफ्टिग के महंगे टेंडर के बावजूद 48 घंटे में फसल उठान के सरकारी दावे फेल साबित हुए हैं।

मंडी में पूर्व प्रधान सोहन लाल गुप्ता ने बताया कि ट्रांसपोर्टर के पास वाहनों की कमी है। पर्याप्त संख्या में ट्रक नहीं होने के कारण निर्धारित समय में लिफ्टिग सम्भव नहीं है। ठेकेदार पर उठान में देरी का फाइन ना लगे, इसके लिए गेट पास व पोर्टल पर खरीद के इनवर्ड टाइम में गड़बड़ी की जाती है। सोहन लाल गुप्ता ने बताया कि फसल की तुलाई के उपरांत आढ़ती जे-फार्म जमा करवा देते हैं। ठेकेदार के इशारे पर स्टॉक को रेडी टू लिफ्ट करने में जानबूझकर देरी की जाती है। पोर्टल पर रेडी टू लिफ्ट होने के बाद कट्टों की लिफ्टिग 48 घंटे में किए जाने का नियम है। ऐसे में लिफ्टिग में हुई देरी पर ट्रांसपोर्ट ठेकेदार पर फाइन लगता है। ---बॉक्स-----

लिफ्टिग प्रोसेस में घालमेल

उठान आंकड़ों को दुरुस्त करने के लिए लिफ्टिग प्रोसेस में घालमेल किया जाता है। बीती 16 अप्रैल को रात 8 बजकर 45 मिनट पर ट्रक संख्या एचआर 55 एन 5257 का गेट पास काट दिया गया। गेट पास के मुताबिक, दुकान संख्या 128 से हैफेड के 650 कट्टों का उठान होना था। संबंधित आढ़ती ने बताया कि 17 अप्रैल की शाम तक उसके पास यह ट्रक नहीं पहुंचा। मंडी से मिली जानकारी के अनुसार, लिफ्टिग का आंकड़ा बढ़ाकर दिखाने के लिए एक ट्रक के एडवांस में कई-कई गेट पास काटे जाते हैं। ----बॉक्स----

क्या कहते हैं लिफ्टिग ठेकेदार

लिफ्टिग ठेकेदार रणबीर सिंह का कहना है कि मंडी में लिफ्टिग अच्छी चल रही है, हमने तय संख्या से अधिक गाडिय़ां मंडी से लिफ्टिग में लगा रखी है। 16 अप्रैल को डीएफएससी के 45 हजार व हेफेड के 58 हजार कट्टे उठाये गए है। किसी गाड़ी के एक से अधिक गेट पास गलती से कट गया होगा। पोर्टल पर गाड़ी का इनवर्ड कटने में भी दिक्कतें आ रही थी। एसडीएम डा. पूजा भारती ने बताया कि आढ़तियों की तरफ से बारदाना और लिफ्टिग की समस्या की शिकायत मिली है। 48 घंटे में लिफ्टिग होनी चाहिए, लिफ्टिग का जायजा लेने के लिए तहसीलदार घरौंडा की ड्यूटी लगाई गई है। यदि ट्रांसपोर्टर की तरफ से किसी तरह की कोताही बरती जा रही है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.